महाराष्ट्र / सुप्रीम कोर्ट पहुंचे तीनों दल, आज ही फ्लोर टेस्ट की मांग

सुप्रीम कोर्ट। सुप्रीम कोर्ट।
X
सुप्रीम कोर्ट।सुप्रीम कोर्ट।

  • मुंबई से दिल्ली पहुंची जंग महाराष्ट्र की जंग

Dainik Bhaskar

Nov 24, 2019, 05:33 AM IST

नई दिल्ली. आनन-फानन में देवेंद्र फडणवीस और अजित पवार काे शपथ दिलवाने के राज्यपाल भगत सिंह काेश्यारी के फैसले काे शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस ने सुप्रीम काेर्ट में चुनाैती दी है। इन्हाेंने राज्यपाल के फैसले काे मनमाना और दुर्भावना से लिया गया बताया है।

 
इन्होंने सुप्रीम कोर्ट से अपनी याचिका पर जल्द सुनवाई करने और रविवार को ही फ्लोर टेस्ट का आदेश देने की मांग की है। तीनाें दलाें ने 8 निर्दलीयाें सहित 162 विधायकाें के समर्थन का दावा किया है। सुप्रीम काेर्ट में रविवार सुबह 11.30 बजे महाराष्ट्र के मुद्दे पर शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस की याचिका पर सुनवाई हाेगी संविधान विशेषज्ञ पीडीटी अचारी ने बताया कि विधायकों की खरीद-फरोख्त की आशंकाओं के आधार पर सुप्रीम कोर्ट के पास तय समय से पहले भी बहुमत परीक्षण का आदेश देने का अधिकार है।

कर्नाटक के मामले में भी काेर्ट ने ऐसा आदेश दिया था। वहीं सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ वकील जयंत सूद ने बताया कि इस मामले में शिवसेना व कांग्रेस सुप्रीम कोर्ट में इस आधार पर शपथ ग्रहण को चुनौती दे भी देते हैं कि एनसीपी ने उन्हें धोखा दिया है तो भी उन्हें कोई राहत नहीं मिलेगी।

इसके दो कारण हैं। पहला दोनों दलों की सीटों को मिलाकर भी वे बहुमत का आंकड़ा पार नहीं कर सकते। दूसरा कारण यह है कि अगर सुप्रीम कोर्ट में भाजपा नेता देवेंद्र फडनवीस के शपथ ग्रहण समारोह को चुनौती दे भी दी जाती है तो सुप्रीम कोर्ट इस विवाद को निपटाने के लिए फ्लोर टेस्ट का ही आदेश करेगा। जिसमें भाजपा जीत हासिल कर सकती है। लिहाजा, उन्हें कुछ हासिल न होगा।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना