पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • National
  • 150 Bombs Firing To Daily Before Take off And Landing Of Aircraft At Surat Airport In Gujrat

सूरत एयरपोर्ट पर 46 विमानों की टेक ऑफ-लैंडिंग से पहले रोज करनी पड़ती है 150 बार फायरिंग

10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जोन गन्स।
  • सूरत एयरपोर्ट के डूमस और रनवे नंबर 4 की ओर परिसर के बाहर झींगा पालने के छोटे-छोटे पोखर हैं
  • यहां कीड़ों की तादाद बढ़ने से पक्षियों की आवक भी बढ़ जाती है, जिससे विमानों से टकराने का खतरा बढ़ जाता है
  • जोन गन्स से रोज 150, एक महीने में 4500 और सालभर में 54 हजार बार फायरिंग की जाती है

सूरत (गुजरात). सूरत एयरपोर्ट पर पक्षियों को भगाने के लिए इन दिनों जोन गन्स का इस्तेमाल किया जा रहा है। यहां रोज 46 उड़ानों की आवाजाही होती है। इनके टेक ऑफ और लैंडिंग के पहले हर बार जोन गन्स से फायरिंग की जाती है। इस तरह रोज 150, एक महीने में 4500 और सालभर में 54 हजार बार फायरिंग की जा रही है। दरअसल, एयरपोर्ट के आसपास झींगा पालने के छोटे-छोटे पोखर हैं। कई इलाकों में लंबी घास है, जिससे यहां कीड़ों की तादाद ज्यादा रहती है। इन्हें खाने के लिए पक्षी यहां आते हैं और विमानों से टकराने का खतरा बना रहता है।
 
सूरत एयरपोर्ट के डूमस और रनवे नंबर 4 की ओर परिसर के बाहर कई झींगा तालाब हैं। एयरपोर्ट प्रबंधन ने इस बारे में कहा कि झींगा तालाब एक मुसीबत हैं। फ्लाइट बढ़ने के बाद हम हर 6 महीने में होने वाली एन्वायरमेंटल मीटिंग में तीन बार कलेक्टर से इस बारे में चर्चा कर चुके हैं। उन्हें इस समस्या के बारे में बताया गया है। एयरपोर्ट प्रबंधन ने बताया कि एयरपोर्ट पर लैंडिंग के दौरान उस दिशा में फायरिंग की जाती है, जहां ज्यादा पक्षी दिखते हैं। सुबह 6 से 11.30 बजे तक 80 के आसपास फायरिंग होती है, जबकि दोपहर तीन बजे से शाम 7.30 बजे तक 60 से 70 फायरिंग होती है।
 

रनवे के दोनों तरफ पांच गन्स लगाई गईं 
 

  • सूरत एयरपोर्ट पर यह तकनीक छह महीने पहले लाई गई थी। मई 2017 से अब तक उड़ानों की संख्या में जबर्दस्त बढ़ोतरी होने से ट्रैफिक बढ़ गया। इससे एयरपोर्ट प्रबंधन बर्ड हिट से विमानों के खतरे को लेकर चिंतित रहता था। इस समस्या का समाधान करने को जोन गन्स का इस्तेमाल किया गया। रनवे के दोनों तरफ पांच गन्स लगाई गई हैं। इसके अलावा, वाइब्रेटर का भी इस्तेमाल किया जा रहा है।
  • सूरत एयरपोर्ट प्रबंधन ने इसके लिए जुलाई में एग्रीकल्चर यूनिवर्सिटी की मदद मांगी थी। इसका उद्देश्य प्रोफेसरों की मदद से एयरपोर्ट परिसर में बढ़ रही घास पर रोक लगाना और उनमें पनपने वाले कीटों का खात्मा करना था। फिलहाल इस पर आगे बात नहीं बनी।

हर साल 2 लाख रुपए से ज्यादा का खर्च
सूरत एयरपोर्ट के रनवे के आसपास लगी इन पांच जोन गन्स की कीमत कुल चार लाख रुपए है। इनमें से हर एक गन इक्विपमेंट की कीमत 80 हजार रुपए है। इनमें गैस सिलेंडर लगाकर चलाया जाता है। हर 20 दिन में पांचों जोन गन्स के सिलेंडर बदलने पड़ते है। इस काम में हर महीने 7000 रुपए का खर्च आता है। इसके अलावा, अगर इसके सिस्टम में किसी प्रकार की खराबी जाती है तो उसमें भी दो से तीन हजार का खर्च आता है। इनके मेंटनेंस में महीने में 10 हजार रुपए का खर्च आता है।
 

2017 में सबसे ज्यादा 14 बर्ड हिट
 

वर्ष बर्ड हिट
2019 06
2018 04
2017 14

2016

04

 

इस साल अब तक 6 बर्ड हिट
 

माह बर्ड हिट
जनवरी 01
फरवरी 03
अप्रैल 01
जुलाई 01

  * सूरत एयरपोर्ट आधिकारिक आंकड़े के मुताबिक।    

0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव - धर्म-कर्म और आध्यामिकता के प्रति आपका विश्वास आपके अंदर शांति और सकारात्मक ऊर्जा का संचार कर रहा है। आप जीवन को सकारात्मक नजरिए से समझने की कोशिश कर रहे हैं। जो कि एक बेहतरीन उपलब्धि है। ने...

और पढ़ें