--Advertisement--

अनुच्छेद 35ए पर रुख साफ करे मोदी सरकार, वरना सभी चुनावों का बहिष्कार करेगी नेशनल कॉन्फ्रेंस: फारूक

अनुच्छेद 35ए की संवैधानिक वैधता को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी गई

Dainik Bhaskar

Sep 08, 2018, 06:51 PM IST
फारूक अब्दुल्ला नेशनल कॉन्फ् फारूक अब्दुल्ला नेशनल कॉन्फ्

- शेख अब्दुल्ला की 36वीं पुण्यतिथि पर फारूक ने किया ऐलान

- फारूक अब्दुल्ला जम्मू-कश्मीर के मुख्यमंत्री भी रह चुके हैं

श्रीनगर. अनुच्छेद 35ए के संरक्षण के मुद्दे पर नेशनल कॉन्फ्रेंस ने लोकसभा और विधानसभा चुनाव का बहिष्कार करने की धमकी दी। पार्टी अध्यक्ष फारूक अब्दुल्ला पहले ही कह चुके हैं कि नेशनल कॉन्फ्रेंस अगले महीने पंचायत और शहरी निकाय चुनाव में हिस्सा नहीं लेगी। शनिवार को उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार को अनुच्छेद 35ए और धारा 370 को लेकर अपना रुख साफ करना चाहिए।

उन्होंने कहा कि चुनाव कराने से पहले केंद्र को कश्मीरी नेताओं से बात करनी चाहिए। अनुच्छेद 35ए के तहत जम्मू-कश्मीर के स्थानीय लोगों को विशेषाधिकार मिले हुए हैं। इसके मुताबिक, दूसरे राज्यों के लोगों को यहां अचल संपत्ति (जैसे- जमीन या मकान) खरीदने की इजाजत नहीं है। इसे 1954 में राष्ट्रपति के आदेश पर संविधान में शामिल किया गया था। अनुच्छेद को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी गई है। पिछले दिनों अदालत ने जम्मू-कश्मीर में पंचायत चुनाव के मद्देनजर सुनवाई आगे बढ़ाई थी।

नरेंद्र मोदी की हिटलर से तुलना : फारूक अब्दुल्ला ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तुलना जर्मन तानाशाह हिटलर से की। उन्होंने कहा, ''चुनाव कराने से पहले उन्हें (केंद्र सरकार) राज्य के नेताओं से रायशुमारी करनी चाहिए थी, लेकिन उन्होंने ऐसा नहीं किया। मोदी ने हिटलर की तरह 15 अगस्त को लालकिले से जम्मू-कश्मीर में चुनावों का ऐलान कर दिया। कैसे हम अपने कार्यकर्ताओं के पास जाएंगे और उन्हें वोट देने के लिए कहेंगे? पहले जम्मू-कश्मीर के लोगों के साथ इंसाफ करें। अगर आपकी योजना जम्मू-कश्मीर को कमजोर करने की है तो हमारा रास्ता अलग है। हम चुनावों में शामिल नहीं हो सकते। न सिर्फ पंचायत, बल्कि लोकसभा और विधानसभा चुनाव का भी बहिष्कार करेंगे।''

X
फारूक अब्दुल्ला नेशनल कॉन्फ्फारूक अब्दुल्ला नेशनल कॉन्फ्
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..