• Hindi News
  • Mp
  • Vidisha
  • Sironj News mp news troubled by the administrative system if the family dies after being buried in a dilapidated house then the responsible administration will

प्रशासनिक तंत्र से परेशान हो गया हूं, यदि जर्जर मकान में दबकर परिवार मरता है तो जिम्मेदार प्रशासन होगा

Vidisha News - हमारा मकान तीन मंजिला है। मैं अपने परिवार के साथ दूसरी मंजिल पर रहता हूं। चाचा के कब्जे वाला तीसरी मंजिल का...

Feb 15, 2020, 09:31 AM IST
Sironj News - mp news troubled by the administrative system if the family dies after being buried in a dilapidated house then the responsible administration will

हमारा मकान तीन मंजिला है। मैं अपने परिवार के साथ दूसरी मंजिल पर रहता हूं। चाचा के कब्जे वाला तीसरी मंजिल का हिस्सा जर्जर हो गया है और कभी भी गिर सकता है। इस कारण हमें मौत के साए में दूसरी मंजिल रहना पड़ रहा है। ऊपरी हिस्से को तोड़ने के लिए मैं नपा, तहसील और थाना तीनों की स्थानों पर भटक रहा हूं, लेकिन कहीं सुनवाई नहीं हो रही। मेरा परिवार कभी भी इस जर्जर मकान में दब कर मर सकता है। यदि ऐसी कोई घटना होती है तो इसका पूरी जिम्मेदारी सिरोंज प्रशासन की होगी। यह बात नगर के कठाली बाजार में रहने वाले राजेश जैन शुक्रवार को नया बस स्टैंड स्थित स्वर्गीय बालकृष्ण विद्यार्थी पत्रकार भवन में अपनी पीढ़ा व्यक्त करते हुए पत्रकारों से यह बात कही।

उन्होंने कहा कि जिस मकान में हम रहते हैं। वह मेरे पिता सुरेन्द्र कुमार जैन के नाम है। मेरे पिता 2008 से ही गायब हैं। लगातार ढूंढ़ने के बाद भी वे नहीं मिल रहे। इसी का फायदा उठा कर भोपाल में रहने वाले मेरे चाचा ने चार साल पहले मकान के तीसरी मंजिल पर कब्जा कर लिया। देखरेख के अभाव में यह हिस्सा जर्जर हो गया है और कभी भी टूट कर दूसरी मंजिल पर आ सकता है। मेरा पांच सदस्यीय परिवार दूसरी मंजिल पर ही रहता है। इसका ऊपरी हिस्सा जर्जर होने की वजह से हमें मौत के साए में रहना पड़ रहा है। मैं एसडीएम कार्यालय, नपा कार्यालय और पुलिस प्रशासन से मकान का ऊपरी हिस्सा गिरवाने का तीन साल से अनुरोध कर रहा हूं लेकिन सुनवाई कहीं नहीं हो पा रही है। मेरा परिवार बेहद तनाव में हैं। कहीं सुनवाई नहीं हुई तो मीडिया के समक्ष आना पड़ा है। प्रशासनिक तंत्र से तंग आ गया हूं और यह कहना चाहता हूं कि यदि इस जर्जर मकान में मेरा परिवार दब कर मर जाता है तो इसका जिम्मेदार प्रशासन ही होगा। मकान की जर्जर स्थिति को देख कर आसपास रहने वाले लोग भी चिंतित हैं। इस वार्ड के पार्षद रिंकू यादव के अलावा गोपाल गली और कठाली बाजार में रहने वाले नागरिक पंचनामा बना कर प्रशासन से मकान की तीसरी मंजिल को गिराने का निवेदन कर चुके हैं।

मकान का ऊपरी हिस्सा गिरवाने तीन साल से एसडीएम, नपा कार्यालय और पुलिस प्रशासन से कर रहा शिकायत


एसडीएम बोले- मैं खुद उनका मकान देखने गया था और उनका सहयोग भी किया है

दैनिक भास्कर ने राजेश जैन द्वारा लगाए गए आरोपों के संबंध में एसडीएम संजय जैन से जानकारी ली। उन्होंने बताया कि बारिश के सीजन में राजेश जैन मेरे पास आए थे। उनकी समस्या को समझ कर मैं उनके घर पर गया था। उनके मकान का सबसे ऊपर का हिस्सा काफी जर्जर हो गया है। जिस पर उनके ही चाचा का कब्जा है। मकान में हिस्से को लेकर उनका पारिवारिक विवाद है। इसके बाद भी मैंने भोपाल से उनके चाचा को बुलाकर समझाइश भी दी थी और इसके बाद नपा को इस संबंध में निर्देशित भी किया था। इसके बाद उन्होंने मेरे से एक बार भी सम्पर्क नहीं किया। मुझे लगा उनकी समस्या का समाधान हो गया होगा। पत्रकार वार्ता के पहले कम से कम एक बार वो मेरे पास आकर अपनी समस्या तो रखते।

हम तो अाधिकारिक निर्देश का इंतजार कर रहे हैं: टीआई

टीआई शकुंतला बामनिया ने बताया कि मामले की जानकारी हमारे पास है, लेकिन हम खुद थोड़ी किसी का मकान तोड़ेंगे। नपा अथवा राजस्व अमला यदि कोई कार्रवाई करता है तो हमारा अमला वहां पर मौजूद रहेगा।

नपा एई महेश जैन बोले- मकान को लेकर बंटवारे का विवाद है

इस संबंध में नपा एई महेश जैन ने बताया कि राजेश जैन के मकान का विवाद भाइयों के बीच सम्पति को लेकर है। एसडीएम के निरीक्षण के बाद हमने तीन दिन के भीतर मकान के क्षतिग्रस्त हिस्से को तोड़ने के निर्देश दिए थे। अब ये जिम्मेदारी उनकी बनती है कि मकान के जर्जर हिस्से को तोड़ें। इसके लिए हम उनका सहयोग करने को तैयार हैं।

पत्रकार वार्ता में जैन परिवार ने अपनी पीड़ा बताई।

X
Sironj News - mp news troubled by the administrative system if the family dies after being buried in a dilapidated house then the responsible administration will

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना