सावधान! आयकर विभाग का नहीं ये हैकर्स का मेल है, लिंक पर क्लिक करते ही अकाउंट हो जाएगा खाली

दरअसल हैकरों ने लोगों के बैंक अकाउंट को खाली करने का नया तरीका खोज निकाला है। ऐसे किसी मेल के झांसे में ना आएं।

Dainikbhaskar.com| Last Modified - Jul 12, 2018, 08:25 PM IST

Bewar ! income tax department not send any mail for maintain your income tax return
सावधान! आयकर विभाग का नहीं ये हैकर्स का मेल है, लिंक पर क्लिक करते ही अकाउंट हो जाएगा खाली

नई दिल्ली. आपके पास इनकम टैक्स विभाग से कोई मेल आए और उसमें लिखा हो कि आईटीआर दाखिल करते समय आपने फार्म में कुछ गलतियां की हैं या फिर डिटेल पूरी नहीं है। इसे पूरा करने के लिए इस लिंक पर क्लिक करें। तब भूलकर भी आप ऐसा ना करें नहीं तो आपका बैंक अकाउंट खाली हो जाएगा। क्योंकि इस मेल को आयकर विभाग ने नहीं बल्कि हैकर्स ने भेजा है। दरअसल हैकरों ने लोगों के बैंक अकाउंट को खाली का नया तरीका खोज निकाला है।

 

ऐसे मेल को इग्नोर करें
आयकर विभाग की मेल आईडी से मिलते-जुलते जो भी मेल आते हैं और उनमें लिंक में क्लिक करने या फिर बैंक खाते, आधार कार्ड, पैन कार्ड, खाते की डिटेल की जानकारी मांगी जाती है इन्हें इग्नोर कर देना चाहिए। 

 

असली और नकली में मेल आईडी में क्या है फर्क ?

असली मेल आईडी - donotreply@incometaxindiafilling.gov.in

 

फर्जी मेल आईडी - donotreply@incometaxindiaefiling.gov.in

 

एेसे पहचानें : दोनों मेल आईडी को बारीक से देखने पर पता चलता है कि फर्जी मेल आईडी में filling के पहले e (ई) ज्यादा लिखा हुआ है। जबकि filling में एक l (एल) कम लिखा है।

 

लिंक पर क्लिक करने से नेट बैंकिंग खुल जाती है

हैकर्स के द्वारा भेजे गए लिंक पर जैसे ही आप क्लिक करके हैं। नेट बैंकिग शुरू हो जाती है। इसके ऑप्शन को जैसे ही आप फॉलो करते हैं आपका बैंक अकाउंट हैक हो जाता है। हैकर वहां आपके खाते को अपने नियंत्रण में लेकर सारे पैसे निकाल लेता है।

 

आयकर विभाग ऐसा कोई लिंक नहीं भेजता 
इनकम टैक्स डिपार्टमेंट भोपाल के एक अधिकारी ने बताया कि विभाग ने वेबसाइट के मुख्य पेज पर चेतावनी जारी कर रखी है कि इनकम टैक्स विभाग त्रुटि का कोई मेल नहीं भेजता है। ना ही आयकर विभाग इस तरीके से करदाताओं से उनके बैंक खाते, पैन नंबर, एटीएम के बारे में जानकारी मांगता है। क्योंकि करदाताओं की आयकर विभाग के पास पूरी डिटेल पहले से होती है

अधिकारी ने बताया कि ग्राहकों के मोबाइल फोन पर मैसेज भेजकर सावधान किया जाता है कि वो किसी से अपने निजी दस्तावेजों जैसे बैंक खातों की डिटेल, पैन आधार कार्ड का नंबर, की जानकारी साझा ना करें। यदि कोई फोन पर आयकर विभाग का अधिकारी बताता है तो उससे भी कुछ गुप्त जानकारी साझा ना करें। आयकर विभाग के कार्यालय में संपर्क करें।  

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

Trending Now