• Home
  • National
  • Terrorists' 'shelf life' reduced, over 360 killed in 2 yrs in J&K: CRPF DG
--Advertisement--

घाटी में अब ज्यादा दिन नहीं टिक पाते आतंकी, दो साल में 360 ढेर किए: सीआरपीएफ चीफ

घाटी में आतंकी संगठन से जुड़ने वालों युवाओं की संख्या में इजाफा

Danik Bhaskar | Sep 09, 2018, 05:41 PM IST

- सीआरपीएफ डीजी ने बताया- चुनौतियों को ध्यान में रखकर सुरक्षा में की बढ़ोतरी

- जवानों की बात सुनकर कई युवाओं ने आतंक का रास्ता छोड़ा

नई दिल्ली. जम्मू-कश्मीर में सुरक्षाबल आतंकियों के खिलाफ लगातार ऑपरेशन चला रहे हैं। इसके चलते आतंकियों का घाटी में ज्यादा दिन तक जिंदा रहना संभव नहीं रह गया है। सीआरपीएफ डीजी राजीव राय भटनागर के मुताबिक, सुरक्षाबलों ने पिछले दो साल में घाटी में 360 आतंकी ढेर किए।

भटनागर ने बताया, "आंकड़ों के मुताबिक, पिछले कुछ समय से घाटी में आतंकी संगठन से जुड़ने वालों युवाओं की संख्या में इजाफा हुआ है। हालांकि, जवान उन्हें ऐसा करने से रोकने के लिए हर संभव कदम उठा रहे हैं। कुछ बाहरी युवा भी इन आतंकी संगठनों से जुड़ रहे हैं। यह संख्या घटती या बढ़ती रहती है। लेकिन, एक आतंकी ज्यादा दिन तक अपने मंसूबों पर कामयाब नहीं रह पाता।"

ऑपरेशनों में सुरक्षा में बढ़ोतरी : डीजी ने बताया कि सीआरपीएफ ने सुरक्षा चुनौती को ध्यान में रखकर सुरक्षा में बढ़ोतरी की है। आतंकियों के खिलाफ ऑपरेशनों में जवान फुल बॉडी प्रोटेक्टर, बुलेट प्रूफ और विशेष बख्तरबंद वाहनों का इस्तेमाल कर रहे हैं।

आतंकी बनने के बाद परिणाम सीमित : बड़ी संख्याओं में युवाओं के आतंकी बनने के सवाल पर उन्होंने कहा, "भले ही आतंकियों की संख्या में इजाफा हुआ हो लेकिन उनके परिणाम सीमित हैं। आतंकी संगठनों में शामिल होने से पहले उन्हें सोचना चाहिए कि उन्हें इससे कोई भी नतीजे नहीं मिलने वाले। हम युवाओं को आतंकी संगठनों से दूर रखने के काफी प्रयास कर रहे हैं। उन्हें समर्पण करने और घर लौटने के लिए भी कहते हैं। कई आतंकियों ने हमारी बात मानी और यह रास्ता छोड़ दिया।"