केरल: बारिश, बाढ़ और भूस्खलन से 26 की मौत; मोदी ने कहा- मुश्किल में कंधे से कंधा मिलाकर साथ देंगे

केरल के मुख्यमंत्री पी विजयन ने मौसम की स्थिति को देखते हुए आपात बैठक बुलाई

DainikBhaskar.com| Last Modified - Aug 10, 2018, 09:27 AM IST

- अदिमाली में एक ही परिवार के पांच लोगों की मौत

 

तिरुवनंतपुरम. केरल में भारी बारिश के कारण आई बाढ़ और भूस्खलन की घटनाओं में बुधवार से गुरुवार के बीच 26 लोगों की मौत हो गई। आपदा प्रबंधन अधिकारियों के मुताबिक, सबसे ज्यादा इडुक्की जिले में 11 लोगों की जान गई। यहां के अदिमाली में एक ही परिवार के पांच लोगों की मौत हो गई। राज्य के 24 बांधों को खोल दिया गया। इडुक्की बांंध बारिश की वजह से भर गया है। 26 साल बाद इसका गेट खोला गया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट किया, "मुख्यमंत्री पी विजयन से राज्य में बाढ़ की स्थिति को लेकर चर्चा हुई। प्रभावितों को हर संभव मदद देंगे। हम मुश्किल की घड़ी में केरल के लोगों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़े हैं।"

 

सेना, नौसेना, तटरक्षक बल और एनडीआरएफ की टीमें तैनात: इससे पहले इदामालयार बांध के चार गेट खोले गए। इससे 600 क्यूसेक पानी छोड़ा गया। इसका जलस्तर क्षमता (169 मीटर) से करीब एक मीटर ज्यादा हो गया था। राज्य के हालात का आकलन करने के लिए मुख्यमंत्री पी विजयन ने आपात बैठक बुलाई। उन्होंने कहा, "हमने सेना, नौसेना, तटरक्षक बल और एनडीआरएफ को बुलाया है। एनडीआरएफ की तीन टीमें पहुंच गई हैं। दो टीम जल्द ही पहुचेंगी। हालात को देखते हुए नेहरू ट्रॉफी बोट रेस रद्द कर दी गई है।" प्रशासन के मुताबिक, एर्नाकुलम में पेरियार नदी के किनारे बसे 2300 से ज्यादा लोगों को राहत शिविरों में सुरक्षित भेज दिया गया।

एयरपोर्ट में भी भर गया पानी: कोच्चि एयरपोर्ट के निदेशक का कहना है कि हवाई अड्डे के कई हिस्सों में पानी भर गया, जिसकी वजह से दो घंटे फ्लाइट तक ऑपरेशन पर असर पड़ा।

 

 

 

Topics:
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

Trending Now