--Advertisement--

तितली तूफान / ओडिशा में बारिश के बाद भूस्खलन से 12 की मौत, 3 जख्मी; गंजाम जिले में सबसे ज्यादा असर



गंजाम जिले में शनिवार को एनडीआरएफ की टीम ने लोगों को रेस्क्यू किया। गंजाम जिले में शनिवार को एनडीआरएफ की टीम ने लोगों को रेस्क्यू किया।
गंजाम जिले के कई इलाकों में चार से पांच फीट तक पानी भर गया। गंजाम जिले के कई इलाकों में चार से पांच फीट तक पानी भर गया।
राज्य में 963 राहत कैम्प बनाए गए हैं। राज्य में 963 राहत कैम्प बनाए गए हैं।
तूफान और तेज बारिश के चलते गजपति में तट पर भारी नुकसान हुआ। तूफान और तेज बारिश के चलते गजपति में तट पर भारी नुकसान हुआ।
शुक्रवार की तुलना में शनिवार को कई इलाकों में पानी का स्तर कम हुआ। शुक्रवार की तुलना में शनिवार को कई इलाकों में पानी का स्तर कम हुआ।
गंजाम में रेस्क्यू अभियान चलाती एनडीआरएफ की टीम। गंजाम में रेस्क्यू अभियान चलाती एनडीआरएफ की टीम।
X
गंजाम जिले में शनिवार को एनडीआरएफ की टीम ने लोगों को रेस्क्यू किया।गंजाम जिले में शनिवार को एनडीआरएफ की टीम ने लोगों को रेस्क्यू किया।
गंजाम जिले के कई इलाकों में चार से पांच फीट तक पानी भर गया।गंजाम जिले के कई इलाकों में चार से पांच फीट तक पानी भर गया।
राज्य में 963 राहत कैम्प बनाए गए हैं।राज्य में 963 राहत कैम्प बनाए गए हैं।
तूफान और तेज बारिश के चलते गजपति में तट पर भारी नुकसान हुआ।तूफान और तेज बारिश के चलते गजपति में तट पर भारी नुकसान हुआ।
शुक्रवार की तुलना में शनिवार को कई इलाकों में पानी का स्तर कम हुआ।शुक्रवार की तुलना में शनिवार को कई इलाकों में पानी का स्तर कम हुआ।
गंजाम में रेस्क्यू अभियान चलाती एनडीआरएफ की टीम।गंजाम में रेस्क्यू अभियान चलाती एनडीआरएफ की टीम।

  • बाढ़ और बारिश से 6 जिलों में अब तक 60 लाख लोग प्रभावित
  • राहत और बचाव कार्य के लिए प्रशासन ने नेवी से हेलिकॉप्टर मांगे

Dainik Bhaskar

Oct 13, 2018, 05:26 PM IST

भुवनेश्वर.   ओडिशा में तितली तूफान के बाद भारी बारिश और भूस्खलन में 12 लोगों की मौत हो गई। गजपति जिले के रायगढ़ा ब्लॉक में शुक्रवार शाम को यह भूस्खलन उस वक्त हुआ जब गांव के कुछ लोग भारी बारिश से बचने के लिए एक गुफा जैसी जगह में शरण लिए हुए थे। विशेष राहत आयुक्त पीवी सेठी ने इस हादसे की पुष्टि की। 

 

पीवी सेठी ने बताया कि जगह-जगह भूस्खलन और पेड़ गिरने की वजह से लोगों तक राहत पहुंचाने में दिक्कत हो रही है। हादसे वाली जगह आंध्रप्रदेश और ओडिशा बॉर्डर पर है। वहां पहुंचना आसान नहीं है। राहत टीम को 17 किमी पैदल चलना होगा। हालांकि, शुक्रवार की तुलना में आज कई इलाकों में पानी का स्तर कम हुआ है। 963 राहत कैम्प बनाए गए हैं। इनमें 1,27, 262 लोग शरण लिए हैं।

cyclone Titli

 

गंजाम में सबसे ज्यादा हालात बिगड़े: बारिश और बाढ़ से राज्य के गंजाम, पुरी, कंधमाल, केंद्रपाड़ा, रायगढ़ा और गजपति जिले सबसे ज्यादा प्रभावित हुए। इनमें सबसे ज्यादा खराब हालात गंजाम जिले में हैं। सेठी ने बताया कि लोगों को रेस्क्यू करने के लिए हमने नेवी से दो हेलिकॉप्टर की मदद ले रहे हैं। इन 6 जिलों में करीब 60 लाख लोग प्रभावित हुए हैं।

cyclone Titli

 

तितली से आंध्र को 2800 करोड़ का नुकसान: आंध्रप्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू ने शनिवार को बताया कि तितली तूफान से उत्तर तटीय आंध्रप्रदेश में करीब 2800 करोड़ रुपए का नुकसान हुआ है। नायडू ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से फौरन 1200 करोड़ रुपए की सहायता राशि मुहैया कराने की अपील की है। राज्य के श्रीकाकुलम और विजयनगरम जिले में भारी तबाही हुई है। इन इलाकों से 11 अक्टूबर को तितली तूफान टकराया था। तब इसकी रफ्तार 165 किमी प्रति घंटा थी। इस दौरान कई इलाकों में 10 सेमी से 43 सेमी तक बारिश हुई।

Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..