विज्ञापन

नाेटबंदी के बाद इतने लाख लोगों की चली गई नौकरियां, इस तरह से हुआ लोगों को नुकसान

DainikBhaskar.com

Apr 17, 2019, 01:39 PM IST

चुनाव के दौरान इस यूनिवर्सिटी ने जारी की चौंकाने वाली रिपोर्ट

50 lakh lost jobs over two year azim premji university report reveal
  • comment

नेशनल डेस्क, नई दिल्ली भारत में 2016 से 2018 के बीच करीब 50 लाख लोगों ने नौकरी गंवाई थी। 2016 नवंबर में ही मोदी ने नोटबंदी का ऐलान किया था। इसके बाद कई सेक्टर्स में लाखों नौकरियां खत्म हो गईं। बेंगलुरू स्थित अजीम प्रेमजी यूनिवर्सिटी की ओर से जारी रिपोर्ट में ये बात कही गई है।

- रिपोर्ट के मुताबिक, 2016 की तीसरी तिमाही यानी सितंबर 2016 से दिसंबर 2016 के बीच शहरी और ग्रामीण लोगों की लेबर पार्टिशिपेशन फोर्स में भागीदारी अचानक कम होने लगी। फिर सितंबर 2016 नौकरियों में कमी आने लगी। 2017 की दूसरी तिमाही में इसकी दर में थोड़ी कम आई, लेकिन बाद में नौकरियों की संख्या लगातार कम होती गई, जिसमें कोई सुधार नहीं हुआ।
- नोटबंदी के वक्त से ही नौकरियों में गिरावट की शुरुआत हुई। जनवरी-अप्रैल 2016 से सितंबर-दिसंबर 2018 तक, शहरी पुरुष एलएफपीआर की दर 5.8 फीसदी, जबकि उसी आयु समूह में डब्ल्यूपीआर की दर 2.8 तक गिर गई है। साथ ही नोटबंदी से भविष्य में भी नौकरी का संकट होने की बात कही गई है और अभी रिपोर्ट का दावा है कि अब तक नोटबंदी के बाद बने हालात सुधरे नहीं है। वहीं, रिपोर्ट में कहा गया है कि 20-24 आयु वर्ग में सबसे ज्यादा बेरोजगारी है और नोटबंदी से पुरुषों के मुकाबले महिलाएं ज्यादा प्रभावित हुई हैं।
- साल 2016 और 2018 के बीच भारत में काम करने वाले पुरुषों की आबादी में 16.1 मिलियन की वृद्धि हुई। वहीं, इसके उलट इस अवधि के दौरान डब्ल्यूपीआर की मात्रा में 50 लाख नौकरियों का नुकसान हुआ है।
- बता दें कि अभी तक इस रिपोर्ट में पुरुषों के आंकड़ों को ही शामिल किया गया है। बता दें कि श्रम बल भागीदारी दर को एलएफपीआर कहा जाता है। अगर इसमें महिला कर्मचारियों के आंकड़े शामिल किए जाते हैं तो इस संख्या में और भी इजाफा हो सकता है।
- हालांकि लोकसभा चुनाव के दौरान ये रिपोर्ट सामने आने से विरोधी पार्टियों को सरकार पर हमला बोलने का एक और मौका मिलेगा। दरअसल विरोधी पार्टियां लंबे वक्त से रोजगार के मुद्दे पर सरकार को घेरने की कोशिश की गई है।

X
50 lakh lost jobs over two year azim premji university report reveal
COMMENT
Astrology
Click to listen..
विज्ञापन

किस पार्टी को मिलेंगी कितनी सीटें? अंदाज़ा लगाएँ और इनाम जीतें

  • पार्टी
  • 2019
  • 2014
336
60
147
  • Total
  • 0/543
  • 543
कॉन्टेस्ट में पार्टिसिपेट करने के लिए अपनी डिटेल्स भरें

पार्टिसिपेट करने के लिए धन्यवाद

Total count should be

543
विज्ञापन