करतारपुर / मुख्यमंत्री अमरिंदर ने कहा- पाकिस्तान कश्मीर में हस्तक्षेप करना और पंजाब को आंख दिखाना बंद करे



पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को स्मृति चिह्न भेंट किया। पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को स्मृति चिह्न भेंट किया।
X
पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को स्मृति चिह्न भेंट किया।पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को स्मृति चिह्न भेंट किया।

  • मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह करतारपुर कॉरिडोर से पाकिस्तान जाने वाले 550 श्रद्धालुओं के पहले जत्थे में शामिल हुए
  • उन्होंने कहा- पाकिस्तान पंजाब या कश्मीर में जो चाहे नहीं कर सकता, हमने कोई चूड़ियां नहीं पहनी हैं

Dainik Bhaskar

Nov 10, 2019, 02:37 PM IST

डेरा बाबा नानक. पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने शनिवार को करतारपुर रवाना होने से पहले पाकिस्तान को आड़े हाथों लिया। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान कश्मीर में हस्तक्षेप करना और पंजाब को आंख दिखाना बंद करे। वह कभी अपने नापाक मंसूबों में कामयाब नहीं हो पाएगा। उम्मीद है कि पाकिस्तान समझेगा कि भारत उसके साथ दोस्ताना रिश्ते चाहता है। अमरिंदर करतारपुर कॉरिडोर से पाकिस्तान जाने वाले 550 सिख श्रद्धालुओं के पहले जत्थे में शामिल थे। करतारपुर में 12 नवंबर को गुरु नानक देवजी की 550वीं जयंती मनाई जाएगी।

 

कैप्टन ने कहा, ‘‘मैंने कई बार पाकिस्तान को नापाक हरकतों पर लगाम लगाने के लिए कहा है। कश्मीर में आए दिन वे हमारे सुरक्षाबलों के साथ संघर्ष करते रहते हैं। अब उनकी नजर पंजाब पर है। पंजाबी इस तरह की चीजों को बर्दाश्त नहीं करेगा। वे अपने नापाक मंसूबों में कश्मीर या पंजाब में सफल नहीं होंगे। पंजाब के लोग बहादुर हैं। आप जो चाहे नहीं कर सकते। हमने कोई चूड़ियां नहीं पहनी हैं।’’

 

‘भारत-पाक को करीब आना चाहिए’

मुख्यमंत्री ने कहा कि पाकिस्तान को विकास पर ध्यान देना चाहिए। उन्हें स्कूल बनाने, सड़क निर्माण, पीने का पानी उपलब्ध कराने जैसे मुद्दों पर ध्यान लगाना चाहिए। दुश्मनी से पाकिस्तान को क्या हासिल होगा। मैंने कई बार प्रधानमंत्री से बात की है और वह भी चाहते हैं कि शांति बनी रहे। दोनों देशों को करीब आना चाहिए।

 

करतारपुर कॉरिडोर का उद्घाटन ऐतिहासिक- अमरिंदर

अमरिंदर सिंह ने करतारपुर कॉरिडोर के उद्घाटन को ऐतिहासिक अवसर बताया। उन्‍होंने कहा कि गुरु नानकदेव के 550वें प्रकाश पर्व के मौके पर सिखों को अनमोल तोहफा मिला है। कॉरिडोर पाकिस्तान में गुरुद्वारा दरबार साहिब को जोड़ता है। गुरुनानक देव ने जीवन के अंतिम क्षण करतारपुर में ही गुजारे थे।

 

DBApp

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना