माल्या को प्रत्यर्पण के बाद जहां रखा जाना है, उस ऑर्थर रोड जेल की 12 नंबर की बैरक का वीडियो दिखाएं: ब्रिटिश कोर्ट

लंदन की वेस्टमिंस्टर कोर्ट प्रत्यर्पण मामले पर अंतिम सुनवाई 12 सितंबर को करेगी

DainikBhaskar.com| Last Modified - Jul 31, 2018, 07:08 PM IST

Vijay Mallyas extradition case final stage in UK court
माल्या को प्रत्यर्पण के बाद जहां रखा जाना है, उस ऑर्थर रोड जेल की 12 नंबर की बैरक का वीडियो दिखाएं: ब्रिटिश कोर्ट

 

  • विजय माल्या 2016 में लंदन भाग गया था, फिलहाल प्रत्यर्पण केस में जमानत पर
  • हाल ही में ब्रिटिश अदालत ने माल्या की संपत्तियों की तलाशी और जब्ती के आदेश दिए थे

 

लंदन.  विजय माल्या के प्रत्यर्पण मामले पर मंगलवार को लंदन की वेस्टमिंस्टर कोर्ट में सुनवाई हुई। बचाव और अभियोजन पक्ष के वकीलों ने मुंबई स्थित ऑर्थर रोड जेल की बैरक नंबर 12 पर अपनी-अपनी दलीलें दीं, जहां प्रत्यर्पण के बाद माल्या को रखा जाना है। इसके बाद जज एम्मा ऑर्बटनॉट ने भारतीय अधिकारियों से कहा कि तीन हफ्ते के भीतर 12 नंबर बैरक का वीडियो दिखाएं। मामले की अंतिम सुनवाई 12 सितंबर को होगी। माल्या की जमानत भी सुनवाई की तारीख तक बढ़ा दी गई है। 

सुनवाई के पहले माल्या ने कहा, ''मुझ पर लगे मनी लॉन्डरिंग और पैसा चुराने के आरोप झूठे हैं। आखिरकार अदालत को ही फैसला लेना है।'' सुनवाई के बाद उसने कहा- ''मैंने किसी तरह की दया याचिका नहीं दी है। मैं अपना सारा कर्ज चुकाना चाहता हूं। पूरा कर्ज वापस करना चाहता हूं। पूरा पैसा निश्चित होना चाहिए। बैंकों की शिकायत पर संपत्तियों को सीज नहीं किया जा सकता, उन्हें बेचा नहीं जा सकता है। न्यायपालिका को तय करने दें, क्या सही है।''

 

प्रवर्तन अधिकारियों को दी थी जब्ती की इजाजत : 27 अप्रैल को वेस्टमिंस्टर अदालत ने सीबीआई के सबूतों को स्वीकार कर लिया था। ब्रिटेन की एक अदालत ने प्रवर्तन अधिकारियों को माल्या की ब्रिटिश संपत्तियों की जांच और जब्ती की इजाजत दी थी। तब उसने कहा था कि ब्रिटेन में उसके पास सिर्फ कुछ कारें और थोड़ी ज्वेलरी है। वह इसे कभी भी जांच एजेंसियों को सौंपने को तैयार है।

 

माल्या ने 6,963 करोड़ रुपए का कर्ज लिया था: 17 बैंकों के कंजोर्शियम ने माल्या की किंगफिशर एयरलाइंस को कर्ज दिया था। 31 जनवरी 2014 तक माल्या पर बैंकों के 6,963 करोड़ रुपए बकाया थे। 2016 तक ये राशि करीब 9,000 करोड़ हो गई। अब यह राशि ब्याज समेत 10 हजार करोड़ से ज्यादा हो चुकी है। कर्ज चुकाने का दबाव बढ़ा तो मार्च 2016 में माल्या विदेश भाग गया। बैंकों का कंजोर्शियम माल्या से अभी तक 965 करोड़ रुपए की रिकवरी कर चुका है।

 

भारत आना चाहता है माल्या : पिछले दिनों ऐसी खबर आई थी कि विजय माल्या भारत लौटना चाहता है। वह भारत में चल रहे मुकदमों का सामना करने के लिए तैयार। वह बैंकों से लिया कर्ज भी चुकाना चाहता है। इसके लिए उसने ईडी के अफसरों से बातचीत भी की। ईडी के अफसरों का कहना था कि अगर वह लौट आता है तो उसे तुरंत गिरफ्तार कर लिया जाएगा। उसे एक-दो दिन बाद जमानत दी जा सकती है। 

Topics:
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

Trending Now