• Hindi News
  • National
  • Greta Thunberg Is A 16 year old Climate Activist Who Has Inspired Thousands Of Young People Worldwide

स्कूल जाना बंद करके दुनियाभर में फेमस हुई थी 16 साल की ये लड़की, अब पीएम मोदी के नाम भेजा खास संदेश

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

स्टॉकहोम. स्वीडन की 16 साल की एक क्लाइमेट एक्टिविस्ट (जलवायु कार्यकर्ता) ने भारत के प्रधानमंत्री मोदी से जलवायु परिवर्तन रोकने की दिशा में कुछ गंभीर कदम उठाने की मांग की है। उसका कहना है कि अगर आप ऐसा करने में नाकामयाब साबित हुए तो मानव इतिहास में आपको एक बड़े खलनायक के रूप में देखा जाएगा। ये मैसेज ग्रेटा थुनबर्ग नाम की लड़की ने दिया है, जो बीते साल 'स्कूल स्ट्राइक' करते हुए स्वीडिश संसद भवन के सामने धरने पर बैठ गई थी। उसके इस अभियान को अन्य स्टूडेंट्स का भी जमकर सपोर्ट मिला था। अब लड़की ने दुनियाभर के राष्ट्राध्यक्षों के नाम अलग-अलग वीडियो मैसेज जारी करते हुए उनसे जलवायु परिवर्तन को लेकर कुछ गंभीर कदम उठाने के लिए कहा है।

मोदी के नाम संदेश में ये बोली लड़की

- प्रधानमंत्री मोदी के नाम जारी किए संदेश में लड़की ने कहा, 'प्रिय श्रीमान मोदी, जलवायु परिवर्तन की समस्या को लेकर अब सिर्फ बात करने से काम नहीं चलेगा, बल्कि अब आपको इस बारे में कोई ठोस कदम उठाना ही होगा। क्योंकि अगर आप पहले की तरह चलते रहे, पहले की तरह व्यापार करते रहे, और छोटी-छोटी सफलताओं के बारे में बात करते रहे, तो आप नाकाम होने जा रहे हैं और अगर आप फेल हुए तो मानव इतिहास के भविष्य में आपको एक बहुत बड़े खलनायक के रूप में याद रखा जाएगा। और आप ऐसा नहीं करना चाहेंगे।'
- ग्रेटा ने अगस्त 2018 में अपने जलवायु के लिए स्कूल हड़ताल (School strike for climate) अभियान की बदौलत दुनियाभर का ध्यान खींचा था। क्लाइमेट चेंज के विरोध में उसने हफ्ते भर के लिए स्कूल जाना बंद कर दिया था और स्वीडिश संसद के सामने धरने पर बैठ गई थी। थुनबर्ग का ये अभियान यूरोप में काफी फेमस हो गया था, और हजारों स्कूलों के बच्चों ने उसके सपोर्ट में स्कूल जाना बंद कर दिया था।

- भले ही लड़की ने मोदी के नाम संदेश जारी किया हो, लेकिन जलवायु परिवर्तन रोकने के लिए भारत कितना गंभीर है उसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि प्रधानमंत्री के किए कामों को देखने के बाद संयुक्त राष्ट्र ने पिछले साल उन्हें सर्वोच्च पर्यावरण पुरस्कार 'चैम्पियंस ऑफ द अर्थ' का अवॉर्ड दिया था। लड़की का ये वीडियो मैसेज BRUT INDIA ने अपने ट्विटर अकाउंट पर शेयर किया है।

इस भाषण से हुई थी दुनियाभर में फेमस

- दिसंबर 2018 में पौलेंड में हुई UN क्लाइमेट चेंज कॉन्फ्रेंस में दिए अपने तीखे भाषण के बाद ग्रेटा जलवायु परिवर्तन के खिलाफ लड़ाई का बड़ा चेहरा बनकर उभरी थी। वहां दिए भाषण में उसने कहा था कि हमें धरती के नीचे मौजूद तेल और खनिज भंडारों को बचाने की जरूरत है, साथ ही दुनिया में समानता लाने पर ध्यान देने की जरूरत है।
- पौलेंड में हुई इस कॉन्फ्रेंस में दुनिया के बड़े-बड़े राजनेताओं, क्लाइमेट चेंज साइंटिस्ट्स और जर्नलिस्ट्स की मौजूदगी में उसने कहा था अगर सिस्टम के अंदर रहकर समाधान नहीं खोजा जा सकता तो फिर हमें सिस्टम को ही बदल देना चाहिए।
- उसने कहा था, हम यहां विश्व नेताओं से पर्यावरण की रक्षा के लिए भीख मांगने नहीं आए हैं, आपने पहले भी हमें नजरअंदाज किया था, और आगे भी आप ऐसा ही करेंगे। अब वक्त हमारे हाथ से निकल रहा है और हम बहानों से तंग आ चुके हैं।