• Hindi News
  • National
  • Defence Jobs Agneepath Yojana Entry Scheme 2022 | Indian Army, Navy, Or Air Force

तीनों सेनाओं में होगी अग्निवीरों की भर्ती:स्थायी सैनिकों की तरह अवॉर्ड-मेडल, पर पेंशन नहीं... पढ़िए स्कीम से जुड़े हर सवाल का जवाब

नई दिल्ली3 महीने पहले

केंद्र सरकार ने 14 जून को सेना की तीनों शाखाओं- थलसेना, नौसेना और वायुसेना में युवाओं की बड़ी संख्या में भर्ती के लिए अग्निपथ भर्ती योजना शुरू की है। इस स्कीम के तहत नौजवानों को सिर्फ 4 साल के लिए डिफेंस फोर्स में सेवा देनी होगी। सरकार ने यह कदम तनख्वाह और पेंशन का बजट कम करने के लिए उठाया है।

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के साथ तीनों सेनाध्यक्षों ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस करके इस योजना का ऐलान किया है। पहली भर्ती रैली 90 दिनों में होगी। डिपार्टमेंट ऑफ मिलिट्री अफेयर्स की तरफ से तैयार की गई अग्निपथ रिक्रूटमेंट स्कीम को पहले 'टूर ऑफ ड्यूटी' नाम दिया गया था।

इस स्कीम के तहत शॉर्ट-टर्म के लिए ज्यादा सैनिकों की भर्ती की जाएगी। विभाग ही इसको लागू भी करेगा। सरकार ने अपने खर्चों में कटौती के लिए और डिफेंस फोर्स में युवाओं की संख्या बढ़ाने के लिए इस स्कीम को पेश किया है।

भर्ती शुरू होने की जानकारी कहां मिलेगी या फिर इसके लिए अप्लाय कैसे करना है? आवेदन के लिए पात्रता क्या होगी?

पढ़िए अग्निपथ भर्ती योजना से जुड़े आपके हर सवाल का जवाब...

सवाल: अग्निपथ योजना क्या है?
जवाब: यह आर्म्ड फोर्सेज के लिए एक अखिल भारतीय शॉर्ट टर्म सेवा युवा भर्ती स्कीम है। अग्निवीर के रूप में भर्ती किए जाने वाले जवानों की तैनाती रेगिस्तान, पहाड़, भूमि, समुद्र या हवा में की जाएगी।

सवाल: अग्निपथ स्कीम के तहत भर्ती के लिए आवेदन करने के लिए कौन पात्र होगा?
जवाब: स्कीम के लिए पात्र होने की आयु सीमा 17.5-21 साल है। 10वीं और 12वीं पास कर चुके युवा इसके लिए अप्लाय कर सकते हैं।

सवाल: क्या महिलाएं भी अग्निपथ योजना के तहत अप्लाई कर सकती हैं?
जवाब: फिलहाल नहीं, लेकिन भविष्य में महिलाओं को भी इस स्कीम में शामिल किया जाएगा।

सवाल: स्कीम के तहत सेना में कितने समय तक काम करना होगा?

जवाब: अग्निपथ योजना के तहत भर्ती होने वाले जवान को सेना में 4 साल तक सेवा देनी होगी। इन चार सालों में से 6 महीने सैनिकों को बेसिक ट्रेनिंग दी जाएगी।

सवाल: अग्निवीरों को कितना वेतन मिलेगा?
जवाब: जॉइनिंग के पहले साल में अग्निवीरों को 4.76 लाख रुपए का पैकेज मिलेगा। वहीं 4 साल का कार्यकाल खत्म होने तक इसे 6.92 लाख रुपए तक बढ़ाया जा सकता है। यानी अग्निवीरों को हर महीने 30 हजार से 40 हजार सैलरी मिलेगी। इसके अलावा तीनों सेनाओं के स्थायी सैनिकों की तरह अवॉर्ड, मेडल, भत्ता मिलेगा। वहीं सरकार 44 लाख का बीमा भी कराएगी।

सवाल: 4 साल पूरे होने के बाद अग्निवीर सेना में स्थाई हो सकते हैं?
जवाब: 4 साल का कार्यकाल पूरा होने के बाद अग्निवीर सेना में स्थाई नौकरी के लिए आवेदन कर सकेंगे। सेना के अधिकारी अग्निवीरों को उनकी योग्यता और प्रदर्शन के आधार पर उन्हें स्थाई करने पर विचार करेंगे। 25% 'अग्निवीरों' को स्थायी कैडर में भर्ती किया जाएगा।

सवाल: 4 साल बाद रिटायर हुए अग्निवीरों को क्या सुविधाएं मिलेंगी?
जवाब: सेना से रिटायर होने वाले 75% अग्निवीरों को सेवा निधि पैकेज दिया जाएगा। यह 11-12 लाख रुपए का पैकेज आंशिक तौर पर अग्निवीरों के ही मंथली कंट्रीब्यूशन से फंड किया जाएगा। इसके अलावा उनको मिले स्किल सर्टिफिकेट और बैंक लोन के जरिए उन्हें दूसरा करियर शुरू करने में मदद की जाएगी।

सवाल: अग्निपथ स्कीम के तहत हर साल कितने युवाओं की भर्ती होगी?
जवाब: अग्निपथ के तहत हर साल करीब 45 हजार युवाओं को सेना में शामिल किया जाएगा।

सवाल: मैं अग्निपथ योजना भर्ती के लिए कैसे आवेदन कर सकता हूं?
जवाब: इस स्कीम के तहत आने वाली वैकेंसी की जानकारी आर्म्ड फोर्सेस से संबंधित वेबसाइट्स पर मिल जाएगी।
joinindianarmy.nic.in
joinindiannavy.gov.in
Careerindianairforce.cdac.in

सवाल: ट्रेनिंग में क्या शामिल होगा?
जवाब: अग्निवीरों को सेना के जवानों की तरह ही ट्रेनिंग दी जाएगी।

सवाल: मैं कब आवेदन कर सकता हूं?
जवाब: सरकार ने इस योजना का ऐलान 14 जून को किया है, जल्द ही भर्ती भी शुरू हो जाएगी।