व्यापारी संघ ने मंडी सचिव को फिर थमाया पत्र आज नीलामी एक घंटे देरी से करने की घोषणा

Vidisha News - भास्कर संवाददाता| गंजबासौदा अनाज एवं तिलहन व्यापारी संघ ने कृषि उपज मंडी समिति नीलामी के दौरान होने वाली...

Dec 04, 2019, 11:02 AM IST
Vidisha News - mp news merchants association again handed over the letter to the market secretary announcing the auction for an hour late
भास्कर संवाददाता| गंजबासौदा

अनाज एवं तिलहन व्यापारी संघ ने कृषि उपज मंडी समिति नीलामी के दौरान होने वाली अव्यवस्थाओं से परेशान होकर 4 दिसंबर को पहली नीलामी 1 घंटे देर अर्थात सुबह 11 से प्रारंभ करने की घोषणा की है। यदि इसके बाद भी मंडी प्रशासन ने अव्यवस्थाओं पर कदम नहीं उठाया तो 9 दिसंबर से व्यापारी नीलामी में भाग लेने पर विचार कर सकते हैं।

व्यापारी संघ द्वारा अव्यवस्थाओं को लेकर पूर्व में भी सचिव को पत्र लिखे जा चुके हैं। इन पत्रों के बाद व्यवस्था में सुधार का आश्वासन दिया था। भारसाधक एसडीएम ने भी सचिव को व्यवस्थाएं चाक चौबंद करने के निर्देश दिए थे। लेकिन इसके बाद भी हालात में सुधार ना होने के कारण गुस्साए व्यापारियों ने संघ के माध्यम से बुधवार को फिर से मंडी समिति सचिव को पत्र भेजा है।

नीलामी प्रांगण से लेकर तौल प्रांगण तक कचरे के ढेर लगा: नीलामी के दौरान आवारा जानवर समस्या बन रहे हैं। नीलामी प्रांगण से लेकर तौल प्रांगण तक कचरे के ढेर लगे हैं। जबकि मंडी प्रशासन ने भोपाल के एक ठेकेदार को करीब 34 हजार रुपए प्रति माह के हिसाब से सफाई का ठेका दिया है। लेकिन नियमित सफाई नहीं हो रही। ठेकेदार ने जिन सफाई कामगारों को अधिकृत किया। वह सफाई पर आते नहीं। इस बार दीपावली तक पर दोनों प्रांगणों में सफाई नहीं हुई थी। इसके अतिरिक्त नीलामी के बाद किसानों को जो अन्य अनुबंध पर्ची दी जाती है, उनमें गलतियां आ रही हैं, नीलामी के काफी बाद यह पर्चियां किसानों को दी जा रही हैं। इससे किसान और व्यापारी के बीच विवाद के हालात बनते हैं।

व्यवस्थाएं जूनियर कर्मचारियों पर निर्भर: सबसे बड़ा कारण यह है कि वर्तमान में मंडी में पदस्थ 70 फीसदी कर्मचारी अप डाउन करते हैं। जिम्मेदार अधिकारी भोपाल और विदिशा में शासकीय कार्य दर्शाकर या अवकाश पर सप्ताह में आधे दिन मुख्यालय पर नहीं रहते। इसके कारण व्यवस्थाएं जूनियर कर्मचारियों पर रहती हैं। यह कर्मचारी पूर्णता निर्णय नहीं ले पाते। इससे व्यवस्थाएं लगातार प्रभावित हो रही हैं। जब जिम्मेदार कर्मचारी ही अप डाउन करते हों, वह अपने अधीनस्थ कर्मचारियों पर मुख्यालय पर रहने का दबाव नहीं बना पाते।

अव्यवस्था... मंडी के 70 फीसदी कर्मचारी अप डाउन करते हैं, हफ्ते में 3 दिन गायब

मंडी में अव्यवस्थाओं को लेकर व्यापारी संघ ने दी चेतावनी।

नीलामी में भाग न लेने का कदम भी उठाया जा सकता है

अनाज एवं तिलहन व्यापारी संघ के अध्यक्ष शिवचरण रघुवंशी ने बताया अव्यवस्थाओं को लेकर यह सांकेतिक निर्णय है। यदि इस सांकेतिक कदम के बाद भी अव्यवस्थाओं में सुधार नहीं हुआ तो अगले हफ्ते सोमवार से नीलामी में भाग न लेने का कदम भी उठाया जा सकता है। इसलिए ऐसे हालात बनें, इससे पहले मंडी प्रशासन को व्यवस्था करना चाहिए।

पत्र देने के बाद भी कर्मचारियों की भर्ती नहीं की गई

नीलामी के दौरान तेज गति में बोली लगाने वाले पर्ची काटने वाले और पाठा करने वाले कर्मचारियों की जरूरत रहती है। लेकिन इन दिनों कर्मचारियों की कमी है। इसके कारण अव्यवस्था बनी हुई है पूर्व में भी संघ द्वारा कर्मचारियों की पर्याप्त संख्या रखने के लिए लिखित पत्र दिया जा चुका है। लेकिन अब तक उनकी भर्ती नहीं की गई। इसके चलते दिक्कत आ रही है।

छह महीने से वेतन नहीं

कृषि मंडी में कंप्यूटर आपरेटर कृष्णा सुरक्षा एजेंसी के माध्यम से कार्य कर रहे हैं। कंपनी ने छह महीने से उनको वेतन नहीं दिया। इसके चलते ऑपरेटरों ने काम बंद कर दिया। इससे मंडी में कंप्यूटर से संबंधित काम ठप हो गया। इसका असर मंडी के काम काज पर पड़ रहा है।

जल्द ही समस्याओं का निराकरण कर लिया जाएगा


X
Vidisha News - mp news merchants association again handed over the letter to the market secretary announcing the auction for an hour late
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना