• Home
  • National
  • Tractors are able in mobile app, private company launches Helo Tractor App
--Advertisement--

किसान एक फोन पर बुक सकेंगे ट्रैक्टर, निजी कंपनी ने लॉन्च किया ‘हैलो ट्रैक्टर ऐप’

कंपनी अभी हरियाणा और पंजाब में सेवाएं नहीं दे रही है।

Danik Bhaskar | Sep 05, 2018, 12:11 PM IST
किसान एक फोन पर बुक सकेंगे ट्र किसान एक फोन पर बुक सकेंगे ट्र

नई दिल्ली. किसानों को खेती का काम करने के लिए किसी दूसरे व्यक्ति के ट्रैक्टर का इंतजार नहीं करना पड़ेगा। खेती के लिए ट्रैक्टर के साथ ही दूसरे उपकरण भी किराए पर बुक किया जा सकेंगे। इसके लिए टेक कंपनी एरिस ने हैलो ट्रैक्टर एप लॉन्च किया है।इस खबर में हम आपको बता रहे हैं कि टैक्टर मोबाइल ऐप क्या है और किसान इसका किस तरह फायदा उठा सकते हैं।

कहां के किसानों को मिलेगा लाभ ?
इस सेवा का लाभ उत्तर प्रदेश, बिहार, राजस्थान और मध्य प्रदेश समेत अन्य राज्यों के किसानों को मिल सकेगा। अभी हरियाणा और पंजाब में कंपनी सेवाएं नहीं दे रही है क्योंकि वहां पहले ही यह सेवाएं मुहैया कराने वाली कंपनियां हैं और किसानों के पास संसाधन समुचित हैं।

विदेश में सेवा दे रही है कंपनी
उद्योग संगठन फिक्की द्वारा आयोजित कार्यक्रम में कंपनी ने मंगलवार को हैलो ट्रैक्टर एप की शुरुआत की। कंपनी ने दावा किया है कि वह किसानों को किराए की सस्ती दर पर ट्रैक्टर समेत अन्य उपकरण मुहैया कराएगी। फिक्की के मुताबिक यह कंपनी नाइजीरिया में पहले से ऐसी सेवाएं दे रही है। जहां सफलता मिलने के बाद सरकार से मंजूरी मिलने पर उसने देश में यह शुरुआत की है। कंपनी के अध्यक्ष ऋषि मोहन भटनागर के मुताबिक देश में 63 फीसदी किसानों के पास ढाई एकड़ से कम की जमीन है। जबकि 90 फीसदी किसानों के पास 5 एकड़ से कम जमीन है। ऐसे में ट्रैक्टर खरीदना उनकी क्षमता से बाहर है।


क्या होगा फायदा
फिक्की की आईसीटी समिति के अध्यक्ष अंबरीश का कहना है कि इस सेवा से किसान समय पर अपने खेत की जुताई-बुवाई करवा सकेंगे। इससे किसानों को बड़ी राहत मिलेगी। देश की सरकार लगातार निजी क्षेत्र की सहायता से किसानों को राहत मुहैया कराने का प्रयास कर रही है। अब वैश्विक कंपनियां भी ये सेवाएं किसानों को मुहैया कराने के लिए भारत का रुख कर रही हैं।


अन्य कृषि उपकरणों की सेवा भी देंगे
कंपनी ने अपने बयान में कहा है कि वह ट्रैक्टरों से अपनी सेवाएं शुरू करने जा रही हैं। जल्द ही बाकी कृषि उपकरण जैसे सीडर, कंबाइनर, थ्रेशर, चॉपर जैसी सेवाओं को भी इसके दायरे में लेकर आएगी। गौरतलब है कि नीति आयोग ने किराये पर खेती के उपकरण मुहैया कराने की योजना को बढ़ावा देने की योजना तैयार की थी। लगातार सरकार की अनुमति पर निजी क्षेत्र की कंपनियां इस मुहिम में शामिल हो रही हैं।

गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड कर लें ऐप
हैलो ट्रैक्टर ऐप को गूलग प्ले स्टोर से डाउनलोड किया जा सकता है। किसान ओला और उबर कैब की तरह ही ट्रैक्टर को बुक कर सकते हैं। निश्चित समय में ट्रैक्टर किसान के पास पहुंच जाएगा और किसान उससे खेती का काम कर सकेंगे। इससे किसानों का समय पर काम होगा और ट्रैक्टर के लिए इंतजार नहीं करना पड़ेगा।