• Hindi News
  • National
  • 517 Crores On 58 Foreign Visits Of Prime Minister Modi In Five Years. Expenses Incurred; Made 5 Visits To America, Russia And China

पीएम के विदेश दौरों के खर्च का हिसाब-किताब:पांच साल में प्रधानमंत्री मोदी ने 58 विदेश यात्राएं कीं, इसमें 517 करोड़ रु. खर्च हुए, अमेरिका-रूस और चीन के 5 दौरे भी शामिल

नई दिल्लीएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
प्रधानमंत्री मोदी और चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग की यह फोटो 28 अप्रैल 2018 की है। उस समय मोदी चीन के दौरे पर पहुंचे थे। - Dainik Bhaskar
प्रधानमंत्री मोदी और चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग की यह फोटो 28 अप्रैल 2018 की है। उस समय मोदी चीन के दौरे पर पहुंचे थे।
  • प्रधानमंत्री का आखिरी विदेश दौरा नवम्बर 2019 में हुआ था, उस महीने वह ब्राजील और थाईलैंड के दौरे पर गए थे
  • पीएम मोदी ने बीते पांच साल में अमेरिका, रूस, चीन, सिंगापुर, जर्मनी, फ्रांस, संयुक्त अरब अमीरात श्रीलंका की भी यात्राएं की

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बीते 5 साल में 58 देशों का दौरा किया है। इस पर 517 करोड़ रु. खर्च हुए हैं। उन्होंने सबसे ज्यादा पांच-पांच बार अमेरिका और रूस के दौरे किए हैं। पीएम मोदी ने भारत के साथ सीमा विवाद में उलझे चीन का भी 5 बार दौरा किया। उन्होंने सिंगापुर, जर्मनी, फ्रांस, संयुक्त अरब अमीरात और श्रीलंका की यात्राएं भी की हैं।

विदेश राज्य मंत्री वी. मुरलीधरन ने मंगलवार को राज्यसभा में एक सवाल के जवाब में यह जानकारी दी। प्रधानमंत्री का आखिरी विदेश दौरा नवम्बर 2019 में हुआ था। उस समय वह ब्रिक्स देशों (ब्राजील, रूस, भारत, चीन और साउथ अफ्रीका) के सम्मिट में शामिल होने ब्राजील गए थे। इसी महीने उन्होंने थाईलैंड का दौरा भी किया था। कोरोना महामारी की वजह से इस साल प्रधानमंत्री का कोई विदेश दौरा नहीं हुआ।

दौरों के मामले पर प्रधानमंत्री का बचाव करने की कोशिश की

विदेश राज्य मंत्री ने संसद में विदेश दौरे पर हुए खर्च को लेकर प्रधानमंत्री का बचाव करने की भी कोशिश की। उन्होंने कहा- पीएम के इन दौरों से दूसरे देशों में द्विपक्षीय, क्षेत्रीय और वैश्विक मुद्दों पर भारत के विचारों की समझ बढ़ी। इससे ट्रेड और इन्वेस्टमेंट, टेक्नोलॉजी, रक्षा सहयोग समेत कई क्षेत्रों में आर्थिक संबंध मजबूत हुए।

2014 से 2018 के बीच पीएम के दौरे पर 2 हजार करोड़ रु. खर्च हुए

दिसंबर 2018 में सरकार ने 2014 के बाद से प्रधानमंत्री के विदेश दौरों पर 2 हजार करोड़ रु. खर्च होने की जानकारी दी थी। इसमें उनके चार्टर्ड फ्लाइट, प्लेन की देखरेख और हॉटलाइन सुविधा पर आने वाला खर्च शामिल था। उस समय विदेश मंत्री रहे जनरल वीके सिंह ने बताया था कि 1583.18 करोड़ रुपए प्रधानमंत्री मोदी के प्लेन की देखरेख पर खर्च हुए थे।

वहीं, 15 जून 2014 और 3 दिसंबर 2018 के बीच उनके चार्टर्ड फ्लाइट्स पर 429.25 करोड़ और हॉटलाइन सुविधाओं पर 9.11 करोड़ रु. का खर्च आया था।

पीएम के दौरों पर विपक्ष भी सवाल उठा चुका है
पीएम मोदी के विदेश दौरों पर विपक्षी पार्टियां कई बार सवाल उठा चुकी हैं। विपक्ष ने समय-समय पर उनके विदेश दौरों की टाइमिंग पर भी सवाल किए हैं। पिछले साल लोकसभा चुनाव से पहले अप्रैल-मई में कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने देश के कृषि क्षेत्र में संकट होने के बावजूद प्रधानमंत्री के विदेश दौरे पर जाने का मुद्दा उठाया था। हालांकि, इसके बावजूद चुनाव में पीएम मोदी की अगुआई वाली भाजपा ने बहुमत हासिल किया था।

खबरें और भी हैं...