• Home
  • National
  • Saket Court Orders to Frame Charges Against Environmentalist RK Pachauri
--Advertisement--

कोर्ट ने यौन उत्पीड़न मामले में पर्यावरणविद आरके पचौरी के खिलाफ आरोप तय करने का आदेश दिया

द एनवायरनमेंट एंड रिसोर्स इंस्टीट्यूट (टेरी) के डायरेक्टर जनरल रहे हैं आरके पचौरी

Danik Bhaskar | Sep 14, 2018, 06:47 PM IST

नई दिल्ली. दिल्ली की साकेत कोर्ट ने यूरोपीय महिला के यौन उत्पीड़न मामले में पर्यावरणविद आरके पचौरी के खिलाफ आरोप तय करने का आदेश दिया है। महिला ने 2016 में पचौरी पर आरोप लगाया था। उसका कहना है कि वह उनकी सचिव रही है। 2008 में उसका यौन शोषण किया गया। मामले की अगली सुनवाई 20 अक्टूबर को होगी।

कोर्ट ने द एनवायरनमेंट एंड रिसोर्स इंस्टीट्यूट (टेरी) के पूर्व प्रमुख आरके पचौरी के खिलाफ आईपीसी की धारा 354 (शील भंग करना), 354(ए) यौन उत्पीड़न, 509 (महिला को अपशब्द कहना), 354बी (महिला पर बल प्रयोग), 354(डी) छेड़छाड़, 341(व्यक्ति को गलत तरीके से रोकना) व्यक्ति को गलत तरीके से रोकना के तहत अरोप तय करने के आदेश दिए। पचौरी के साथ काम कर चुकीं दो और महिलाएं उनके खिलाफ ऐसे आरोप लगा चुकी हैं। इस मामले में कोर्ट ने उन्हें जमानत दे दी थी।