पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • National
  • 13 People Lost Their Lives On The Third Day In Punjab; One In Amritsar And 12 Broke In Tarn Taran; Total Figure Is 62

पंजाब में जहरीली शराब का तांडव:तीसरे दिन तरनतारन में 12 और अमृतसर में 1 की जान गई, मरने वालों की कुल संख्या 62 हुई; धतूरे और यूरिया से बनाई जाती थी शराब

अमृतसर8 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
तरनतारन के सिविल अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड के बाहर जहरीली शराब पीने से मरने वालों के परिजन।
  • अब तक तरनतारन जिले में 42, अमृतसर जिले में 12 और गुरदासपुर जिले के बटाला में 8 लोगों की मौत हो चुकी
  • कार्रवाई न करने के आरोपी एसएचओ समेत तीनों जिलों से अब तक कुल 10 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है

पंजाब में जहरीली शराब पीने से शनिवार को फिर 13 लोगों की मौत हो गई। इनमें से 12 ने तरनतारन में और 1 ने अमृतसर दम तोड़ा है। इन सबको मिलाकर पिछले तीन दिन में जहरीली शराब के सेवन से मरने वालों की संख्या अब 62 हो गई है। अब तक तरनतारन जिले में 42, अमृतसर जिले में 12 और गुरदासपुर जिले के बटाला में 8 लोगों की मौत हो चुकी है। तरनतारन में सबसे ज्यादा लोगों की जान लेने वाली शराब जिले के गांव पंडोरी गोला में तैयार की गई थी, अवैध शराब की तस्करी के लिए बदनाम है। इससे भी बड़ी बात यह भी है कि शराब बनाने वाले इसमें न सिर्फ अल्कोहल की मात्रा ज्यादा डालते थे, बल्कि धतूरे और यूरिया खाद का भी इस्तेमाल करते थे।

दरअसल, गुरुवार को अमृतसर जिले के गांव मुच्छल में देसी शराब पीने से 7 लोगों की मौत हो गई थी। इसके बाद शुक्रवार दोपहर को यहां 4 लोगाें की जान और चली गई, वहीं पास के जिले तरनतारन में 15 तो गुरदासपुर जिले के बटाला में भी 6 लोगों की मौत हो गई। रात में तीनों जिलों में अवैध शराब से मरने वालों का यह आंकड़ा 49 तो आज तीसरे दिन 62 हो गई।

तरनतारन में मरने वाले 30 लोग नौरंगाबाद, मल्लमोहरी, कक्का कंडियाला, भुल्लर, बचड़े, अलावलपुर, जवंदा, कल्ला व पंडोरी गोला के रहने वाले हैं। इनमें गांव मल्लमोहरी के पिता-पुत्र भी शामिल हैं। मृतकों में 22 वर्ष के युवक से लेकर 60 वर्ष तक के बुजुर्ग शामिल हैं। वहीं, अमृतसर में मुच्छल गांव व बटाला में हाथी गेट व कपूरी गेट में जहरीली शराब से मौतें हुई हैं।

पंजाब में लॉकडाउन के दौरान अवैध शराब की बिक्री पर चल रही सियासी खींचतान के बीच इन मौतों से सियासत गर्मा गई है। मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने शुक्रवार को जालंधर के डिवीजनल कमिश्नर राज कमल चौधरी को घटना की न्यायिक जांच सौंप कर तीन हफ्ते में रिपोर्ट मांगी थी। इस जांच में ज्वाइंट एक्साइज एंड टैक्सेशन कमिश्नर व संबंधित जिलों के पुलिस अधीक्षक भी शामिल होंगे। इसके अलावा बटाला और अमृतसर में भी एसआईटी गठित की गई है।

10 लोगों को किया जा चुका गिरफ्तार

अब तक कुल 10 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। अमृतसर के तरसिका थाने के निलंबित एसएचओ (थाना प्रभारी) विक्रम सिंह को शुक्रवार को हिरासत में लिया गया था। वह शिकायत पर कार्रवाई न करने के आरोपी हैं। वहीं, गांव मुच्छल की शराब बेचने वाली महिला बलविंदर कौर को गिरफ्तार कर उसके खिलाफ धारा 304 (गैर इरादतन हत्या) व एक्साइज एक्ट में केस दर्ज किया गया। तरनतारन के गांव पंडोरी गोला में भी पांच लोगों को हिरासत में लिया गया। इनमें दो तस्कर अमरजीत सिंह व बलजीत सिंह शामिल हैं। बटाला में शराब तस्करी के तार गांव हरूवाल से जुड़े हैं। पुलिस ने अज्ञात लोगों पर पर्चा दर्ज कर हाथी गेट क्षेत्र की एक महिला और उसके दो बेटों को हिरासत में लिया है। महिला ने बताया कि उनके मोहल्ले में सब्जी का काम करने वाला एक व्यक्ति अवैध शराब बेचता है।

यह है चौंकाने वाला खुलासा

असल में यह बेल्ट अवैध देसी शराब के लिए बदनाम है। यहां कई बार छप्पड़ों (छोटे तालाब) में अवैध शराब मिलने के मामले सामने आते रहे हैं। तरनतारन में जिस शराब से लोगों की जान गई, वह खडूर साहिब के गांव पंडोरी गोला में तैयार की गई थी। इसे अवैध तरीके से अन्य गांवों में बेचा गया। यह गांव अवैध शराब की तस्करी के लिए बदनाम है। आरोपियों ने स्वीकार किया है कि वह शराब तैयार करने लिए ज्यादा मात्रा में अल्कोहल, धतूरा व यूरिया खाद का इस्तेमाल करते थे। तरनतारन के डिप्टी कमिश्नर कुलवंत सिंह धूरी ने कहा कि हम जांच कर रहे हैं कि शराब की सप्लाई और कहां-कहां हुई है।

अमृतसर के गांव मुच्छल में पीड़ित परिवारों के साथ शोक संवेदना व्यक्त करने पहुंचे सांसद जसबीर सिंह डिम्पा और अन्य।

मृतकों के परिजनों को 1-1 लाख मुआवजा देगी पंजाब सरकार

माझा में जहरीली शराब से मरने वालों के परिवारों को पंजाब सरकार ने 1-1 लाख रुपए मुआवजा देने का ऐलान किया है। शनिवार को पंजाब सरकार की तरफ से खडूर साहिब के सांसद जसबीर सिंह डिम्पा, हलका विधायक सुखविंदर सिंह डैनी हलका जंडियाला गुरु अधीन पड़ते गांव मुच्छल में मरे लोगों के परिवारों के साथ दुख सांझा करने के लिए पहुंचे। इस दौरान डिम्पा ने बताया कि पंजाब सरकार सभी मृतकों के परिवारों को 1-1 लाख रुपए मुआवजा देगी।

उठे ये पांच सवाल

  • एक साथ 10 गांवों और दो शहरी क्षेत्रों में कैसे हुई शराब की सप्लाई?
  • शराब में इस्तेमाल एल्कोहल कहां से सप्लाई हुआ?
  • तरनतारन में तीन दिन पहले तीन लोगों की मौत हुई। इस घटना के बाद पुलिस ने सख्ती क्यों नहीं की?
  • इस बेल्ट में पहले भी कई बार छप्पड़ों (छोटे तालाब) से अवैध शराब की खेप पकड़ी जा चुकी है, लेकिन निर्माण पर रोक क्यों नहीं लगी?
  • गांवों में अवैध भट्ठियां चल रही हैं। पुलिस ने इन पर कार्रवाई क्यों नहीं की?
0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज कोई भूमि संबंधी खरीद-फरोख्त का काम संपन्न हो सकता है। वैसे भी आज आपको हर काम में सकारात्मक परिणाम प्राप्त होंगे। इसलिए पूरी मेहनत से अपने कार्य को संपन्न करें। सामाजिक गतिविधियों में भी आप...

और पढ़ें