• Hindi News
  • National
  • Agnipath Scheme Controversy; Narendra Modi Govt | Announces 10% Reservation For Agniveers

अग्निपथ से सुलगा देश:गृह मंत्रालय के बाद अब रक्षा मंत्रालय की नौकरियों में भी अग्निवीरों को 10 फीसदी आरक्षण

नई दिल्ली4 महीने पहले

देश के अलग-अलग राज्यों में अग्निपथ के खिलाफ हो रहे प्रदर्शन तेज हो गए हैं। इस बीच रक्षा मंत्रालय ने भी अग्निवीरों को अपने मंत्रालय में होने वाली भर्तियों में 10 फीसदी आरक्षण देने का ऐलान किया है। रक्षा मंत्रालय के इंडियन कोस्ट गार्ड और डिफेंस सिविलियन पोस्ट के साथ डिफेंस पब्लिक सेक्टर अंडरटेकिंग की 16 कंपनियों में भी नियुक्तियों में आरक्षण मिलेगा।

इससे पहले गृह मंत्रालय ने भी सुबह अग्निवीरों के लिए CAPFs (केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल) और असम राइफल्स में भर्ती के लिए 10% आरक्षण देने का फैसला लिया है। इन्हें आयु सीमा में भी 3 से 5 साल की राहत देने का ऐलान किया गया है।

कई मंत्रालय तलाश रहे रियायतों का रास्ता
सिविल एविएशन, खेल, हाउसिंग और पेट्रोलियम मंत्रालय भी अग्निवीरों को नौकरियों में रियायत देने का रास्ता तलाश रहे हैं। भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्‌डा ने योजना का विरोध कर रहे लोगों से अपील की है कि वे पीएम नरेंद्र मोदी पर भरोसा रखे और आंदोलन खत्म कर बातचीत का रास्ता चुनें।

इधर, यूपी में तीसरे दिन भी बवाल जारी है। जौनपुर में उपद्रवियों ने दो रोडवेज बसें और कई बाइक जला दी। वहीं, बिहार में फायरिंग की गई। राजस्थान में भी आज युवा बड़ी संख्या में प्रदर्शन कर रहे हैं। सरकार की ओर से योजना में किए गए संशोधन के बाद भी हालात नहीं सुधर रहे हैं। सुरक्षा को देखते हुए रेलवे ने शनिवार को 369 ट्रेनें रद्द कर दीं। योजना का विरोध कर रहे युवकों ने दो दिन में ट्रेनों की करीब 60 बोगियों में आग लगा दी है। यूपी के अलीगढ़ में 9 कोचिंग संस्थान चलाने वालों के साथ ही 35 लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

केंद्रीय सशस्त्र बल और असम रायफल्स में भी 10% आरक्षण
गृह मंत्रालय ने अग्निवीरों के लिए CAPFs (केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल) और असम राइफल्स में भर्ती के लिए 10% आरक्षण देने का फैसला लिया है। दो बलों में भर्ती के लिए अग्निवीरों को ऊपरी आयु सीमा से 3 वर्ष की छूट दी गई। अग्निवीर के पहले बैच के लिए आयु में अधिकतम आयु सीमा से 5 वर्ष की छूट होगी।

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने ऐलान किया है कि अग्निवीरों को रिटायरमेंट के बाद सस्ता लोन दिया जाएगा और सरकारी नौकरियों में प्राथमिकता दी जाएगी। ये युवा आजीवन अग्निवीर कहलाएंगे। ट्रेनिंग क्वालिटी से समझौता नहीं किया जाएगा।

हिंसा की SIT से जांच की मांग, सुप्रीम कोर्ट में लगाई याचिका
इधर, सुप्रीम कोर्ट में अग्निपथ को लेकर जनहित याचिका दायर की गई है। याचिका में अग्निपथ योजना की समीक्षा के लिए एक्सपर्ट पैनल के गठन और अग्निपथ को लेकर हुई हिंसा की SIT से जांच कराने की मांग की गई है।

19 जून को कांग्रेस का प्रदर्शन का ऐलान
अग्निपथ योजना के खिलाफ देश भर में मचे बवाल के बीच कांग्रेस पार्टी ने भी प्रदर्शन का ऐलान किया है। कांग्रेस के नेता रविवार को दिल्ली के जंतर-मंतर पर प्रदर्शन करेंगे, इसमें पार्टी के सभी बड़े नेता शामिल होंगे।

KCR ने मृतक के परिजन को 25 लाख का ऐलान किया
तेलंगाना के मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव ने शुक्रवार को अग्निपथ के विरोध में हुए प्रदर्शन में मारे गए व्यक्ति के परिजन को 25 लाख रुपए की सहायता देने का ऐलान किया है। युवक अग्निपथ के खिलाफ धरने में शामिल था। इसी दौरान रेलवे पुलिस की गोलीबारी में उसकी मौत हुई थी।

UP के जौनपुर में उपद्रवियों ने दो बसें और बाइक फूंकी

यूपी के जौनपुर में सिकरारा और बदलापुर क्षेत्र में एक-एक बस में आग लगाई गई है।
यूपी के जौनपुर में सिकरारा और बदलापुर क्षेत्र में एक-एक बस में आग लगाई गई है।

यूपी में तीसरे दिन भी बवाल जारी है। जौनपुर में उपद्रवियों ने दो रोडवेज बसें और कई बाइक जला दी। पुलिस ने रोकने का प्रयास किया तो उनकी गाड़ी के शीशे भी तोड़ डाले। सिकरारा और बदलापुर क्षेत्र में एक-एक बस में आग लगाई गई है। वाराणसी-लखनऊ हाईवे पर उपद्रवियों ने 10 से ज्यादा गाड़ियों में तोड़फोड़ की है। उधर, चंदौली के कुछमन रेलवे स्टेशन के अंदर युवाओं ने घुसकर तोड़फोड़ की। अंदर जमकर पत्थरबाजी की। रेलवे ट्रैक पर कबाड़ रख दिए और क्रॉसिंग का बूम भी तोड़ डाला। एक पुलिसकर्मी घायल हुआ है। पूरी खबर पढ़ें

बिहार में पुलिस पर पत्थरबाजी; दोनों तरफ से फायरिंग

अग्निपथ योजना के खिलाफ बिहार में प्रदर्शन का शनिवार को चौथा दिन है। पटना के मसौढ़ी में तारगेना स्‍टेशन के पास पत्‍थरबाजी और फायरिंग हुई है। प्रदर्शनकारी स्टेशन में तोड़फोड़ करने लगे। पार्किंग में खड़ी गाड़ियों को आग के हवाले कर दिया। प्रदर्शनकारियों ने पुलिस पर पथराव किया है। काबू पाने के लिए पुलिस ने कई राउंड फायर किए हैं।

15 जिलों में 19 जून तक इंटरनेट बंद कर दिया गया है। प्रदर्शन को देखते हुए प्राइवेट स्कूलों ने भी आज छुट्‌टी रखी है। जहानाबाद के टेहटा बाजार में प्रदर्शनकारियों ने सुबह साढ़े 7 बजे पथराव के बाद ट्रक में आगजनी की है। सूचना मिलने पर पुलिस के अफसर पहुंचे, लेकिन तब तक प्रदर्शनकारी वहां से निकल चुके थे। और ट्रक पूरी तरह से जल चुका था। पूरी खबर पढ़ें

राजस्थान: जयपुर-दिल्ली हाईवे जाम; 6 जिलों में पत्थरबाजी-तोड़फोड़

केंद्र सरकार की अग्निपथ योजना का विरोध थमने की बजाय बढ़ने लगा है। राजस्थान में आज भी कई जिलों में युवा बड़ी संख्या में प्रदर्शन कर रहे हैं। इस दौरान प्रदर्शनकारियों की पुलिस से भी झड़प हो गई। सभी जिलों में प्रदर्शन की आशंकाओं को देखते हुए सुरक्षाबलों को अलर्ट पर रखा गया है। सोशल मीडिया पर भी प्रशासन नजर रख रहा है। प्रदेश के जयपुर, जोधपुर, अजमेर अलवर सहित छह जिलों में हिंसक प्रदर्शन हो रहे हैं। पूरी खबर पढ़ें

पंजाब के लुधियाना में रेलवे स्टेशन में तोड़फोड़; 4 गिरफ्तार

लुधियाना रेलवे स्टेशन के बाहर बवाल कर रहे युवकों को पुलिस ने खदेड़ दिया।
लुधियाना रेलवे स्टेशन के बाहर बवाल कर रहे युवकों को पुलिस ने खदेड़ दिया।

अग्निपथ योजना के विरोध की आंच पंजाब में भी पहुंच गई है। आज लुधियाना में युवकों ने रेलवे स्टेशन पर पहुंचकर जमकर तोड़फोड़ की। युवक डंडे और लोहे की रॉड लेकर पहुंचे। उन्होंने पहले स्टेशन के बाहर खड़े वाहनों में तोड़फोड़ और फिर अंदर आकर स्टॉलों और सरकारी ऑफिस में तोड़फोड़ की। पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए 4 युवकों को गिरफ्तार कर लिया। पूरी खबर पढ़ें

गुजरात के जामनगर में सड़कों पर उतरे स्टूडेंट

अग्निपथ योजना का विरोध पीएम मोदी के गृहराज्य गुजरात में भी हो रहा है। वह भी उस समय जब मोदी गुजरात में हैं। जामनगर में सुबह हजारों की संख्या में छात्र जमा हो गए और नारेबाजी करने लगे। मौके पर पुलिस बल पहुंच गया है। पुलिस ने वाटर माइन चलाने के लिए वाटर कैनन भी मंगा ली है। पूरी खबर पढ़ें

जम्मू-कश्मीर में भी अग्निवीर योजना का विरोध
जम्मू-कश्मीर के कठुआ में शनिवार सुबह युवकों ने अग्निवीर योजना का विरोध किया। पुलिस ने प्रदर्शन कर रहे युवकों पर लाठीचार्ज किया।

पानीपत में मजिस्ट्रेट के गले लगकर रोया प्रदर्शनकारी, कहा- 4 साल की नौकरी के बाद युवा अपराधी बनेंगे

अग्निपथ योजना का हरियाणा के पानीपत में भी विरोध शुरू हो गया है। यहां एक प्रदर्शनकारी ड्यूटी पर तैनात मजिस्ट्रेट के गले लगकर रोने लगा। उसका कहना है कि चार साल की नौकरी के बाद युवा अपराधी बनेंगे। पढ़े पूरी खबर...

2 दिन में 12 ट्रेनें जलाई गईं, रेल मंत्री ने नुकसान न पहुंचाने की अपील की

रेलवे की ओर से जारी बयान के मुताबिक, बुधवार को विरोध प्रदर्शन शुरू होने के बाद से 12 ट्रेनों में आग लगा दी गई है। इस दौरान 300 से अधिक ट्रेनें प्रभावित हुई हैं। 214 ट्रेन कैंसिल कर दी गई हैं, 11 को डायवर्ट किया गए और 90 अपने पड़ाव तक नहीं पहुंच पाईं। रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने रेल संपत्ति को नुकसान न पहुंचाने की अपील की है।

नेवी चीफ बोले- ऐसे विरोध की उम्मीद नहीं थी

नेवी चीफ एडमिरल आर हरि कुमार। (फाइल फोटो)
नेवी चीफ एडमिरल आर हरि कुमार। (फाइल फोटो)

देशभर में जारी विरोध प्रदर्शन के बीच नेवी चीफ एडमिरल आर हरि कुमार ने शुक्रवार को अग्निपथ योजना को लेकर बयान दिया। उन्होंने कहा- मुझे इस तरह के किसी विरोध की उम्मीद नहीं थी। हमने करीब डेढ़ साल तक अग्निपथ योजना पर काम किया। यह भारतीय सेना में सबसे बड़ा ह्यूमन रिसोर्स मैनेजमेंट ट्रांसफार्मेशन है। स्कीम की गलत सूचना और गलतफहमी के कारण विरोध हो रहा है।

यह स्कीम देश और युवाओं के लिए फायदेमंद है, क्योंकि यह उनके लिए अधिक अवसर पैदा करेगी। जहां पहले एक व्यक्ति को आर्म्ड फोर्सेस में सेवा करने का अवसर मिलता था, अब यह शायद 4 लोगों को मिलेगा।

कम अवधि की सर्विस के मुद्दे पर बोलते हुए उन्होंने कहा कि इसके कई फायदे हैं। अग्निवीरों को यह तय करना होगा कि वे आर्म्ड फोर्सेस को करियर के रूप में अपनाना चाहते हैं या कोई दूसरी नौकरी करना चाहते हैं।

आर्मी चीफ बोले- अग्निपथ स्कीम युवाओं के लिए फायदेमंद

आर्मी चीफ जनरल मनोज पांडे। (फाइल फोटो)
आर्मी चीफ जनरल मनोज पांडे। (फाइल फोटो)

आर्मी चीफ जनरल मनोज पांडे ने भी युवाओं से सेना में शामिल होने और अग्निवीर बनने की अपील की है। जनरल पांडे ने शुक्रवार को अग्निपथ योजना के तहत अपर एज लिमिट को 23 साल तक बढ़ाने के केंद्र के फैसले की सराहना की। उन्होंने कहा कि इस फैसले से उन युवाओं को अवसर मिलेगा जो सेना में शामिल होने की तैयारी कर रहे हैं, लेकिन पिछले दो साल में कोविड की वजह से रुकी भर्ती की वजह से शामिल नहीं हो सके।

जनरल पांडे ने कहा- मुझे लगता है कि युवाओं को अग्निपथ स्कीम के बारे में सही जानकारी नहीं मिल पाई है। एक बार जब उन्हें इस स्कीम के बारे में पता चल जाएगा, तो उन्हें विश्वास हो जाएगा कि यह न केवल युवाओं के लिए बल्कि सभी के लिए फायदेमंद है।

चार साल के लिए डिफेंस फोर्स में सेवा देंगे नौजवान
केंद्र सरकार ने 14 जून को सेना की तीनों शाखाओं- थलसेना, नौसेना और वायुसेना में युवाओं की बड़ी संख्या में भर्ती के लिए अग्निपथ भर्ती योजना शुरू करने का ऐलान किया। इस स्कीम के तहत नौजवानों को सिर्फ 4 साल के लिए डिफेंस फोर्स में सेवा देनी होगी। सरकार ने यह कदम तनख्वाह और पेंशन का बजट कम करने के लिए उठाया है।

1. ये अग्निपथ स्कीम है क्या?
अग्निपथ स्कीम आर्म्ड फोर्सेज के लिए एक देशव्यापी शॉर्ट-टर्म यूथ रिक्रूटमेंट स्कीम है। इस स्कीम के तहत भर्ती होने वाले युवाओं को अग्निवीर कहा जाएगा। अग्निवीरों की तैनाती रेगिस्तान, पहाड़, जमीन, समुद्र या हवा, समेत विभिन्न जगहों पर होगी।

2. अग्निवीरों की रैंक क्या होगी?
इस नई स्कीम में ऑफिसर रैंक के नीचे के सैनिकों की भर्ती होगी। यानी इनकी रैंक पर्सनेल बिलो ऑफिसर रैंक यानी PBOR के तौर पर होगी। इन सैनिकों की रैंक सेना में अभी होने वाली कमीशंड ऑफिसर और नॉन-कमीशंड ऑफिसर की नियुक्ति से अलग होगी।

3. साल में कितनी बार भर्ती होंगे अग्निवीर?
इस योजना के तहत साल में दो बार रैली के जरिए भर्ती होगी।

4. इस साल कितने सैनिकों की होगी भर्ती?
इस साल 46 हजार अग्निवीरों की भर्ती होगी, लेकिन इस दौरान सेना के तीनों अंगों में इस स्तर की आर्मी भर्ती नहीं होगी।

5. अग्निवीर बनने के लिए कितनी उम्र का होना जरूरी?
अग्निवीर बनने के लिए 17.5 साल से 23 साल के बीच होना जरूरी है।

6. अग्निवीर बनने के लिए कितनी पढ़ाई जरूरी?
अग्निवीर बनने के लिए कम से कम 10वीं पास होना जरूरी है।