--Advertisement--

बैंकों के डूबे कर्ज पर RBI के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन का खुलासा, इस वजह से कांग्रेस को बताया जिम्मेदार

राजन के खोली कांग्रेस की पोल?

Danik Bhaskar | Sep 11, 2018, 05:03 PM IST

नेशनल डेस्क/नई दिल्ली: भारतीय रिजर्व बैंक के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन ने बैंकों के अधिक नॉन परफॉर्मिंग ऐसेट्स यानी NPA के लिए बैंकर्स और आर्थिक मंदी के साथ फैसले लेने में UPA-NDA सरकार की सुस्ती को भी जिम्मेदार बताया है। संसदीय समिति को दिए जवाब में रघुराम राजन ने कहा कि सबसे अधिक बैड लोन 2006-2008 के बीच दिया गया। राजन का बयान ऐसे वक्त में अहम है जब बीजेपी और कांग्रेस बैंकों की खस्ता हालत के लिए एक-दूसरे को जिम्मेदार ठहरा रहे हैं।

रघुराम राजन ने क्या कहा?
आकलन समिति के चेयरमैन मुरली मनोहर जोशी को दिये नोट में उन्होंने कहा- 'कोयला खदानों के संदिग्ध आबंटन के साथ जांच की आशंका जैसे राजकाज से जुड़ी विभिन्न समस्याओं के कारण UPA सरकार तथा उसके बाद NDA सरकारों दोनों में सरकारी निर्णय में देरी हुई।' राजन ने कहा 'इससे परियोजना की लागत बढ़ी और वो अटकने लगी, इससे कर्ज की अदायगी में समस्या हुई है।' राजन ने कहा, 'इस दौरान बैंकों ने गलतियां की। उन्होंने पूर्व के विकास और भविष्य के प्रदर्शन को गलत आंका। वे प्रॉजेक्ट्स में अधिक हिस्सा लेना चाहते थे। वास्तव में कई बार उन्होंने प्रमोटर्स के निवेश बैंकों के प्रॉजेक्ट्स रिपोर्ट के आधार पर ही बिना उचित जांच-पड़ताल किए साइन कर दिया।'