पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • Coronavirus (COVID) Vaccination 18 44 Age Group LIVE Update; COVAXIN COVISHIELD | COWIN Registration Latest News Today

18+ का वैक्सीनेशन शुरू:पहले दिन महज 84 हजार लोगों को टीका लगा, वैक्सीन की कमी से 11 प्रदेशों में फिलहाल वैक्सीनेशन नहीं

नई दिल्ली5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

देश भर में शनिवार से 18 से 44 साल तक उम्र के सभी नागरिकों को कोरोना वैक्सीन लगाने की शुरुआत हुई। हालांकि, शॉर्टेज की वजह से महज 84,599 लोगों को ही वैक्सीन लग सकी। यह डेटा स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से दिया गया है। रजिस्ट्रेशन शुरू होने पर पहले ही दिन 1.32 करोड़ लोगों ने खुद को रजिस्टर्ड किया था। वैक्सीनेशन शुरू हुआ तो पहले दिन एक लाख लोगों को भी टीका नहीं लग पाया। कई राज्यों ने वैक्सीन का स्टॉक नहीं होने का हवाला देते हुए वैक्सीनेशन प्रोग्राम शुरू ही नहीं किया।

रूसी वैक्सीन के डेढ़ लाख डोज आए
रूसी वैक्सीन स्पुनतिक V की पहली खेप शनिवार को भारत आ गई। इसे लेकर आए एक विमान ने हैदराबाद में लैंड किया। देश में अचानक आई वैक्सीन की कमी को देखते हुए भारत सरकार ने इसे मंजूरी दी थी। वैक्सीन के प्रोडक्शन और प्रचार का काम रूसी डायरेक्ट इंवेस्टमेंट फंड (RDIF) कंपनी देख रही है।

RDIF के CEO किरिल दिमित्रिएव ने कहा है कि अभी भारत में हर महीने 5 करोड़ डोज बनाए जाएंगे। कुछ समय बाद कंपनी प्रोडक्शन और बढ़ाएगी। भारत के 5 बड़े वैक्सीन निर्माताओं के साथ एक साल में 85 करोड़ (850 मिलियन) डोज बनाने का करार किया गया है।

केंद्र ने कहा- राज्यों के पास एक करोड़ से ज्यादा डोज
वहीं, केंद्र सरकार ने इन बयानों के विपरीत कहा है कि सभी राज्यों में 1 करोड़ से अधिक डोज उपलब्ध हैं और अगले तीन दिनों में 20 लाख खुराक उन्हें और मिल जाएंगी। केंद्र ने यह भी बताया कि सरकार 45 वर्ष से ऊपर के लोगों के लिए टीके उपलब्ध कराना जारी रखेगी।

5 भाजपा शासित राज्यों मध्यप्रदेश, गोवा, गुजरात, अरुणाचल प्रदेश और कर्नाटक समेत पश्चिम बंगाल, दिल्ली, ओडिशा, पंजाब, तेलंगाना और आंध्र प्रदेश ​​यानी 11 अन्य राज्यों ने वैक्सीनेशन प्रोग्राम तय समय से शुरू करने से इनकार कर दिया है।

महाराष्ट्र में 1 तारीख से ही वैक्सीनेशन
महाराष्ट्र में 1 मई से ही 18+ को वैक्सीन लगाई गई। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने शुक्रवार को बताया कि कम स्टॉक के साथ ही हम तय तारीख से वैक्सीनेशन शुरू कर रहे हैं। मेरी लोगों से अपील है कि सेंटर्स पर ज्यादा भीड़ न लगाएं। वैक्सीन कंपनियों से जैसे जैसे टीके मिलेंगे उस हिसाब से टीकाकरण चलाया जाएगा।

छत्तीसगढ़ में वैक्सीनेशन के लिए सामाजिक-आर्थिक आरक्षण
छत्तीसगढ़ सरकार ने भी पहले इनकार के बाद अब 1 मई से 18+ को राज्य के सीमित केंद्रों पर टीकाकरण शुरू करने का फैसला किया है। राज्य सरकार ने इसके साथ ही वैक्सीनेशन के लिए एक बड़ी घोषणा भी की है। राज्य सरकार ने वैक्सीनेशन के लिए सामाजिक-आर्थिक आरक्षण लागू करने का फैसला किया है। यानी सबसे पहले अन्त्योदय राशन कार्ड वाले अति गरीब लोगों में से 18 से 45 वर्ष आयु वर्ग को वैक्सीन लगेगी। उसके बाद BPL कार्ड धारी गरीबी रेखा से नीचे के लोगों को टीका लगाया जाएगा। सबसे बाद में सामान्य (APL) कार्ड वाले लोगों को यह टीका लगाया जाएगा।

