हाईवे बनाने के लिए बिना बताए तोड़ दी खेतों की तार फेंसिंग, प्रशासन ने भरपाई भी नहीं की

Vidisha News - सिरोंज-ब्यावरा नेशनल हाइवे का निर्माण जितनी तेज गति से चल रहा है, उतनी ही तेजी से इस मार्ग पर स्थित गांवों में रहने...

Bhaskar News Network

Jul 14, 2019, 09:30 AM IST
Sironj News - mp news to make the highway without breaking the tires the fields of wire fencing the administration did not even compensate
सिरोंज-ब्यावरा नेशनल हाइवे का निर्माण जितनी तेज गति से चल रहा है, उतनी ही तेजी से इस मार्ग पर स्थित गांवों में रहने वाले लोगों की परेशानी भी बढ़ती जा रही है। लटेरी रोड पर स्थित पाटन गांव के कई किसानों के खेतों की तारफेंसिंग सड़क निर्माण के पहले तोड़ दी गई है। किसानों ने मामले की शिकायत भी प्रशासन से की लेकिन कहीं सुनवाई नहीं हो रही।

सिरोंज-ब्यावरा नेशलन हाइवे का निर्माण कार्य इन दिनों तेज गति से किया जा रहा है। निर्माण एजेंसी बंसल कंस्ट्रक्शन कंपनी द्वारा अब इस सड़क के एक हिस्से पर डामरीकरण किया जा रहा है। बारिश के पहले एक हिस्से का डामरीकरण पूर्ण होने से इस मार्ग पर आवागमन आसान हो जाएगा। इधर जितनी तेजी से इस सड़क का निर्माण चल रहा है। उतनी ही तेजी से इस सड़क के किनारे रहने वाले लोगों और किनारे पर ही खेती करने वाले किसानों की समस्याएं भी बढ़ती जा रही हैं। यह समस्या सड़क निर्माण कार्य में उपयोग की जा रही उनकी जमीन को लेकर है। इसी तरह की समस्या इसी मार्ग पर स्थित पाटन गांव के लोगों ने भी प्रशासन को सुनाई है।

किसान बोले- निर्माण का विरोध नहीं, लेकिन नुकसान की भरपाई तो प्रशासन को करना चाहिए

सिरोंज- ब्यावरा नेशनल हाईवे पर स्थित गांव टोरी बागरोद और पाटन के बीच स्थित पुलिस का हो रहा निर्माण।

दो बार शिकायत करने पर भी कार्रवाई नहीं, हर्जाना कौन देगा

पाटन में रहने वाले चरण सिंह यादव, विनयसिंह यादव, हरिसिह यादव, पर्वतसिंह यादव और भैयालाल यादव ने बताया कि महीने भर पहले निर्माण एजेंसी ने बिना कोई सूचना दिए खेतों के किनारे लगी तार फेंसिंग को तोड़ दिया था। वहीं सड़क किनारे लगे कई पेड़ भी काट दिए थे। इस दौरान कुछ लोगों के मकान भी कंपनी ने क्षतिग्रस्त कर दिए हैं। इस संबंध में स्थानीय प्रशासन से दो बार शिकायत भी कर चुके हैं, लेकिन कहीं से कोई सुनवाई नहीं हो रही। चरण सिंह यादव ने बताया कि उसे करीब एक लाख रुपए का नुकसान हो गया है। कोई यह नहीं बता रहा कि इसका हर्जाना कौन देगा। वहीं अन्य ग्रामीणों का कहना है कि सड़क निर्माण का विरोध नहीं कर रहे लेकिन कम से कम नुकसान की भरपाई तो प्रशासन करे।

बन रही है 10 मीटर चौड़ी सड़क

सिरोंज-ब्यावरा के बीच वर्तमान में सात मीटर चौड़ी डामर की सड़क है। नेशनल हाइवे बनने के बाद यह सड़क अब 10 मीटर चौड़ी की जा ही है। ब्यावरा से मधुसूदनगढ़ के मध्य के हिस्से में सड़क का काफी काम हो चुका है। वहीं मधुसूदनगढ़ से सिरोंज के मध्य का निर्माण कार्य फिलहाल चल रहा है। सड़क के अधिकांश हिस्से पर सीसी करण किया जा रहा है। वहीं बलरामपुर से सिरोंज के मध्य के हिस्से पर डामरीकरण किया जा रहा है। वर्तमान में टोरी बागरोद से पाटन के मध्य स्थित बर्मा पुल का निर्माण भी चल रहा है। इस पुल के बनने के बाद हाइवे पर बारिश का पानी भरने की समस्या का भी स्थाई निदान हो जाएगा।

सड़क निर्माण के दायरे में आ रहे हैं कई गांव

सिरोंज से लटेरी के मध्य चल रहे सड़क निर्माण के दायरे में कई गांव आ रहे हैं। इनमें से अधिकांश गांवों में कंपनी द्वारा अभी तक काम शुरू नहीं किया गया है। कंपनी द्वारा गांव के आसपास के हिस्से पर निर्माण किया जा रहा है, लेकिन गांव में किसी भी प्रकार का काम नहीं किया जा रहा है। इस वजह से इन गांवों में रहने वाले लोग भी दहशत में हैं। टोरी बागरोद में रहने वाले विनोद बैरागी और राजेश साहू ने बताया कि जितनी तेजी से सड़क निर्माण का काम चल रहा है। उतनी तेजी से गांव में सड़क किनारे रहने वाले लोगों की टेंशन भी बड़ रही है। अभी तक हमसे कंपनी ने सम्पर्क नहीं किया है और न ही प्रशासन ने कोई नोटिस दिया है।

सरकारी नियमों के तहत मिलेगा मुआवजा


Sironj News - mp news to make the highway without breaking the tires the fields of wire fencing the administration did not even compensate
X
Sironj News - mp news to make the highway without breaking the tires the fields of wire fencing the administration did not even compensate
Sironj News - mp news to make the highway without breaking the tires the fields of wire fencing the administration did not even compensate
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना