--Advertisement--

नसीहत : पृथ्वी शॉ को सोशल मीडिया पर शतक की बधाई देना इन्हें पड़ा भारी, मिला 1 करोड़ रु पेनाल्टी चुकाने का नोटिस; एक्सपर्ट ने बताया बधाई देते समय कौन सी गलती भूलकर भी न करें

बधाई देना गलत नहीं लेकिन ऐसा किया तो फंस सकते हैं कानूनी पचड़े में

Dainik Bhaskar

Oct 22, 2018, 01:16 PM IST
Prithvi Shaw's management team wants Rs 1 crore each from FreeCharge, Swiggy

न्यूज डेस्क। 18 साल के पृथ्वी शॉ ने जब अपने डेब्यू टेस्ट में शतक जमाया तो उन्हें बधाई देने वालों की बाढ़ सी आ गई। सोशल मीडिया पर कई फैंस ने उन्हें शतक लगाने पर बधाई दी। राइट हेंड बल्लेबाज पृथ्वी अपनी परफॉर्मेंस के चलते सोशल मीडिया में ट्रेंड कर रहे थे। फैंस उन्हें बधाई दे रहे थे लेकिन अब पृथ्वी को बधाई देने वाली दो कंपनियां स्वीगी और फ्रीचार्ज मुसीबत में फंसती नजर आ रही हैं। इन्हें पृथ्वी की मैनेजमेंट कंपनी बेसलाइन वेंचर ने 1-1 करोड़ रुपए का नोटिस भेजा है। यह कम्पनसेशन के लिए भेजा गया है।

बधाई देने पर क्यों भेजा नोटिस?
- दरअसल इन दोनों कंपनियों ने पृथ्वी के नाम का इस्तेमाल अपने उत्पाद की ब्रांडिंग के लिए किया है। ट्रेडमार्क और सिविल मामलों के एक्सपर्ट एडवोकेट गगन बजाड़ (इंदौर) ने बताया कि सामान्य बधाई कोई भी किसी को भी दे सकता है लेकिन यदि बधाई खुद के प्रोडक्ट की ब्रांडिंग करते हुए दी जा रही है तो जिस शख्स के नाम का इस्तेमाल किया गया है वो या उसके राइट्स लेने वाली कंपनी कम्पनसेशन के लिए क्लेम कर सकती है।

- यह कम्पनसेशन कॉमन लॉ यानी कोड ऑफ सिविल प्रोसीजर (CPC) के जरिए लेना होगा। क्योंकि यह ट्रेडमार्क का मामला नहीं है न ही यह कॉपी राइट का मामला है। इसमें एक व्यक्ति और कंपनी के बीच एग्रीमेंट हुआ है। इसलिए सीपीसी के जरिए ही कंपनी कम्पनसेशन क्लेम कर सकती है।

- हर सेलिब्रिटी का एडवरटाइजमेंट राइट्स को लेकर एग्रीमेंट होता है। जिस एजेंसी या कंपनी से एग्रीमेंट होता है, उसी को संबंधित सेलेब का एडवरटाइजमेंट करने का अधिकार होता है। कम्पनसेशन सिविल कोर्ट के जरिए हासिल किया जा सकता है। इसके लिए भारत में अलग से कोई स्पेसिफिक लॉ नहीं है। यह कॉमन लॉ से ही गवर्न होता है।

- आप भी किसी भी सेलेब को बधाई देते वक्त इस बात का ध्यान रखें कि उसके नाम के साथ अपने प्रोडक्ट की ब्रांडिंग न करें। वरना क्रिएटिव्स का इस्तेमाल करने पर आप भी कानूनी पचड़े में पड़ सकते हैं।


आधिकार पेज पर ट्वीट किए थे..

- इन दोनों कंपनियों ने अपने आधिकारिक ट्विटर पेज पर किए गए ट्वीट में शॉ के नाम के साथ क्रिएटिव्स का इस्तेमाल किया था, जो कानूनी तौर पर गलत है। हालांकि अब फ्रीचार्ज और स्वीगी दोनों ने ही ट्वीट डिलीट कर दिए हैं।

- बेसलाइन का कहना है कि इन दोनों कंपनियों ने शॉ के नाम और फेम का यूज किया। यह बेसलाइन के एक्सक्लुसिव राइट्स का उल्लंघन है। बेसलाइन वेंचर के एमडी तुहिन मिश्रा ने इसे निराशाजनक बताया है उन्होंने कहा कि वे ऐसी और भी फर्म के खिलाफ भी लीगल एक्शन लेंगी जिन्होंने ऐसा किया है।

X
Prithvi Shaw's management team wants Rs 1 crore each from FreeCharge, Swiggy
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..