वैक्सीन सेंंटर के बाहर कतार न लगाएं, अभी टीके नहीं मिले हैं : केजरीवाल
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने 18 से 44 वर्ष की आयु वाले लोगों से 1 मई से वैक्सीन सेंटर के बाहर कतार न लगाने की शुक्रवार को अपील की। उन्होंने कहा कि दिल्ली को अभी टीके नहीं मिले हैं। अगले एक-दो दिनों में करीब 3 लाख कोवीशील्ड टीके मिलेंगे और 18 साल से अधिक आयु वाले लोगों के लिए टीकाकरण अभियान शुरू होगा। दिल्ली सरकार ने 3 महीनों में कोवीशील्ड और कोवैक्सिन में प्रत्येक की 67 लाख खुराकों का ऑर्डर दिया है। अगर कंपनियां टीकों की पर्याप्त मात्रा में आपूर्ति कर दें तो अगले तीन महीनों में हर किसी को टीका लगा दिया जाएगा।

कर्नाटक के मंत्री बोले- वैक्सीन नहीं पहुंची, लोग सेंटर न जाएं
कर्नाटक के स्वास्थ्य मंत्री डॉ के सुधाकर ने शुक्रवार को कहा 1 मई से 18 साल से अधिक उम्र के लोगों के लिए शुरू हो रहे टीकाकरण अभियान में देरी हो सकती है। प्रदेश में अभी वैक्सीन अब तक नहीं पहुंची है। हमने पुणे में सीरम इंस्टीट्यूट को टीके की एक करोड़ खुराक का ऑर्डर दिया है, लेकिन वे कल तक हमें टीका देने को तैयार नहीं हैं। उन्होंने टीकाकरण के लिए पंजीकरण कराने वाले लोगों से 1 मई को टीकाकरण केंद्र जाने से बचने का अनुरोध किया।

मध्यप्रदेश के CM बोले- 3 मई के बाद ही टीकाकरण संभव
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश में 1 मई से 18 वर्ष से अधिक आयु वाले व्यक्तियों का कोरोना वैक्सीनेशन अभियान प्रारंभ किया जाना था, परंतु वैक्सीन निर्माता कंपनियों से वैक्सीन प्राप्त नहीं होने के कारण यह अभियान 1 मई से प्रारंभ नहीं किया जा सकेगा। प्रदेश में 3 मई को वैक्सीन के डोज मिलने की संभावना है, उसके बाद ही वैक्सीनेशन कार्य शुरू होने के आसार हैं।

अरुणाचल में तकनीकी कारणों से टला अभियान
अरुणाचल प्रदेश की सरकार ने तकनीकी कारणों से एक मई से 18 से 44 वर्ष उम्र के लोगों को कोविड-19 का टीका देने का कार्यक्रम टाल दिया है। राज्य के लिए राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के निदेशक डॉ. सीआर खाम्पा ने शुक्रवार को बताया कि तीसरे चरण का टीकाकरण अनिश्चितकाल के लिए टाल दिया गया है।

उत्तर प्रदेश के 7 शहरों में वैक्सीनेशन
उत्तर प्रदेश के लखनऊ, कानपुर नगर, प्रयागराज, वाराणसी, गोरखपुर, मेरठ और बरेली में तय समय से वैक्सीनेशन शुरू हुआ। इन शहरों में 9000 से ज्यादा सक्रिय मामले हैं।

इन राज्यों में फ्री वैक्सीनेशन का ऐलान
दिल्ली, महाराष्ट्र, कर्नाटक, मध्य प्रदेश, जम्मू और कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, गोवा, केरल, छत्तीसगढ़, बिहार, झारखंड, उत्तर प्रदेश, असम, सिक्किम, पश्चिम बंगाल, तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, हरियाणा, लद्दाख, ओडिशा, गुजरात, राजस्थान, उत्तराखंड, पंजाब ने ऐलान किया है कि वे 18 साल से ज्यादा उम्र वाले लोगों को कोरोना वैक्सीन मुफ्त में लगाएंगे।

खबरें और भी हैं...