--Advertisement--

प्रोफेसरों ने मांगा सातवां वेतनमान

कॉलेज प्राध्यापकों को सातवां वेतनमान नहीं दिया जबकि प्रदेश के सभी कर्मचारी और अधिकारियों को वेतनमान दे दिया है।...

Dainik Bhaskar

Jul 06, 2018, 05:55 AM IST
प्रोफेसरों ने मांगा सातवां वेतनमान
कॉलेज प्राध्यापकों को सातवां वेतनमान नहीं दिया जबकि प्रदेश के सभी कर्मचारी और अधिकारियों को वेतनमान दे दिया है। हमारे साथ हमेशा भेदभाव होता है। जब भी वेतनमान बढ़ाने का समय आता है, हमें उसका लाभ पाने के लिए आंदोलन करना पड़ता है।

यह बात शासकीय महाविद्यालयीन शिक्षक संघ के सदस्यों ने गुरुवार को कही। सदस्यों ने बताया कि गुरुवार से प्रांतीय शासकीय महाविद्यालयीन प्राध्यापक संघ की अगुवाई में मप्र के उच्च शिक्षा विभाग के प्रोफेसरों ने सातवें यूजीसी वेतनमान लागू करने के लिए आंदोलन शुरू कर दिया है। कॉलेज के प्राध्यापकों, सहायक प्राध्यापकों को अब तक सातवें यूजीसी वेतनमान का लाभ नहीं मिला। जिसके लिए सभी ने आंदोलन शुरू कर दिया है। ज्ञापन एडीएम एचपी वर्मा को दिया। इस मौके पर संघ की अध्यक्ष डॉ मंजू जैन, सचिव डॉ अजयसिंह हजारी, डॉ डालचंद राजपूत, डॉ सुमन कटारिया, डॉ महेंद्र जैन, डॉ एनपी अरोरा, डॉ मलखानसिंह, डॉ केके कुंभारे, डॉ रेखा श्रीवास्तव, डॉ बृजेंद्रसिंह, डॉ सीमा चक्रवर्ती, डॉ संध्या जैन, डॉ दुर्गेश, डॉ उमा शर्मा, वसुंधरा गवांदे, नीता दीक्षित, किरण जैन आदि मौजूद रहीं।

X
प्रोफेसरों ने मांगा सातवां वेतनमान
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..