पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • 9 Out Of 11 Lions Also Infected In Chennai Zoo, Swab And Stool Samples Were Sent To Bhopal

शेरों पर कोरोना का खतरा:चेन्नई से सटे वंडालूर में जूलॉजिकल पार्क में 9 साल की शेरनी की मौत, 11 में से 9 शेर संक्रमित

चेन्नई11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

कोरोना वायरस से इंसानों के बाद अब जानवरों की भी मौत होने लगी है। चेन्नई से लगे वंडालूर के अरिग्नार अन्ना जूलॉजिकल पार्क में संक्रमण से 9 साल की शेरनी नीला की 3 जून को शाम करीब 6.15 बजे मृत्यु हो गई। नीला सिम्टोमेटिक थी और केवल एक दिन पहले ही उसके नाक से कुछ स्राव दिखा था।

इतना ही नहीं, यहां 11 में से 9 शेरों की रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई है। इनके मल और स्वाब की जांच भोपाल में की गई थी। हालांकि, इनकी रिपोर्ट को और पुख्ता करने के लिए शुक्रवार को इनके सैंपल भारतीय पशु चिकित्सा अनुसंधान संस्थान (बरेली) और सेंटर फॉर सेल्युलर एंड मॉलिक्यूलर बायोलॉजी (हैदराबाद) को भेजे गए हैं। फिलहाल सभी शेरों को मेडिकल ऑब्जर्वेशन में रखा गया है।

रिपोर्ट के मुताबिक, शेरों और बाघों में कोरोना संक्रमण पहली बार बार्सिलोना (स्पेन) और अमेरिका के ब्रोंक्स चिड़ियाघरों में मिला था।

शेरों और बाघों में कोरोना संक्रमण पहली बार बार्सिलोना (स्पेन) और अमेरिका के ब्रोंक्स चिड़ियाघरों में मिला था।
शेरों और बाघों में कोरोना संक्रमण पहली बार बार्सिलोना (स्पेन) और अमेरिका के ब्रोंक्स चिड़ियाघरों में मिला था।

भूख न लगने और खांसने के मिले लक्षण
चिड़ियाघर की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि, संक्रमण के लक्षण 26 मई को देखे गए थे। सफारी पार्क क्षेत्र के एनिमल हाउस 1 में रखे गए 5 शेरों को एनोरेक्सिया (भूख न लगना) और कभी-कभी खांसने के लक्षणों का पता चला था। शेरों के ब्लड के नमूनों को तमिलनाडु वेटनरी और एनिमल साइंस यूनिवर्सिटी (TANUVAS) भेजा गया है।

वहीं नाक के स्वाब, रेक्टल स्वाब और 11 शेरों के मल के नमूने राष्ट्रीय उच्च सुरक्षा रोग संस्थान भोपाल भेजे गए हैं। जो कोरोना वायरस के टेस्ट के लिए अधिकृत 4 नामित संस्थानों में से एक है। पार्क अथॉरिटी ने बताया कि, यहां सभी स्टाफ को वैक्सीन लगाई जा चुकी है।

5 शेरों को एनोरेक्सिया (भूख न लगना) और कभी-कभी खांसने के लक्षणों का पता चला था।
5 शेरों को एनोरेक्सिया (भूख न लगना) और कभी-कभी खांसने के लक्षणों का पता चला था।

देश का पहला मामला हैदराबाद के जू में मिला
शेरों में कोरोना संक्रमण का पहला मामला हैदराबाद में मिला था, यहां 8 शेरों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। यह देश का पहला मामला था, जिसमें जानवरों में कोरोना वायरस के संक्रमण पाए गए थे। इसके कुछ दिनों बाद उत्तर प्रदेश में इटावा के जू में एक शेर संक्रमित पाया गया। एक अन्य शेर में भी लक्षण पाए गए थे।

भारतीय पशु चिकित्सा अनुसंधान संस्थान के संयुक्त निदेशक डॉ के पी सिंह के अनुसार, इटावा सफारी पार्क में 14 एशियाई शेरों के नमूने RT-PCR के लिए भेजे गए थे। 6 मई को एक शेर की रिपोर्ट पॉजिटिव मिली, जबकि दूसरे को संदिग्ध माना गया। शेष 12 शेरों की रिपोर्ट निगेटिव मिली।

खबरें और भी हैं...