--Advertisement--

वार्षिक रिटर्न की अंतिम तिथि तीन माह बढ़ी

Vidisha News - 6 दिसंबर को केंद्रीय वित्त मंत्री को पत्र के माध्यम से किया था अनुरोध विदिशा| कनफेडरेशन आफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स...

Dainik Bhaskar

Dec 09, 2018, 05:11 AM IST
Vidisha News - the last date for annual returns increased three months
6 दिसंबर को केंद्रीय वित्त मंत्री को पत्र के माध्यम से किया था अनुरोध

विदिशा| कनफेडरेशन आफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स यानी कैट के अनुरोध पर केंद्रीय वित्त मंत्रालय ने 2017- 2018 के जीएसटी के वार्षिक रिटर्न की अंतिम तिथि को 3 माह के लिए आगे बढ़ा दिया गया है। इससे देश के करोड़ों व्यापारियों को अपना रिटर्न दाखिल करने में सहूलियत मिलेगी। कैट के जिला अध्यक्ष रवि तलरेजा ने बताया कि 6 दिसंबर को केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली को पत्र के माध्यम से अनुरोध किया गया था कि वर्ष 2017-2018 के 9 माह का जीएसटी का वार्षिक रिटर्न की अंतिम तिथि जो 31 दिसंबर है, उसे कम से कम 3 माह यानी 31 मार्च 2019 कर दिया जाए। वार्षिक रिटर्न जो जीएसटीआर-9 के रूप में दाखिल किया जाना है, उसे जीएसटी पोर्टल पर 6 दिसंबर तक अपलोड नहीं किया गया था जबकि रिटर्न भरने की अंतिम तिथि 31 दिसंबर है। इतना ही नहीं किसी अकाउंटेंट प्रोफेशनल और किसी व्यापारी को भी इसकी जानकारी नहीं है कि इसमें कौन- कौन सी जानकारी को भरना है। जब 25 दिन अंतिम तिथि के हों तब करोड़ों व्यापारी इतनी जल्दी कैसे रिटर्न भर पाएंगे। विदिशा चेंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री के महामंत्री हिरदेश सोनी व कोषाध्यक्ष नीलेश अग्रवाल ने बताया कि केंद्रीय वित्त मंत्री ने मुद्दे की गंभीरता को समझते हुए 7 दिसंबर को ही कैट के अनुरोध पर अंतिम तिथि को 3 माह बढ़ाते हुए 31 मार्च 2019 कर दिया है।

कैट के जिलाध्यक्ष रवि तलरेजा, मनीष लश्करी, मनीष अरोरा, कमलेश गर्ग, विश्वनाथ अग्रवाल, विकास जैन, करतार सिंह धाकड़, दिलीप जौहरी का कहना है कि इन 3 माह में केंद्र और राज्य के जीएसटी विभाग को अभियान चलाकर सेमिनारों के माध्यम से व्यापारियों एवं कर सलाहकारों को प्रशिक्षित करना चाहिए क्योंकि जीएसटी के लागू होने का 2017-2018 पहला वर्ष है। इस नाते से जीएसटी से संबंधित अनेक विषयों से देश भर में व्यापारी अनभिज्ञ हैं। व्यापारियों को यह मालूम ही नहीं है कि वार्षिक रिटर्न उनके लिए कितना महत्वपूर्ण है और यदि यह रिटर्न नहीं भरा गया तो उसके क्या परिणाम होंगे। एक तरफ इस रिटर्न के द्वारा व्यापारी अपनी रिटर्न संशोधित कर सकते हैं जिससे उन्हें इनपुट क्रेडिट की हानि ना हो और उनके ऊपर कर की कोई बकायादारी न आ जाए। इस लिहाज से जीएसटी की वार्षिक रिटर्न भरना प्रत्येक व्यापारी के लिए महत्वपूर्ण एवं जरूरी है।

X
Vidisha News - the last date for annual returns increased three months
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..