बजट की मंजूरी: बाढ़ से नुकसान पर प्रभावितों में बंटेगा 935.48 करोड़ रुपए का मुआवजा

Vidisha News - जिले के बाढ़ पीड़ितों के लिए अच्छी खबर है। शासन ने बाढ़ पीड़ितों में मुआवजा बांटने के लिए 935.48 करोड़ रुपए के बजट की मंजूरी...

Oct 12, 2019, 09:40 AM IST
Vidisha News - mp news budget approval compensation of rs 93548 crore will be distributed among the affected people due to flood damage
जिले के बाढ़ पीड़ितों के लिए अच्छी खबर है। शासन ने बाढ़ पीड़ितों में मुआवजा बांटने के लिए 935.48 करोड़ रुपए के बजट की मंजूरी मिल गई है। खरीफ फसलों के सर्वे का काम पूरा होते ही मुआवजा वितरण का काम शुरू कर दिया जाएगा। अभी जिले में 70 फीसदी फसलों के सर्वे का काम पूरा हो चुका है। अभी भी 30 फीसदी सर्वे का काम बाकी है। शत प्रतिशत सर्वे का काम पूरा होते ही जिला प्रशासन मुआवजा वितरण का काम शुरू कर देगा।

इस संबंध में कलेक्टर कौशलेंद्र विक्रम सिंह ने बताया कि बाढ़ से हुए नुकसान का मुआवजा बांटने के लिए शासन से बजट की मंजूरी मिल गई है। अभी 10 अक्टूबर से तहसीलदारों और नायब तहसीलदारों की 4 दिवसीय हड़ताल शुरू हो गई है। 13 अक्टूबर को हड़ताल खत्म होगी। इस हड़ताल से काम प्रभावित हो रहा है। हड़ताल समाप्त होते ही सर्वे के काम में तेजी आएगी। आने वाले 7 दिनों में सर्वे का काम पूरा कर लिया जाएगा।

30 फीसदी बचा सर्वे का काम 13 अक्टूबर के बाद 7 दिन में हो जाएगा पूरा

कलेक्टर ने सर्वे दल को सौंपी थी रिपोर्ट

जिले में बाढ़ से हुए नुकसान की फाइनल रिपोर्ट कलेक्टर कौशलेंद्र विक्रम सिंह ने केंद्र सरकार को 27 सितंबर को भेज दी थी। इसमें अब तक कुल 935.48 करोड़ रुपए का नुकसान बताते हुए मुआवजा राशि देने की मांग की गई थी। इससे पहले 19 सितंबर को केंद्रीय दल में शामिल डिपार्टमेंट आफ एग्रीकल्चर को आपरेशन एंड फारमर्स वेलफेयर के निदेशक डा.एके तिवारी और मिनिस्ट्री आफ वाटर रिसोर्स के निदेशक मनोज पौनिकर ने विदिशा, गुलाबगंज और गंजबासौदा पहुंचकर बाढ़ से नुकसान का जायजा लिया था। इसमें भी कलेक्टर कौशलेंद्र विक्रम सिंह ने प्राथमिक आकलन के आधार पर केंद्रीय दल को कुल 935.48 करोड़ रुपए के नुकसान की रिपोर्ट दल को सौंपी थी।

950 करोड़ का हाईवे क्षतिग्रस्त, एस्टीमेट बनाकर विभाग को भेजा है

सर्वे के लिए आए केंद्रीय दल के अधिकारियों ने लोनिवि के ईई योगेंद्रकुमार सिंह से हाइवे के नुकसान के बारे में पूछा तो उन्होंने बताया कि बारिश से 950 करोड़ रुपए का नुकसान हुआ है। इसका एस्टीमेट बनाकर विभाग को भेज दिया है।

बाढ़ से अब तक 30 लोगों की हो चुकी है मौत

जिले में अतिवृष्टि और बाढ़ से अलग-अलग हादसों में अब तक करीब 30 लोगों की मौत हो चुकी है। 149 पशु हानि हुई है। इसके अलावा 11876 मकान धराशायी हो गए हैं। 186772 हेक्टेयर में खरीफ फसल को नुकसान हुआ है। 555.59 किमी लंबी नगरीय और ग्रामीण सड़कें खराब हुई हैं। 672 विद्यालय, पंचायत और सामुदायिक भवनों को नुकसान हुआ है। 87 हैंडपंप खराब हो गए हैं। इसके अलावा 1137 बिजली पोल, ट्रांसफार्मर और कंडक्टर खराब हुए हैं। इस प्रकार कुल 935.48 करोड़ का नुकसान बाढ़ से हुआ है।

बाढ़ से सड़क, मकान और सोयाबीन, उड़द की फसलों को हुआ था नुकसान

नपा की 26354 मीटर लंबी 30 सड़कें बर्बाद: नगरपालिका के एई अनिल पिप्पल ने बताया कि इस बारिश में नगरपालिका इलाके की 26354 वर्ग मीटर लंबी 30 सड़कें बारिश में बर्बाद हो गई हैं। इससे इससे 175 लाख रुपए का नुकसान हुआ है।

विदिशा में 1400 कच्चे मकान धराशायी: जनपद अध्यक्ष पति रंधीर सिंह ठाकुर ने दल को बताया कि विदिशा जनपद इलाके में ही 1400 से अधिक कच्चे मकान धराशायी हो गए हैं। सबसे अधिक डाबर और मिर्जापुर गांव प्रभावित हैं। विदिशा शहर में 8 हजार मकानों में पानी भरने से गृहस्थी का सारा सामान नष्ट हो गया है।

सोयाबीन और उड़द सौ फीसदी चौपट: अपने प्रजेंटेशन में एडीएम वृंदावन सिंह ने केंद्रीय दल को बताया कि बाढ़ से जिले में सोयाबीन और उड़द की फसल 80 से 100 फीसदी तक नष्ट हो चुकी है। 1.95 लाख हेक्टेयर में सोयाबीन बर्बाद हो चुकी है।

X
Vidisha News - mp news budget approval compensation of rs 93548 crore will be distributed among the affected people due to flood damage
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना