पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • Sonia Gandhi Congress Leader । Mallikarjun Kharge Writes । PM Narendra Modi । Covid 19 । Offers 6 Suggestions

कांग्रेस नेता खड़गे की मोदी को सलाह:राहत सामग्री बांटने में प्रवासी मजदूरों की मदद लें, वैक्सीन और मेडिकल इक्विपमेंट पर टैक्स में छूट मिले

नई दिल्लीएक महीने पहले

कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी के बाद अब पार्टी के वरिष्ठ नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को खत लिखकर सलाह दी है। राज्यसभा में विपक्ष के नेता खड़गे ने रविवार को लिखे पत्र में कहा कि सरकार को वैक्सीन और मेडिकल इक्विपमेंट पर टैक्स में छूट देनी चाहिए।

उन्होंने आगे कहा कि वैक्सीनेशन के लिए अलॉट किए गए 35 हजार करोड़ रुपए को खर्च किया जाए और ये सुनिश्तिच करना चाहिए की देश के हर व्यक्ति का वैक्सीनेशन हो सके। उन्होंने कहा कि विदेशों से आ रही राहत सामग्री को बंटवाने के लिए प्रवासी मजदूरों की मदद ली जानी चाहिए। ये काम मनरेगा के तहत करवाया जाए। हाल ही के दिनों में कांग्रेस नेता राहुल गांधी और पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी के बाद प्रधानमंत्री मोदी को पत्र लिखने वाले खड़गे तीसरे कांग्रेस नेता हैं।

मोदी सरकार को दीं ये 6 सलाह

  1. वैक्सीन बनाने वाली कंपनियों को कंपलसरी लाइसेंस दिए जाने चाहिए।
  2. मेडिकल से जुड़े जरूरी सामानों पर टैक्स में छूट मिलनी चाहिए।
  3. वैक्सीन पर 5%, PPE किट पर 5 से 12%, एंबुलेंस पर 28% और ऑक्सीजन कंसंट्रेटर पर 12% छूट मिले।
  4. प्रवासी मजदूरों को मनरेगा के तहत 100 की जगह 200 दिन का रोजगार मिले।
  5. केंद्र सरकार को तुरंत सभी पार्टियों की मीटिंग बुलानी चाहिए।
  6. महामारी से लड़ने के लिए सबकी सहमति से एक ब्लूप्रिंट तैयार हो सके।

कर्तव्य भूली केंद्र सरकार
खड़गे ने लिखा है कि ये सब की सहमति को ध्यान में रखते हुए सामूहिक निर्णय लेने का समय है। सिटीजन ग्रुप और सिविल सोसायटी के लोग कोरोना से लंबी लड़ाई लड़ रहे हैं। ऐसा इसलिए हो रहा है क्योंकि केंद्र सरकार अपने कर्तव्यों का पालन करती नहीं दिख रही है। आम भारतीय आज इस स्थिति में पहुंच चुका है कि उसे अपनों का इलाज करने के लिए जमीन, गहनें बेचने पड़ रहे हैं। लोगों को अपनी जमापूंजी खर्च करनी पड़ रही है।

सोनिया ने कहा था- सिस्टम नहीं, मोदी सरकार फेल
कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने 7 मई को पत्र लिखकर मोदी सरकार पर निशाना साधा था। उन्होंने कहा था कि महामारी के दौर में सिस्टम नहीं बल्कि मोदी सरकार फेल हुई है। केंद्र सरकार रिसोर्स का सही तरह से उपयोग नहीं कर पा रही है। सोनिया ने कहा था कि पूरे देश में फ्री वैक्सीनेशन के लिए संसद से 35 हजार करोड़ रुपए का बजट जारी हुआ था। इसके बाद भी मोदी सरकार पहले से परेशान राज्य सरकारों पर बोझ डाल रही है। उन्होंने कांग्रेस पार्लियामेंट्री पार्टी की बैठक में ये बातें कहीं।

हजारों की मौत, लाखों दर-दर भटक रहे
सोनिया गांधी ने कहा था कि भारत इस समय हेल्थ क्राइसिस से गुजर रहा है। हजारों लोगों की मौत हो चुकी है और लाखों लोग अस्पताल, ऑक्सीजन, वैक्सीन और जीवनरक्षक दवाओं के लिए परेशान हो रहे हैं। हालात, दिल तोड़ने वाले हैं। लोग अस्पताल, अपनी गाड़ियों और सड़क में तक जिंदगी के लिए जद्दोजहद कर रहे हैं। मोदी सरकार को संक्रमण से मरते लोगों की फिक्र नहीं है। ऐसे समय लोगों के प्रति सरकार की जिम्मेदारी और ज्यादा बढ़ जाती है।