ताजमहल का संरक्षण करें, नहीं तो इसे बंद करें या गिरा दें: सुप्रीम कोर्ट की केंद्र और उप्र सरकार को फटकार

कोर्ट ने सरकार से आगरा और ताजमहल आने वाले पर्यटकों से होने वाली आय की जानकारी मांगी।

DainikBhaskar.com| Last Modified - Jul 11, 2018, 08:03 PM IST

Supreme Court said to central government Taj Mahal must be protected or demolished
ताजमहल का संरक्षण करें, नहीं तो इसे बंद करें या गिरा दें: सुप्रीम कोर्ट की केंद्र और उप्र सरकार को फटकार

- पर्यावरणविद् एमसी मेहता ने ताजमहल के संरक्षण के लिए याचिका दायर की है

- केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में बताया- भारत में पिछले साल 1 करोड़ पर्यटक आए

 

नई दिल्ली.  ताजमहल के रखरखाव पर सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार को केंद्र और उत्तर प्रदेश सरकार को फटकार लगाई। एक याचिका पर सुनवाई के दौरान कोर्ट ने कहा कि सरकार ताजमहल को संरक्षण दे, नहीं तो इसे बंद करे या गिरा दे। साथ ही केंद्र सरकार से पूछा कि विश्व धरोहर को बचाने के लिए क्या कदम उठाए गए। जस्टिस मदन बी. लोकुर और जस्टिस दीपक गुप्ता की बेंच 31 जुलाई से रोज इस मामले की सुनवाई करेगी।

बेंच ने कहा- ''पेरिस में एफिल टॉवर है, शायद इसकी तुलना ताजमहल से नहीं की जा सकती है। लेकिन टॉवर देखने के लिए 8 करोड़ पर्यटक वहां जाते हैं। यह संख्या भारत आने वाले कुल सैलानियों की 8 गुना है। आप ताज को खत्म सकते हैं, हम ऐसा नहीं चाहते। विश्व धरोहर को बचाने की किसी की मंशा नजर नहीं आती।'' बेंच ने एडिशनल सॉलिसीटर जनरल (एएसजी) एएनएस नंदकरणी से पूछा- ''एक साल में कितने पर्यटक भारत आते हैं?'' सरकार की ओर से 2017 यह संख्या 1 करोड़ बताई गई। इस पर कोर्ट ने खुशी जाहिर की। साथ ही फटकार लगाते हुए कहा कि सरकार की सुस्ती और उदासीनता से देश में पर्यटकों की संख्या घट रही है। इससे विदेशी मुद्रा के विनिमयम में कमी आई है, पर किसी को चिंता नहीं। एक स्मारक ही इसे बढ़ा सकता है।

कोर्ट ने एएसजी से पूछा क्या ताजमहल देखा है: नंदकरणी ने कहा ताजमहल एफिल टॉवर से बेहद सुंदर है। एफिल टॉवर के संदर्भ में कोर्ट ने कहा कि भारत में यह सुरक्षा को लेकर चिंता का विषय हो सकता है, पर दूसरे देशों ने टीवी टॉवर की तरह टॉवर बनाए गए। जहां से पर्यटक पूरे शहर को बारीकी से देख सकते हैं। कई देशों में ऐसे और भी टॉवर बने हैं, लेकिन भारत में इससे खतरा पैदा होने लगता है। इसके साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने ताज ट्रेपेजियम जोन (टीटीजेड) में औद्योगिक इकाइयों के विस्तार पर रोक के उल्लंघन के मामले में चेयरमैन को तलब किया है। टीटीजेड ताजमहल के आसपास का 10,400 वर्ग किलोमीटर का क्षेत्र है। इसमें आगरा, फिरोजाबाद, मथुरा, हाथरस, एटा, और भरतपुर जिले शामिल हैं।

Topics:
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

Trending Now