• Hindi News
  • Madhya Pradesh
  • Vidisha
  • Vidisha News the school on the hill was in the water crisis the teacher disturbed the problem by removing 1000 feet long pipeline and making a tank
--Advertisement--

पहाड़ी पर स्थित स्कूल में था जल संकट, शिक्षक ने 1 हजार फीट लंबी पाइप लाइन डलवाकर और टंकी बनवाकर दूर की समस्या

Vidisha News - गोरियाखेड़ा गांव की पहाड़ी पर स्थित प्राथमिक स्कूल के बच्चे और शिक्षकों को कभी पीने के पानी के लिए परेशान होना पड़ता...

Dainik Bhaskar

Dec 09, 2018, 05:15 AM IST
Vidisha News - the school on the hill was in the water crisis the teacher disturbed the problem by removing 1000 feet long pipeline and making a tank
गोरियाखेड़ा गांव की पहाड़ी पर स्थित प्राथमिक स्कूल के बच्चे और शिक्षकों को कभी पीने के पानी के लिए परेशान होना पड़ता था। इस जल संकट की समस्या को स्कूल में पदस्थ एक शिक्षक ने अपनी पहल से दूर कर दिया है। स्कूल के सहायक अध्यापक शिवमंगल सिंह चौहान ने स्वयं के खर्चे पर स्कूली बच्चों के लिए पेयजल की व्यवस्था की है। तीन किमी दूर से पानी लाने के लिए पाइप और टंकी निर्माण कराकर इस शिक्षक ने पानी के संकट को दूर किया है। इस पेयजल सुविधा का शनिवार को डीईओ एचएन नेमा ने शुभारंभ किया है।

संस्था के सहायक अध्यापक चौहान ने बताया कि स्कूल में पेयजल सुविधा के लिए स्वयं के द्वारा 20 हजार की राशि खर्च कर एक हजार फीट लम्बी पाइप लाइन डलवाई गई, वहीं पांच हजार लीटर की क्षमता की पानी टंकी का निर्माण स्कूल में कराया गया है। उन्होंने बताया कि पहाड़ पर स्कूल होने के कारण बच्चों को पीने के पानी के लिए काफी परेशान होना पड़ता था।

इस समस्या को दूर करने में गांव कृषक भगवान सिंह मीना ने भी आगे आकर उनका साथ दिया। उन्होंने बताया कि गांव से लगभग तीन किलोमीटर दूर भगवान सिंह मीना के खेत के बोर से पाइप लाइन के माध्यम से पहले गांव तक पानी लाया गया है। गांव में ही पानी स्टोर करने के लिए टैंक बनाया गया है और इसी टेंक से मशीन के जरिए स्कूल तक पानी लिफ्ट किया जा रहा है। स्कूल के अलावा गांव में बनाए गए पानी स्टोर टैंक से ग्रामीणों को भी पानी उपलब्ध हो रहा है।

गोरियाखेड़ा गांव में पहाड़ पर स्थित जल संकटग्रस्त स्कूल में शिक्षक द्वारा की गई पेयजल व्यवस्था का शुभारंभ करते हुए डीईओ।

वेतन में राशि बचत कर दूर किया जल संकट

डीईओ ने शुभारंभ के मौके पर कहा कि सहायक अध्यापक चौहान ने गोरियाखेड़ा के प्राथमिक स्कूल के लिए जो भागीरथी प्रयास किए हैं उसकी तुलना नहीं की जा सकती है। सहायक अध्यापक चौहान का कहना था कि स्कूल में बच्चों को होने वाली पेयजल समस्या ने उन्हें झझोर दिया था। इस समस्या को दूर करने के लिए उन्होंने अपने वेतन में से राशि बचत कर यह कार्य कराया है। बीआरसी लक्ष्मण सिंह यादव ने शिक्षक चौहान के कार्यों की सराहना की। इस अवसर पर जन शिक्षक ललित मोहन शर्मा, सुनील गौर और समस्त शिक्षक भी मौजूद थे।

X
Vidisha News - the school on the hill was in the water crisis the teacher disturbed the problem by removing 1000 feet long pipeline and making a tank
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..