केजरीवाल ने AAP को बताया कान्हा:कहा- पार्टी भ्रष्टाचार और महंगाई जैसे राक्षसों का वध कर रही, कुछ लोग सिर्फ भाषण देते हैं

नई दिल्ली16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने रविवार को एक कार्यक्रम के दौरान आम आदमी पार्टी को कान्हा बताया है। उन्होंने कहा कि AAP भी पिछले 10 सालों से कान्हा की तरह महंगाई, बेरोजगारी, भ्रष्टाचार जैसे राक्षसों का वध कर रही है। इस दौरान केजरीवाल ने पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए कहा, कुछ लोग लालकिले से कहते हैं कि मैं भ्रष्टाचार से लड़ रहा हूं। असल में वो नहीं आम आदमी पार्टी करप्शन से लड़ रही है। केजरीवाल ने कहा कि श्रीकृष्ण जी जब बच्चे थे तो लोग उन्हें प्यार से कान्हा कहते थे। कान्हा ने बड़े-बड़े राक्षसों का वध किया था, आम आदमी पार्टी भी वही काम कर रही है। अगर दूसरी पार्टी वालों ने यह काम कर लिया होता तो हमें लोग लात मार कर भगा देते।

दिल्ली में सब फ्री, फिर भी सरकार पर कर्ज नहीं: केजरीवाल
आम आदमी पार्टी की ईमानदारी, शिक्षा, स्वास्थ्य सेवा और फ्रीबी लोगों को पसंद आ रही है। उन्होंने कहा कि आम आदमी पार्टी ने मुफ्त की रेवड़ी इंट्रोड्यूस किया है, जो ना इनसे खाते बन रही है ना उगलते। खबरें हैं कि सरकार घाटे में जा रही है। उस पर 3.5 लाख करोड़ रुपए का कर्ज है, इन्होंने तो फ्रीबीज भी नहीं दी फिर इनपर कर्ज कैसे चढ़ गया। दिल्ली में सब कुछ फ्री मिल रहा है फिर भी सरकार पर कर्ज नहीं है।

दिल्ली सीएम ने बताए राजनीति के दो किस्म
केजरीवाल ने कहा कि राजनीति दो किस्म की होती है। एक में लोग पैसे कमाते हैं, अपने घर भरते हैं फिर उनकी पुश्ते बैठकर खाएंगी। वहीं, दूसरी तरह की राजनीति में जनता को जरूरत की चीजें फ्री मिल रही है। कुछ लोग फ्री में मिल रही सुविधाओं को सही नहीं मानते हैं, ये वही लोग हैं जो राजनीति के रास्ते अपना पेट भरना चाहता है।

दिल्ली सीएम ने कहा कि मैंने स्वतंत्रता संग्राम नहीं देखा, लेकिन आज हमारी पार्टी का एक-एक विधायक देश के लिए लड़ रहा है। उन्हें 25-25 करोड़ का ऑफर दिया जा रहा है, लेकिन वो पैसे को ठुकराकर जांच एजेंसियों का सामना कर रहे हैं। अगर भाजपा सबको जेल में भी डाल दे तो हम पीछे नहीं हटेंगे।

केजरीवाल बोले- सिर्फ भाषण से भारत विश्व गुरू नहीं बन सकता
अगर भारत को विश्व गुरु बनाना है तो विदेशों में भाषण देने से कुछ नहीं होगा। इसके लिए हमें स्कूल बनाने पड़ेंगे, शिक्षा, स्वास्थ्य, महिला सुरक्षा, किसानों की आय, रोजगार और इंफ्रास्ट्रक्चर पर काम करना होगा। फिर भारत को दुनिया में नंबर वन देश बनने से कोई रोक नहीं सकता।