• Home
  • National
  • national herald case delhi high court reject sonia rahul gandhi plea in it
--Advertisement--

नेशनल हेराल्ड: राहुल-सोनिया के आयकर दस्तावेज की दोबारा जांच पर रोक से हाईकोर्ट का इनकार

राहुल-सोनिया और कांग्रेस नेता ऑस्कर फर्नान्डीज ने आयकर नोटिस के बाद हाईकोर्ट में याचिका दायर की थी

Danik Bhaskar | Sep 11, 2018, 06:01 PM IST

नई दिल्ली. नेशनल हेराल्ड मामले में राहुल गांधी और सोनिया गांधी के आयकर दस्तावेजों की दोबारा जांच पर रोक लगाने से दिल्ली हाईकोर्ट ने इनकार कर दिया। सोमवार को उनकी ओर से दायर याचिका को खारिज करते हुए कोर्ट ने कहा कि आयकर विभाग को टैक्स प्रक्रिया की दोबारा जांच करने का अधिकार है। अगर याचिकाकर्ताओं को कोई शिकायत है तो इसके लिए वे विभाग के पास जा सकते हैं।

राहुल-सोनिया और कांग्रेस नेता ऑस्कर फर्नान्डीज की याचिका पर हाईकोर्ट ने 16 अगस्त को फैसला सुरक्षित रखा था। कोर्ट ने आयकर विभाग से कहा है कि इस मामले में फैसला आने तक कोई कार्रवाई न की जाए।

स्वामी की शिकायत पर शुरू हुई जांच : भाजपा नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने आयकर अधिकारियों से गांधी परिवार, सोनिया और राहुल गांधी को फायदा पंहुचाने की शिकायत की थी। आरोप था कि राहुल और सोनिया गांधी ने 2010 में यंग इंडिया लि. नाम से कंपनी बनाई और पंडित नेहरू द्वारा स्थापित एसोसिएट्स जर्नल लिमिटेड (एजेएल) की संपत्तियों को अधिग्रहित कर लिया।

यंग इंडिया के 83.3% शेयर राहुल-सोनिया के पास : जांच में पता चला था कि बंद हो चुके नेशनल हेराल्ड अखबार का प्रकाशन करने वाली एजेएल के शेयरों के लेनदेन से गांधी परिवार को करीब 1300 करोड़ रुपए का फायदा हुआ। यंग इंडिया में 83.3 फीसदी शेयर राहुल और सोनिया, 15.5 फीसदी मोतीलाल वोरा और बाकी 1.2 फीसदी ऑस्कर फर्नान्डीज के पास हैं।

राहुल पर शेयरों से कम आय दर्शाने का आरोप : आरोप है कि गांधी परिवार को इन शेयरों का हस्तांतरण यंग इंडिया के शेयर खरीदने के बाद किया गया। आयकर विभाग के मुताबिक, यंग इंडिया के शेयर से वित्त वर्ष 2011-12 में राहुल गांधी को 154 करोड़ की आय हुई, लेकिन टैक्स दस्तावेज में इसे सिर्फ 68 करोड़ दर्शाया।