लंदन में माल्या की संपत्तियों की तलाशी-जब्ती की अफसरों को मंजूरी, भारत में भी 159 प्रॉपर्टी की पहचान

भारत की विशेष अदालत ने भगोड़ा आर्थिक अपराध अध्यादेश के तहत माल्या को 27 अगस्त को हाजिर होने का आदेश दिया है।

DainikBhaskar.com| Last Modified - Jul 05, 2018, 10:25 PM IST

UK High Court judge enforcement order in favour of 13 Indian banks on Vijay Mallya Case
लंदन में माल्या की संपत्तियों की तलाशी-जब्ती की अफसरों को मंजूरी, भारत में भी 159 प्रॉपर्टी की पहचान

- विजय माल्या 2 साल से लंदन में है और वहां की अदालत में मनी लॉन्ड्रिंग के आरोपों को चुनौती दे रहा है
- प्रवर्तन निदेशालय ने माल्या को भगोड़ा अपराधी घोषित कर उसकी संपत्तियां जब्त करने की मांग की है

 

नई दिल्ली. ब्रिटिश अफसर विजय माल्या की लंदन स्थित संपत्तियों की जांच और जब्ती कर सकेंगे। ब्रिटिश हाईकोर्ट ने गुरुवार को भारतीय बैंकों की अर्जी पर यह आदेश दिया। इसमें कहा गया कि अफसर कार्रवाई के दौरान जरूरत पड़ने पर पुलिस की मदद भी ले सकते हैं। हालांकि, कोर्ट ने यह साफ किया कि बैंक इस आदेश का इस्तेमाल अपनी रिकवरी के लिए नहीं कर सकते।

कोर्ट ने कहा कि हमारा जांच अधिकारी और उसके अधीन काम करने वाला किसी भी जांच एजेंसी का अधिकारी लंदन के करीब हर्टफोर्डशायर स्थित माल्या की संपत्तियों की जांच और जब्ती की कार्रवाई कर सकता है। इन संपत्तियों में लेडीवॉक, ब्राम्बले लॉज भी शामिल हैं। मौजूदा समय में माल्या यहीं रहता है। बैंकों का 9 हजार करोड़ रुपए का कर्जदार माल्या पिछले 2 साल से लंदन में है।

भारत में प्रॉपर्टी जब्त नहीं कर सकती पुलिस- कोर्ट : उधर, बेंगलुरु पुलिस ने गुरुवार को दिल्ली की एक अदालत में बताया कि माल्या की 159 संपत्तियों की पहचान की जा चुकी है। हालांकि, कोर्ट ने कहा कि इन संपत्तियों को पुलिस जब्त नहीं कर सकती। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने कोर्ट से कहा कि बेंगलुरु पुलिस को जांच के लिए और वक्त दिया जाए, ताकि माल्या ज्यादा से ज्यादा संपत्तियों की जानकारी मिल सके। कोर्ट ने पुलिस को 11 अक्टूबर तक नई रिपोर्ट दाखिल करने को कहा है।

माल्या को नए अध्यादेश के तहत समन : मनी लॉन्ड्रिंग केस में विशेष अदालत ने 30 जून को भगोड़ा आर्थिक अपराध अध्यादेश के तहत माल्या को 27 अगस्त को पेश होने का आदेश दिया है। इसके लिए प्रवर्तन निदेशालय ने कोर्ट में अर्जी लगाई थी। जांच एजेंसी ने अपनी दूसरी चार्जशीट में माल्या की 12 हजार 500 करोड़ की संपत्ति जब्त करने की मांग की है। अगर माल्या कोर्ट में हाजिर नहीं होता है तो उसे भगोड़ा अपराधी मान लिया जाएगा और जांच एजेंसियां भारत में उसकी संपत्तियां जब्त कर सकेंगी।

2016 में भारत से भागा था माल्या : 31 जनवरी 2014 तक माल्या की किंगफिशर एयरलाइंस पर बैंकों का 6,963 करोड़ रुपए बकाया था। इस कर्ज पर ब्याज के बाद कुल देनदारी 9000 करोड़ रुपए से ज्यादा हो गई। माल्या मार्च 2016 में भारत से भाग गया था। तब उसने यह कहा था कि वह अपने बच्चों के पास जा रहा है। हालांकि, बाद में उसने भारत लौटने से इनकार कर दिया। भारत सरकार की ओर से जारी वारंट पर कार्रवाई करते हुए माल्या को पिछले साल 18 अप्रैल को लंदन में गिरफ्तार किया गया था। उसे तुरंत जमानत मिल गई थी।

Topics:
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

Trending Now