विदिशा

--Advertisement--

बार-बार आवेदन पर भी नहीं हो रहा है सीमांकन: आवेदक

इस मंगलवार को जिला पंचायत में हुई जन सुनवाई का नजारा कुछ अलग था। अक्सर गायब रहने वाले अधिकारी भी इस जनसुनवाई में...

Danik Bhaskar

Jun 27, 2018, 06:00 AM IST
इस मंगलवार को जिला पंचायत में हुई जन सुनवाई का नजारा कुछ अलग था। अक्सर गायब रहने वाले अधिकारी भी इस जनसुनवाई में हाजिर मिले। हर आवेदन पर बारीकी से सुनवाई खुद कलेक्टर ने की। जनसुनवाई में आने वाले आवेदकों के बैठने के लिए जहां कुर्सियां थीं, वहीं पीने के लिए आरओ का पानी भी रखा गया था।

नए कलेक्टर कौशलेंद्र विक्रम सिंह ने अपनी पहली ही जनसुनवाई में ये बदलाव किए हैं। कलेक्टर ने सीमांकन के ज्यादा प्रकरण आने पर राजस्व अमले की सुस्त कार्यप्रणाली पर नाराजगी जताई। कई आवेदकों ने बताया कि बार बार आवेदन देने के बावजूद सीमांकन की कार्रवाई नहीं हो रही है। इस पर कलेक्टर ने सभी राजस्व अधिकारियों को हिदायत के साथ समय सीमा में कार्रवाई के निर्देश दिए। इस जनसुनवाई में ज्यादातर मामले सीमांकन, पेंशन, आवास, आर्थिक सहायता, फसल बीमा से जुड़े आए थे। कलेक्टर ने हर आवेदक से उसकी समस्या सुनी। कलेक्टर ने जनसुनवाई में खास तौर पर सीमांकन और आवास से जुड़े प्रकरणों के निराकरण पर जोर दिया। जनसुनवाई में कुल 214 आवेदक अपनी समस्या लेकर पहुंचे थे, जिनमें से अधिकांश आवेदनों पर कलेक्टर ने मौके पर ही निराकरण की कार्रवाई की।

Click to listen..