सिद्धू ने अपने पाक दौरे को लेकर कहा- करगिल जंग के बाद अटलजी ने भी मुशर्रफ को बुलाया, मोदी भी लाहौर गए थे / सिद्धू ने अपने पाक दौरे को लेकर कहा- करगिल जंग के बाद अटलजी ने भी मुशर्रफ को बुलाया, मोदी भी लाहौर गए थे

सिद्धू ने कहा अटलजी खुद दोस्ती बस लेकर लाहौर गए थे

DainikBhaskar.com

Aug 21, 2018, 01:58 PM IST
सिद्धू ने मंगलवार को प्रेस कॉन सिद्धू ने मंगलवार को प्रेस कॉन

- सिद्धू 18 अगस्त को इमरान खान के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल हुए थे

नई दिल्ली. इमरान के शपथ ग्रहण समारोह में पाकिस्तान के सेना प्रमुख से गले मिलने पर उठ रहे सवालों पर नवजोत सिंह सिद्धू ने मंगलवार को एक बार फिर सफाई दी। उन्होंने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी 1999 में खुद दोस्ती बस लेकर लाहौर गए थे। उन्होंने कारगिल युद्ध के बाद पाकिस्तान के तत्कालीन सेना प्रमुख परवेज मुशर्रफ को भारत बुलाया था, उनका भी स्वागत किया गया था।

सिद्धू ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा, "प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने शपथ ग्रहण समारोह में नवाज शरीफ को न्योता भेजा था। मोदी खुद पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के यहां शादी समारोह में अनौपचारिक तौर पर पहुंचे थे।"

भावनाओं में बहकर पाक जनरल को गले लगाया : पाकिस्तान के सेना प्रमुख को गले लगाने पर सिद्धू बोले- जब पाक सेना प्रमुख जनरल बाजवा ने कहा कि वे गुरु नानक देव के 550वें प्रकाश पर्व पर करतापुर बॉर्डर को खुला रखेंगे। इससे भारत के श्रद्धालु गुरुद्वारा पंजा साहिब के दर्शन कर सकेंगे। यह सुनकर में भावनाओं में बह गया और मैंने उन्हें गले लगा लिया। इसके बाद दो दिनों में एक भी बार बाजवा से नहीं मिले।" वहीं पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह और कुछ कांग्रेस नेताओं द्वारा सवाल उठाने को लेकर उन्होंने कहा, "लोकतंत्र में अपने विचार रखने की सबको आजादी है।"

सुषमा स्वराजजी ने खुद फोन करके इजाजत की जानकारी दी: सिद्धू ने कहा, "मुझे पाकिस्तान से 10 बार न्योता आया। इसके बाद मैंने सरकार से वहां जाने के लिए इजाजत मांगी। मुझे पहले अनुमति नहीं मिली। 2 दिन के बाद पाकिस्तान सरकार ने मुझे वीजा दिया। सुषमा स्वराजजी ने मुझे खुद रात में फोन कर बताया कि मुझे पाकिस्तान जाने की इजाजत दे दी गई है।"

भाजपा का आरोप- सिद्धू राहुल के कहने पर पाक गए: भाजपा ने एक बार फिर सिद्धू के पाकिस्तान दौरे को लेकर सवाल उठाए। पार्टी प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा कि भारत हमेशा दोनों देशों के बीच शांति के लिए काम करता रहा। लेकिन पाकिस्तान ने हमेशा पीछे से छुरा घोंपने का काम किया। सिद्धू ने दोनों देशों के मौजूदा रिश्तों के लिए भारत को जिम्मेदार ठहराया। वे जिस कैबिनेट में मंत्री हैं उनके मुख्यमंत्री कहते हैं कि बाजवा से गले मिलना ठीक नहीं था। तो वे किन के कहने पर प्रेस कॉन्फेंस कर रहे हैं? राहुल गांधी के कहने पर। सिद्धू राहुल गांधी के कहने पर ही पाकिस्तान गए। इस पर राहुल को जवाब देना चाहिए।

अमरिंदर ने बताया था गलत: सिद्धू 18 अगस्त को इमरान खान के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल हुए थे। यहां वे पाकिस्तान सेना प्रमुख जनरल बाजवा से गले मिले थे। समारोह के दौरान वे पीओके के कथित राष्ट्रपति मसूद खान के पास बैठे थे। इसके बाद वे भाजपा और विपक्षी दलों के निशाने पर आ गए थे। उनके मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने भी बाजवा से गले मिलने को गलत बताया था। अमरिंदर सिंह ने कहा था कि भारत में हर रोज हमारे जवान शहीद हो रहे हैं इन सब के पीछे जिसका हाथ है उनसे गले मिलने के पहले सिद्धू को सोचना चाहिए था।

भाजपा ने पहले भी उठाए थे सवाल : भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने शनिवार को कहा था- सिद्धू पाक के सेना प्रमुख जनरल बाजवा से गले लगे। सबको पता है कि बाजवा भारत में होने वाली जवानों की शहादत के लिए जिम्मेदार हैं। यहां आतंकी हमलों में नागरिकों की मौत के लिए जिम्मेदार हैं। क्या आप को ये याद नहीं आया?

X
सिद्धू ने मंगलवार को प्रेस कॉनसिद्धू ने मंगलवार को प्रेस कॉन
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना