बड़ा खुलासा : अभिनंदन को तोड़ने के लिए डाली जाती थी तेज रोशनी, तेज आवाज में सुनाए जाते थे गाने... शुरुआती 24 घंटे में पाकिस्तान में ऐसे किया गया था टॉर्चर / बड़ा खुलासा : अभिनंदन को तोड़ने के लिए डाली जाती थी तेज रोशनी, तेज आवाज में सुनाए जाते थे गाने... शुरुआती 24 घंटे में पाकिस्तान में ऐसे किया गया था टॉर्चर

रिपोर्ट्स के मुताबिक, मेडिकल जांच में पाया गया है कि पैराशूट पर उतरने के कारण अभिनंदन की पीठ में दिक्कत हो सकती है।

DainikBhaskar.com

Mar 05, 2019, 04:09 PM IST
Abhinandan to loud music & bright lights to break him in Pakistan

नेशनल डेस्क, नई दिल्ली. विंग कमांडर अभिनंदन 60 घंटे तक पाकिस्तान की हिरासत में थे। इस दौरान उन्हें बुरी तरह से टॉर्चर किया गया। द प्रिंट वेबसाइट में छपी एक रिपोर्ट के मुताबिक अभिनंदन को लगातार 24 घंटे तक जगाए रखा गया, सोने नहीं दिया जाता था। वो टूट जाएं.... पाकिस्तान जो चाहता है वो बता दें, इसलिए उनपर तेज रोशनी डाली जाती थी। तेज आवाज में म्यूजिक सुनाए जाते थे। इस सबके बाद भी पाकिस्तान के हाथ कुछ नहीं लगा। बता दें कि मेडिकल जांच में पाया गया है कि पैराशूट से उतरने की वजह से अभिनंदन की पीठ में चोट लग गई है।

- सूत्रों के मुताबिक अभिनंदन को टॉर्चर करके के पीछे मकसद उन्हें तोड़ना था। इसीलिए शुरू के 24 घंटे तक उन्हें सोने की परमीशन नहीं थी। अभिनंदन ने पाकिस्तान ने कई अफसरों ने बार-बार सवाल किए, लेकिन उन्होंने पाक अफसरों को कुछ नहीं बताया। इसके बाद ISI एजेंट्स को बुलाया गया। फिर उन्होंने अभिनंदन को टॉर्चर करना शुरू किया। उनके चेहरे पर तेज रोशनी डाली जाती, तेज आवाज में म्यूजिक बजाया जाता, लेकिन अभिनंदन नहीं टूटे। आखिर में पाकिस्तान को मजबूरी में अभिनंदन को छोड़ना पड़ा।

जल्द उड़ाना चाहते हैं लड़ाकू विमान : 60 घंटे पाकिस्तान की हिरासत में रहने के बाद भारत लौटे विंग कमांडर अभिनंदन जल्द से जल्द दोबारा लड़ाकू विमान उड़ाना चाहते हैं। रविवार को मिलने पहुंचे वायु सेना के शीर्ष अधिकारियों और इलाज कर रहे डॉक्टरों से उन्होंने कहा कि वह जल्द कॉकपिट में लौटना चाहते हैं।


- सेना के एक अधिकारी ने बताया कि उन्हें जल्द कॉकपिट में भेजने के प्रयास किए जा रहे हैं। अभिनंदन का दो दिन से सेना के रिसर्च अस्पताल में इलाज चल रहा है। कूलिंग डाउन प्रक्रिया के तहत उनके कई टेस्ट भी किए गए हैं। रविवार को सुरक्षा एजेंसियों ने भी उनसे पूछताछ की। अभिनंदन को 17 अप्रैल को पहला भगवान महावीर अहिंसा पुरस्कार मिलेगा। अखिल भारतीय दिगंबर जैन महासमिति ने यह पुरस्कार शुरू किया है। अभिनंदन को 2.51 लाख नगद और प्रशस्ति पत्र दिया जाएगा।

X
Abhinandan to loud music & bright lights to break him in Pakistan
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना