विज्ञापन

हॉस्पिटल में एडमिट होने के 1 दिन पहले पी थी शराब इसलिए इंश्योरेंस कंपनी ने नहीं दिया था क्लेम, फिर जज ने सुनाया ऐसा फैसला कि आएगा कई के आएगा काम, जज ने फैसले में लिखा था, एल्कोहल कोई...

dainikbhaskar.com

Mar 17, 2019, 03:35 PM IST

डॉ. ने बताईं शराब को लेकर वो बातें, जिन्हें लेकर लोगों में अक्सर होता है कंफ्यूजन

things you should know about alcohol
  • comment

हेल्थ डेस्क। कुछ समय पहले इंश्योरेंस कंपनी ने उपभोक्ता का डेढ़ लाख रुपए का मेडिकल क्लेम इसलिए खारिज कर दिया था कि उसने हॉस्पिटल में भर्ती होने से एक दिन पहले शराब पी थी। ऐसा करने पर कंज्यूमर फोरम ने कंपनी को न सिर्फ 1 लाख 58 हजार 25 रुपए लौटाने के निर्देश दिए बल्कि कंपनी को 25 हजार रुपए हर्जाना देने और 10 हजार रुपए मुकदमा खर्च देने के निर्देश दिए।

जज ने फैसले में लिखा था, ‘एल्कोहल कोई जहर नहीं है, अगर उसे कम मात्रा में लिया जाए। शराब में पानी और शुगर जैसे कंटेंट भी होते हैं।’फोरम ने मोहाली के सरबजीत सिंह काहलों की शिकायत पर द न्यू इंडिया इंश्योरेंस कंपनी के खिलाफ ये फैसला सुनाया। हमने इस बारे में महात्मा गांधी मेमोरियल मेडिकल कॉलेज (MGM) के मेडिसिन डिपार्टमेंट के प्रोफेसर डॉ.वीपी पांडे से बात कर जाना कि आखिर शराब की कितनी मात्रा वास्तव में ह्युमन बॉडी के लिए खतरनाक होती है।

शराब की कितनी मात्रा होती है खतरनाक
- डॉ. पांडे ने बताया कि, एल्कोहल एक तरह का कार्बोहाइड्रेट है, जो बॉडी को एनर्जी देती है। ज्यादा मात्रा में लेने पर यह दिमाग में पहुंचकर नर्वस सिस्टम को नुकसान पहुंचाती है।

-किसी व्यक्ति को एल्कोहल की कितनी मात्रा, नुकसान पहुंचा सकती है यह इस बात पर डिपेंड करता है कि उसकी बॉडी की क्षमता कितनी है? लिवर की एल्कोहल को मेटाबोलाइज करने की क्षमता कितनी है।

- सामान्य तौर पर 30 एमएल तक एल्कोहल बॉडी को नुकसान नहीं पहुंचाती क्योंकि यह मात्रा काफी कम होती है लेकिन यदि किसी का लिवर खराब है तो उसने इतनी एल्कोहल भी खतरा पहुंचा सकती है। हर व्यक्ति की बॉडी पर यह डिपेंड करता है कि वह कितनी एल्कोहल ले सकता है।

- अमेरिका जैसे देशों में तो अलग-अलग राज्यों में एल्कोहल लेने की लिमिट भी अलग-अलग तय है। भारत में ऐसा कोई पैमाना निर्धारित नहीं किया गया है।
- एक्सपर्टस कहते हैं कि पुरुषों के लिए एक हफ्ते में 21 यूनिट एल्कोहल (1 यूनिट यानी करीब 25एमएल व्हीस्की) सेफ होता है। वहीं महिला के लिए यह मात्रा 14 यूनिट सेफ मानी जाती है।

- एक दिन में तीन से ज्यादा यूनिट बॉडी के लिए खतरनाक हो सकती हैं और हफ्ते में कम से कम दो दिन पूरी तरह से एल्कोहल फ्री होना चाहिए।

ये भी जान लें...

- आपका लिवर आपके ब्रेन और हार्ट की तरह ही एक जरूरी अंग है। इसकी केयर करना बेहद जरूरी है। यदि आप हेवी ड्रिंकर हैं तो आपको खासतौर पर अपने लिवर का ध्यान रखना चाहिए।

- वर्ल्ड हेल्थ ओर्गनाइजेशन के डाटा के मुताबिक, हर साल 2 लाख लोग लिवर से जुड़ी बीमारी के कारण अपनी जान गवां देते हैं। बता दें कि लिवर के जरिए ही एल्कोहल ब्लड में पहुंचती है।

- लिवर से जुड़ी गंभीर बीमारियों का तीसरा सबसे बड़ा कारण फैटी लिवर होता है।

X
things you should know about alcohol
COMMENT
Astrology
Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन