• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Vidisha News
  • 5 घंटे में 5 सेमी बारिश, स्कूल परिसर से कंधे पर बिठाकर बच्चों को लाए परिजन, बीटीआई के क्वार्टरों में भी भरा पानी
--Advertisement--

5 घंटे में 5 सेमी बारिश, स्कूल परिसर से कंधे पर बिठाकर बच्चों को लाए परिजन, बीटीआई के क्वार्टरों में भी भरा पानी

विदिशा शहर में शुक्रवार की सुबह 7 बजे से जोरदार बारिश देखने को मिली, जो कि दोपहर 12 बजे तक जारी रही। 5 घंटे में 5 सेमी से...

Danik Bhaskar | Jul 14, 2018, 06:00 AM IST
विदिशा शहर में शुक्रवार की सुबह 7 बजे से जोरदार बारिश देखने को मिली, जो कि दोपहर 12 बजे तक जारी रही। 5 घंटे में 5 सेमी से अधिक बारिश होने की वजह से लोग अपने घरों से बाहर नहीं निकल पाए। सड़कों पर नालों के उफान से जहां आवागमन बाधित हुआ, वहीं बेतवा नदी में उफान आने से चरणतीर्थ के दोनों रपटे डूब गए थे। इससे चरणतीर्थ मंदिर तक पहुंचने का मार्ग बंद हो गया था। दूसरी तरफ शहर की निचली बस्तियों में पानी भरने से लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ा।

इस सीजन में पहली बार बेतवा नदी उफान पर आई है। इससे नदी के घाट पर स्थित कई मंदिर भी जलमग्न हो गए। अधिकतम तापमान जहां 1.5 डिग्री गिरकर 26.5 डिग्री पर आ गया था, वहीं न्यूनतम तापमान 22 डिग्री पर ही बना रहा। शहर के कई इलाकों में घरो में तक बारिश का पानी भर गया था। बीटीआई के क्वार्टरों में पानी भरने से लोगों को काफी परेशानी हुई।

अधिकतम तापमान 1.5 डिग्री गिरकर 26.5 पर आया, वहीं न्यूनतम तापमान 22 डिग्री पर ही बना रहा

स्कूल बने तालाब, घुटने से ऊपर पानी में से निकले बच्चे

इस बारिश से शहर के कई स्कूल तालाब जैसी शक्ल में नजर आए। इन स्कूलों में शहर का नामी केंद्रीय विद्यालय भी शामिल है। इसके अलावा कलेक्टोरेट के पास माधवगंज क्रमांक-2 व टैगोर शाला व रायपुरा स्कूल में भी काफी पानी भर गया था। इन स्कूलों के परिसर में दो से तीन फीट पानी भरने से बच्चों को आने जाने में परेशानी हुई ही, वहीं शिक्षकों को भी काफी समस्या का सामना करना पड़ा। पानी निकासी के इंतजाम नहीं होने से पानी भराव की समस्या बनी। स्कूल के बच्चे घुटने-घुटने पानी के बीच से स्कूल में प्रवेश करते और बाहर निकलते हुए नजर आए। इतना ही नहीं ऑटो चालक छोटे बच्चों को कंधे पर लटकाकर स्कूल से बाहर निकालते दिखे।

लगातार बारिश के कारण केंद्रीय विद्यालय परिसर में पानी भरा होने के कारण बच्चे और परिजन हो रहे परेशान कुछ इस तरह लाया गया बच्चों को। इनसेट: परिसर में भरे पानी में स्कूल से आते बच्चे।

हलाली बांध को जलस्तर पहुंचा 454.45 मीटर

शुक्रवार की सुबह हलाली बांध का जलस्तर 454.45 मीटर पर पहुंच गया था, जो कि 30 जून को 453.46 मीटर पर आ गया था। जल स्तर की फीट में बात करें तो शुक्रवार रात में हलाली बांध का वाटर लेवल करीब 1491 फीट पर पहुंच गया था, जबकि बांध की कुल भराव क्षमता 1508 फीट है। हालांकि हलाली बांध को पूरी तरह भरने में अभी 17 फीट पानी की दरकार है। हलाली के कैचमेंट एरिया में अब 28 सेमी बारिश हो चुकी है।

स्थिति...जिले में एक जून से अब तक कहां कितनी हुई बारिश

तहसील अब तक पिछले वर्ष

विदिशा 35.5 26.4

बासौदा 22.4 20.5

कुरवाई 20.3 35.3

सिरोंज 18 21

लटेरी 22.1 16.7

ग्यारसपुर 30.2 18.3

गुलाबगंज 26.2 31.3

नटेरन 26.7 33.3

कुल 25.2 25.3

(बारिश सेमी में है एवं 24 घंटे की बारिश रविवार की सुबह 8 बजे तक की है)