Hindi News »Madhya Pradesh »Vidisha» स्वास्थ्य केंद्र में एक ही डॉक्टर, जबकि वार्डबॉय, ड्रेसर एएनएम और महिला सुपरवाइजर के पद हैं खाली

स्वास्थ्य केंद्र में एक ही डॉक्टर, जबकि वार्डबॉय, ड्रेसर एएनएम और महिला सुपरवाइजर के पद हैं खाली

प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में डॉक्टर और स्टाप की कमी के कारण मरीजों को समय पर उपचार नहीं मिल पाता है। इस कारण...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jul 05, 2018, 06:00 AM IST

प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में डॉक्टर और स्टाप की कमी के कारण मरीजों को समय पर उपचार नहीं मिल पाता है। इस कारण मरीजों को अपना उपचार झोलाछाप डॉक्टरों से कराना पड़ता है।

स्वास्थ्य केंद्र में मात्र एक ही डॉक्टर की पोस्टिंग है। यदि उन्हें भी कहीं बैठक में जाना पड़ जाए तो अस्पताल में एक भी डॉक्टर नहीं रहता है। इसके अलावा स्वास्थ्य केंद्र में वार्डबॉय, ड्रेसर, एएनएम, महिला सुपरवाइजर के पद भी खाली पड़े हुए हैं। स्वास्थ्य केंद्र में जननी एक्सप्रेस और 108 वाहन की सुविधा भी नहीं है। किसी का अचानक स्वास्थ्य खराब होने पर 108 वाहन या जननी एक्सप्रेस ग्यारसपुर या विदिशा से मंगानी पड़ती है लेकिन कई बार ऐसा भी हो जाता है प्रसूता या गंभीर मरीज की वाहन के इंतजार में जान तक चली जाती है। इसके अलावा अस्पताल में पैथोलॉजी की सुविधा है लेकिन मरीजों को इसका लाभ नहीं मिल पा रहा है।

84 गांव के मरीज हैं स्वास्थ्य केंद्र पर निर्भर

इस स्वास्थ्य केंद्र के अंतर्गत करीब 84 गांव आते हैं। अस्पताल में स्टाफ की कमी के कारण इन गांवों से आए मरीजों को उपचार नहीं मिल पाता है। स्वास्थ्य केंद्र में रोजाना 80 मरीज अपना उपचार कराने अस्पताल आते हैं। मरीजों को अस्पताल की गैलरी में ड्रिप लगाई जाती है। क्योंकि अस्पताल के कमरे को स्टोर रूम बना दिया गया है। स्वास्थ्य केंद्र में गर्भवती महिलाओं के लिए एक ही डॉक्टर है। यदि वह डॉक्टर पर स्वास्थ्य विभाग की बैठक में चली जाएं तो ऐसे में अस्पताल में एक भी डॉक्टर नहीं रहता है। ऐसी स्थिति में प्रसूता महिलाओं को ग्यारसपुर या विदिशा जाना पड़ता है।

इस संबंध में प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के मेडीकल ऑफिसर एएन अहिरवार का कहना है कि स्वास्थ्य केंद्र में ड्रेसर, वार्डबॉय, एएनएम, महिला सुपरवाइजर सहित कई पद खाली पड़े हैं। इसके अलावा एक नर्स है वह भी आज बैठक में गई हुई हैं। इस कारण मरीजों के उपचार में परेशानी आती है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Vidisha

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×