4 दिन छोड़कर मिल रहा पानी, 700 से अधिक जल स्रोतों में से 70%का ही पानी पीने योग्य

Vidisha News - गर्मी के कारण पठारी तथा आस पास के क्षेत्रों में जल संकट की समस्या बढ़ती जा रही है। जलापूर्ति पर्याप्त मात्रा में...

Bhaskar News Network

Apr 17, 2019, 08:40 AM IST
Pathari News - mp news drink water leaving 4 days 70 of more than 700 water sources can be consumed
गर्मी के कारण पठारी तथा आस पास के क्षेत्रों में जल संकट की समस्या बढ़ती जा रही है। जलापूर्ति पर्याप्त मात्रा में नहीं होने के कारण रहवासियों को इधर-उधर पानी के लिए भटकना पड़ रहा है। यहां के अधिकांश हैंडपंपों का जलस्तर गर्मी के कारण कम हो गया है। साथ ही स्थित तालाब, मोतिया कुआं, बेला कुआं, करेली स्थित बावड़ी एवं हैंडपंप अनुपयोगी साबित हो रहे हैं। गर्मी पड़ने के कारण पानी का संकट विकराल रुप लेता जा रहा है। पठारी में चार दिन छोड़कर एक दिन बमुश्किल पेयजल सप्लाई की जा रही है।

इस वजह से यहां के नागरिकों को अपने प्यासे कंठ बुझाने के लिए काफी जद्दोजहद करना पड़ रही है। इसके अलावा ग्राम पंचायत के पास पेयजल परिवहन के लिए राशि नहीं होने की वजह से पानी के टैंकरों की सप्लाई भी नहीं हो पा रही है। ग्राम पंचायत द्वारा पेयजल व्यवस्था को सुचारू चलाने के लिए काफी प्रयास किए जा रहे हैं लेकिन पीएचई विभाग की उदासीनता के चलते ग्राम पंचायत की व्यवस्थाएं पटरी से उतरती जा रही हैं। पीएचई विभाग द्वारा न तो नए नलकूपों का उत्खनन किया जा रहा है और न ही अतिरिक्त मोटरों की व्यवस्था की जा रही।

यदि मोटर जल जाती है तो उसे ठीक होने में तीन दिन का समय लग जाता है। तब पेयजल की स्थिति और भी गंभीर हो जाती है यदि विभाग एक और मोटर की अतिरिक्त व्यवस्था कर दे तो मोटर की समस्या की परेशानी नहीं आएगी। तहसील अंतर्गत भाल बामौरा, हासमपुर, बाबई कलां, जारौली, मथरापुर, रामगढ़, बिसलोनी, गमीरिया, चौपड़ा, सिमरघान, बन्द्रावठा, सूजा आदि गांवों सहित लगभग तीन दर्जन से अधिक गांवों के अधिकांश जल स्रोतों ने पानी देना बंद कर दिया है।

तहसील में 700 से अधिक जल स्रोतों में 70 फीसदी जल स्त्रोत पेयजल के योग्य हैं। जिनमें से महज 20 फीसदी जल स्त्रोत ही पानी दे रहे हैं। 10 फीसदी जल स्रोतों के सूख चुके हैं। जो जल स्त्रोत जल की आपूर्ति कर रहे हैं उन पर लोगों की लम्बी कतारें लग रही हैं। घंटों इंतजार के बाद लोगों को पानी भरने के लिए उपलब्ध हो पा रहा है। पुरुष, महिलाएं, बच्चों सब पानी ढोने में लगे हुए हैं। लोग रात-रात भर पैदल, साइकिलों, मोटर सायकलों से पानी ढोकर ला रहे हैं। समस्या यह भी है कि जल स्रोतों में जो हैंडपंप पानी दे रहे हैं। वो भी रह-रहकर ही पानी दे पा रहे हैं। हैंडपंपों पर क्षमता से ज्यादा लोगों के जमावड़े के कारण हैंडपंपों का पानी नीचे उतर जाता है। पानी आने तक लोगों को घंटों इंतजार करना पड़ रहा है। तहसील मुख्यालय होने के बाद भी पीएचई विभाग के अधिकारियों द्वारा एक बार भी ग्रामीण क्षेत्रों में मौके पर पहुंचकर समस्या के हल के लिए प्रयास नहीं किया गया।

स्थिति का लिया है जायजा


X
Pathari News - mp news drink water leaving 4 days 70 of more than 700 water sources can be consumed
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना