• Hindi News
  • Rajya
  • Madhya Pradesh
  • Vidisha
  • Vidisha News mp news the murder was done with the intent of looting then to hide the identity was crushed by the stone now the two accused are given life imprisonment

लूट के इरादे से की थी हत्या, फिर पहचान छुपाने के लिए पत्थर से कुचल दिया था सिर, अब दोनोें आरोपियों को आजीवन कारावास

Vidisha News - 18 महीने पहले विदिशा से एक युवक को दोस्ती में झांसा देकर लूट के इरादे से सांची ले आया। यहां दो लोगों ने उसकी गला घोंट...

Bhaskar News Network

Jun 14, 2019, 09:40 AM IST
Vidisha News - mp news the murder was done with the intent of looting then to hide the identity was crushed by the stone now the two accused are given life imprisonment
18 महीने पहले विदिशा से एक युवक को दोस्ती में झांसा देकर लूट के इरादे से सांची ले आया। यहां दो लोगों ने उसकी गला घोंट कर हत्या कर दी थी। इतना ही नहीं पहचान छुपाने के उद्देश्य से पत्थर से सिर कुचलकर शव को झाड़ियों में छिपा दिया था। मृतक की पहचान विदिशा निवासी आशीष तिवारी के तौर पर हुई थी। इस घटना में गुरुवार को द्वितीय अपर सत्र न्यायाधीश रायसेन नीलम मिश्रा ने दोनों आरोपियों को आजीवन कारावास की सजा सुनाई।

सांची नगर में 23 दिसंबर 2017 को गुलगांव सूखा रोड पर जंगल की झाड़ियों में एक अज्ञात व्यक्ति का शव पड़ा होने की पुलिस को सूचना मिली थी। पुलिस ने शव का निरीक्षण किया और पहचान नहीं हो पाने के कारण अज्ञात व्यक्ति द्वारा अज्ञात मृतक पुरुष की हत्या कर, शव को झाड़ियों में फेंका जाना पाया गया था। घटना के संबंध में थाना सांची में मामला दर्ज किया गया था। घटना की सूचना मिलने के बाद एसपी रायसेन व वरिष्ठ वैज्ञानिक अधिकारी ने घटना स्थल का निरीक्षण कर जांच की और आवश्यक निर्देश दिए। घटना सनसनीखेज होने से चिन्हित अपराधों की श्रेणी में लाया गया।

अंडिया गांव से विदिशा आया था आशीष : जांच के दौरान मृतक की पहिचान विवेक उर्फ आशीष पुत्र ओमप्रकाश तिवारी (36 )वर्ष निवासी नाना का बाग विदिशा के रूप में हुई। जांच के दौरान अज्ञात आरोपियों की पतासाजी किए जाने पर पाया गया कि घटना दिनांक 20 दिसंबर 2017 को मृतक आशीष तिवारी अपने गांव अंडिया से विदिशा स्थित अपने निवास पर आया था, जो सुबह 9.30 बजे शराब पीने विदिशा स्थित ईदगाह कलारी पर गया था। वहीं उसकी पहचान आरोपी सनमान पाल से हो गई।

पहचान छुपाने पत्थरों से सिर कुचला : शव की पहचान छिपाने आसपास से बड़े पत्थर उठाकर आशीष का सिर कुचल दिया। इतना ही नहीं आशीष की बाइक लेकर दोनों घटना स्थल से चुपचाप चले गए । बाद में सनमान ने बाइक पास के जंगल में छुपा दी और 1 हजार रुपए शराब पीने में खर्च कर दिए। इस तरह से यह मामला लूट के इरादे से हत्या करने का पाया गया। आरोपी सनमान उर्फ गोलू पुत्र भगवान सिंह पाल (23) निवासी वार्ड 6 सांची व आकाश पुत्र तुलसीराम धानक (19) उचेर गांव को 12 फरवरी 2018 को गिरफ्तार कर न्यायिक अभिरक्षा में भेजा गया।

सनमान ने आशीष को भरोसे में लेकर लूटने की बनाई योजना

आशीष तिवारी के पास काफी पैसा होने का अनुमान होने पर सनमान ने उसे लूटने की योजना बनाई। इसके चलते वह आशीष को सांची में खाना खिलाने के बहाने खुद बाइक चलाकर सांची ले अाया। सांची से अपने साथी आकाश धानक को साथ लिया और स्थानीय स्थितियों से अनभिज्ञ आशीष तिवारी को गुलगांव रोड पर जंगल की तरफ ले गया। वहीं गाड़ी रोककर पैसे निकालने का प्रयास किया । आशीष ने इसका विरोध किया तो सनमान और आकाश ने पहले कांख में दबाकर, फिर गमछे से आशीष की गला घोंटकर हत्या कर दी। शव को जंगल के अंदर झाड़ियों में ले जाकर छिपा दिया। तलाशी ली तो आशीष के पास मात्र 1000 रुपए मिले, जो दोनों ने अपने पास रख लिए।

X
Vidisha News - mp news the murder was done with the intent of looting then to hide the identity was crushed by the stone now the two accused are given life imprisonment
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना