• Hindi News
  • National
  • Rahul Gandhi ED Case Updates | National Herald Corruption Case Latest News And Updates

अब राहुल से शुक्रवार को पूछताछ:आज ED ने यंग इंडिया कंपनी और चैरिटी के बारे में पूछा, 3 दिन में 30 घंटे हुए सवाल-जवाब

नई दिल्ली5 महीने पहले

नेशनल हेराल्ड केस में बुधवार को लगातार तीसरे दिन ED ने राहुल गांधी से पूछताछ की। ED ऑफिस पहुंचे राहुल से करीब 8 घंटे तक पूछताछ हुई। उन्हें फिर से पूछताछ के लिए शुक्रवार को बुलाया गया है। सूत्रों के मुताबिक राहुल ने ED को बताया कि नेशनल हेराल्ड की मालिकाना हक वाली यंग इंडिया कंपनी से एक पैसा नहीं निकाला गया है। उन्होंने बताया कि यंग इंडिया एक नॉन-प्रॉफिट कंपनी है।

इसके बाद ED के अफसरों ने राहुल गांधी पर आरोप लगाया कि कंपनी ने 2010 में स्थापना के बाद से कोई चैरिटी का काम भी तो नहीं किया है। अफसरों ने कहा- अगर कंपनी ने कोई चैरिटी की है तो इससे जुड़े डॉक्यूमेंट्स या सबूत जमा करें। राहुल लंच के बाद दोबारा करीब 4 बजे ED ऑफिस पहुंचे थे। लंच से पहले 3.30 घंटे तक ED ने उनसे पूछताछ की। 3 दिन में राहुल से 30 घंटे से ज्यादा वक्त तक पूछताछ हो चुकी है।

सचिन पायलट हिरासत में लिए गए

विरोध प्रदर्शन में शामिल कांग्रेस नेता सचिन पायलट को हिरासत में ले जाती दिल्ली पुलिस।
विरोध प्रदर्शन में शामिल कांग्रेस नेता सचिन पायलट को हिरासत में ले जाती दिल्ली पुलिस।

पूछताछ के खिलाफ कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने दिनभर विरोध किया। वहीं, दिल्ली पुलिस ने विरोध प्रदर्शन में शामिल कांग्रेस नेता सचिन पायलट को बुधवार दोपहर हिरासत में ले लिया। राहुल गांधी से ED की पूछताछ के विरोध में NSUI के दो कार्यकर्ता दिल्ली में पानी की टंकी पर चढ़ गए। मौके पर पहुंची फायर ब्रिगेड की टीम ने उन्हें समझाकर नीचे उतारा।

इससे पहले सुबह जब राहुल ED ऑफिस के लिए रवाना हुए तो पार्टी नेता और कार्यकर्ता सड़क पर प्रदर्शन करने उतर आए। कई महिला कार्यकर्ता पुलिस से भिड़ गईं, पुलिस ने इन्हें हिरासत में ले लिया। वहीं, कांग्रेस कार्यालय में पुलिस की एंट्री पर कार्यकर्ताओं ने टायर जलाकर अपना गुस्सा दिखाया।

आरोप-प्रत्यारोप शुरू
पूरे मामले पर दिल्ली पुलिस ने कहा कि कांग्रेस ने प्रदर्शन की इजाजत नहीं ली थी। कांग्रेस को इस बारे में सूचित किया गया था कि धारा 144 लगाई गई है, इसके बाद भी कार्यकर्ताओं ने हंगामा किया। इसके जवाब में कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि पुलिस पर FIR दर्ज होनी चाहिए। उन्होंने यह भी कहा कि पुलिस की कार्रवाई के विरोध में कांग्रेस कार्यकर्ता शाम 4 बजे देशव्यापी प्रदर्शन करेंगे।

कांग्रेस नेताओं ने की पुलिस कार्रवाई की आलोचना
प्रियंका गांधी वाड्रा के पति रॉबर्ट वाड्रा ने कहा कि प्रशासन के इशारे पर पुलिस ने कांग्रेस कार्यालय में घुसकर नेताओं को पीटा, जो कि बिल्कुल गलत है। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि कार्यकर्ताओं को शांतिपूर्ण प्रदर्शन करने से रोका जा रहा है, यह लोकतंत्र की हत्या है।

भूपेश बघेल ने सरकार पर सवाल उठाते हुए कहा, 'मैं अपने घर में इनसे पूछकर जाऊंगा? मैं अपने कार्यालय इनसे पूछकर जाऊंगा? मैं नक्सल प्रदेश से आता हूं, मुझे Z+ सुरक्षा है। मुझसे कह दिया जाता है कि सिर्फ एक सुरक्षाकर्मी लेकर जाएंगे। मुझे बीच सड़क पर एक घंटे तक रोक दिया जाता है। आखिर साजिश क्या है?'

यह भी पढें: 'राहुल गांधी पर हाथ डालना महंगा पड़ेगा':CM बघेल की चेतावनी

वहीं, कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि कांग्रेस कार्यालय में प्रदर्शन कर रहे कार्यकर्ताओं को रोकने के लिए पुलिस का आना गैरकानूनी था। यह कार्रवाई प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह के कहने पर हुई।

मंगलवार को 4 घंटे से ज्यादा समय पूछताछ की गई
मंगलवार को पूछताछ का दूसरा दिन था। राहुल गांधी से ED अफसरों ने पहले राउंड में 4 घंटे से भी ज्यादा समय तक पूछताछ की। वहीं लंच ब्रेक के बाद करीब 6 घंटे तक सवालों का सिलसिला चलता रहा। अधिक समय तक पूछताछ चलने को लेकर एजेंसी का कहना है कि राहुल के स्टेटमेंट रिकॉर्ड करने में ज्यादा वक्त लग रहा है।

राहुल गांधी कार से जांच एजेंसी के ऑफिस पहुंचे थे। उनके साथ बहन प्रियंका गांधी भी थीं। राहुल को छोड़ने के बाद प्रियंका वहां से चली गईं। दोनों दिन कांग्रेस कार्यालय के बाहर हुए हंगामे के कारण वहां धारा 144 लागू कर दी गई है।

मंगलवार को राहुल के साथ पैदल मार्च करके जा रहे कांग्रेस नेता रणदीप सिंह सुरजेवाला को घसीटकर पुलिस ने वैन में बैठा लिया। मार्च में शामिल अन्य नेताओं को भी पुलिस ने हिरासत में ले लिया। सुरजेवाला ने आरोप लगाया है कि प्रदर्शन के दौरान उन्हें चोट आई है। पी चिदंबरम को भी पसली में चोट आई है।

राहुल-सोनिया पर 50 लाख लगाकर 2000 करोड़ बनाने का केस, समझिए क्या है नेशनल हेराल्ड का पूरा किस्सा

CM बघेल की पुलिस से झड़प बोले- आप सीएम को नहीं रोक सकते

कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे, राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत और छत्तीसगढ़ के CM भूपेश बघेल कांग्रेस दफ्तर से साथ निकले।
कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे, राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत और छत्तीसगढ़ के CM भूपेश बघेल कांग्रेस दफ्तर से साथ निकले।

कांग्रेस कार्यालय के पास लगे बैरिकेड पर रोके जाने पर छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की दिल्ली पुलिस से झड़प हो गई। उन्होंने पुलिस से कहा- आप एक मुख्यमंत्री को नहीं रोक सकते हैं, लेकिन पुलिस ने उन्हें नहीं जाने दिया। इससे पहले राहुल अपने घर से प्रियंका गांधी के साथ कांग्रेस मुख्यालय पहुंचे। जहां कांग्रेस के तमाम नेताओं ने ओपन एरिया में बातचीत की। यहां से रणनीति तैयार होने के बाद राहुल ED दफ्तर के लिए रवाना हुए।

ये नेता हिरासत में

रणदीप सिंह सुरजेवाला, हरीश रावत, केसी वेणुगोपाल, अधीर रंजन चौधरी, गौरव गोगोई, दीपेंद्र सिंह हुड्‌डा, रंजीत रंजन, इमरान प्रतापगढ़ी समेत कई कार्यकर्ताओं को पुलिस ने अकबर रोड से हिरासत में ले लिया। इन्हें बद्रपुर थाने ले जाया गया। सोमवार को करीब एक हजार कांग्रेस कार्यकर्ताओं को दिल्ली पुलिस ने हिरासत में लिया था, जिन्हें देर रात छोड़ दिया गया था।

राहुल के पास 16 करोड़ की प्रॉपर्टी; लेकिन खुद की कार तक नहीं, 72 लाख का कर्ज

ED के अफसरों ने पूछा- मोबाइल तो नहीं है? राहुल गांधी ने कहा- चेक कर लीजिए ये आपकी ड्यूटी है

ED ने सोनिया को भी बुलाया
ED ने कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी को 23 जून को पूछताछ के लिए बुलाया है। इससे पहले 8 जून को पूछताछ के लिए समन किया था, लेकिन 1 जून को वे कोरोना पॉजिटिव हो गई थीं। इसी वजह से वे पेश नहीं हो पाईं। वहीं, रविवार को कोरोना के चलते सोनिया की तबीयत बिगड़ गई। दिल्ली के सर गंगाराम अस्पताल में उनका इलाज चल रहा है।

केस को ऐसे समझिए​​​
1938 में कांग्रेस पार्टी ने एसोसिएट जर्नल्स लिमिटेड (AJL) बनाई थी। इसी के तहत नेशनल हेराल्ड अखबार निकाला जाता था। 26 फरवरी 2011 को AJL पर 90 करोड़ से ज्यादा का कर्ज था और इसी को खत्म करने के लिए एक और कंपनी बनाई गई। जिसका नाम था यंग इंडिया लिमिटेड। इसमें राहुल और सोनिया की हिस्सेदारी 38-38% थी।

यंग इंडिया को AJL के 9 करोड़ शेयर दिए गए। कहा गया कि इसके एवज में यंग इंडिया AJL की देनदारियां चुकाएगी, लेकिन शेयर की हिस्सेदारी ज्यादा होने की वजह से यंग इंडिया को मालिकाना हक मिला। AJL की देनदारियां चुकाने के लिए कांग्रेस ने जो 90 करोड़ का लोन दिया था, वह भी बाद में माफ कर दिया गया।

55 करोड़ की हेराफेरी का है आरोप
2012 में सुब्रमण्यम स्वामी ने सोनिया और राहुल के खिलाफ कोर्ट में केस दर्ज कराया था। इसमें स्वामी ने गांधी परिवार पर 55 करोड़ की गड़बड़ी का आरोप लगाया था। हालांकि इस केस में ED की एंट्री साल 2015 में हुई।

राहुल बोले-अगर रात को रुकना हो तो डिनर के बाद आऊं; जांच एजेंसी ने आज फिर बुलाया