शिष्य का पुनर्जन्म केवल गुरु के ही सानिध्य में होता है: महंत हरिहर दास

Vidisha News - गंजबासौदा|सेंट एसआरएस पब्लिक हायर सैकण्डरी स्कूल के एनएसएस शिविर के समापन अवसर पर मातृ-पितृ दिवस के रूप में...

Feb 15, 2020, 07:21 AM IST
Ganjbasoda News - mp news a disciple is reborn only in the guru mahant harihar das

गंजबासौदा|सेंट एसआरएस पब्लिक हायर सैकण्डरी स्कूल के एनएसएस शिविर के समापन अवसर पर मातृ-पितृ दिवस के रूप में वेलेंटाइन-डे मनाया गया। कार्यक्रम में मौजूद वेदांत आश्रम महंत हरिहर दास महाराज ने कहा कि गुरु के सानिध्य में ही शिष्य का पुनर्जन्म होता है।

गुरु चाहे तो अपने शिष्य को जीवन के उच्च शिखर तक पहुंचा सकता है, वह चाहे तो शिष्य को अध्यात्म की बुलंदियों तक ला सकता है। इसलिए प्रत्येक शिष्य के लिए गुरु ही परमात्मा स्वरूप होता है। इसलिए मातृ-पितृ और गुरु परम उपलब्धियां होती है। इसी के साथ शिवाजी के गुरू स्वामी रामतीर्थ की कथा के माध्यम से गुरु शिष्य का महत्व बताया। कार्यक्रम के दौरान विद्यार्थियों ने अपने माता पिता का पुष्प हार से स्वागत कर चरण वंदना की उसके बाद गुरुजनों से आशीर्वाद लिया।

एनएसएस शिविर समापन पर श्रेष्ठ स्वयंसेवकों रितुल विश्वकर्मा को शिविर नायक, शुभम वैश्य एवं सौरभ अहिरवार को सर्वश्रेष्ठ स्वयंसेवक, अंकित रघुवंशी, लेखराज कुशवाह को श्रेष्ठ स्वयंसेवक चुना गया। संस्था संचालक केएस यादव, प्राचार्य उमेश चंद्र यादव, शिविर प्रभारी राजेश कुमार,दिनकर कद्रे, प्रकाश महेश्वरी, रामगोपाल गुप्ता, सुमन श्रीवास्तव सहित काफी संख्या में विद्यार्थी मौजूद थे।

X
Ganjbasoda News - mp news a disciple is reborn only in the guru mahant harihar das
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना