ममता-राहुल नेशनल रजिस्टर का चाहे जितना विरोध कर लें, यह उनके रोकने से नहीं रुकेगा: कोलकाता में शाह

कोलकाता में शाह ने कहा- हमारी रैली को दबाने के लिए बंगाली चैनल डाउन कर दिए गए

DainikBhaskar.com| Last Modified - Aug 11, 2018, 03:49 PM IST

Amit Shah will go to Kolkata, Rahul will be in Jaipur after being congress president
ममता-राहुल नेशनल रजिस्टर का चाहे जितना विरोध कर लें, यह उनके रोकने से नहीं रुकेगा: कोलकाता में शाह

 

- शाह ने एनआरसी के मुद्दे पर कहा- यह असम से विदेशी घुसपैठियों को निकालने की प्रक्रिया

 

कोलकाता. भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने शनिवार को कोलकाता में भाजयुमो की रैली को संबोधित किया। उन्होंने कहा- बंगाल की जनता तक यह रैली न पहुंचे, इसके लिए तृणमूल सरकार ने पोस्टर लगाए कि भाजपा बांग्ला विरोधी है। मैं बता दूं कि भाजपा बांग्ला विरोधी नहीं, ममता विरोधी जरूर है। तृणमूल सरकार को उखाड़ फेंकने के लिए भाजपा बंगाल के कोने-कोने तक जाएगी। एनआरसी रजिस्टर पर भाजपा अध्यक्ष ने कहा- राहुल गांधी और ममता बनर्जी चाहे जितना विरोध कर लें, नेशनल रजिस्टर उनके रोकने से नहीं रुकेगा।

 

बंगाल के सपूत श्यामा प्रसाद भाजपा के संस्थापक :  शाह ने कहा, "हमारी पार्टी के संस्थापक ही श्यामा प्रसाद मुखर्जी हैं। हम रामकृष्ण परमहंस और विवेकानंद को मन में लेकर चलते हैं। हम बांग्ला विरोधी नहीं हैं। कुछ दिन पहले असम के एनआरसी पर चर्चा हो रही थी। ममताजी ने इसका विरोध करने का काम किया।  एनआरसी असम के अंदर से विदेशी घुसपैठियों को चुन-चुनकर बाहर करने की प्रक्रिया है। मुझे बताइए बांग्लादेशी घुसपैठियों को अलग करना चाहिए या नहीं? ममता दीदी एनआरसी आपके रोकने से नहीं रुकेगी।"

 

रामकृष्ण के भजन की जगह, यहां अब धमाके गूंजते हैं:  उन्होंने कहा, "बंगाल के अंदर बांग्लादेशी घुसपैठिए बम धमाके करते हैं। उन्हें निकाल बाहर करना चाहिए कि नहीं? जिस धरती पर रामकृष्ण के भजन, चैतन्य महाप्रभु की वाणी गूंजती थी, आज वहां बम के धमाके गूंजते हैं। तृणमूल के शासन में बम और बंदूक बनाने की फैक्ट्रियां फल-फूल रही हैं। प. बंगाल की संस्कृति को वापस लाने के लिए यहां भाजपा की सरकार बनानी होगी।"

 

भाजपा के लिए पहले देश, वोट बैंक बाद में: शाह ने कहा, "हम भाजपा के कार्यकर्ता हैं। हमारे लिए देश सबसे पहले है। वोटबैंक बाद में आता है। बंगाल में रहकर तृणमूल भ्रांति फैला रही है कि एनआरसी के तहत शरणार्थी भी चले जाएंगे। प. बंगाल में जितने शरणार्थी हैं, सबको आश्वस्त करना चाहता हूं कि भाजपा सरकार अफगानिस्तान, पाकिस्तान और बांग्लादेश से आए हुए शरणार्थियों को नागरिकता देने के लिए बिल लेकर आई है। ममताजी भ्रांति फैलाना बंद करो। शरणार्थियों को यहां रखना भारत सरकार की जिम्मेदारी है। तृणमूल बताए कि जब सिटिजनशिप अमेंडमेंट बिल 2016 राज्यसभा में आएगा तो ममताजी समर्थन करेंगी कि नहीं? ममताजी भ्रष्टाचार, कानून-व्यवस्था, बम धमाकों के खिलाफ लड़कर आई हैं। तृणमूल सरकार बनने के बाद भतीजे का भ्रष्टाचार, सिंडीकेट भ्रष्टाचार, कोल माफिया, कोर्ट माफिया, पूरे बंगाल पर माफिया जमकर बैठे हैं। भ्रष्टाचार को दूर करना है तो यहां भाजपा की सरकार बनानी होगी।"

Topics:
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

Trending Now