• Hindi News
  • National
  • Baba Ramdev said on Deepika's visit to JNU He needs a mentor like me to take a decision on the big issue.

बयान / बाबा रामदेव ने दीपिका के जेएनयू जाने पर कहा- बड़े मुद्दे पर फैसले लेने के लिए उन्हें मुझ जैसे सलाहकार की जरूरत

योगगुरू बाबा रामदेव ने कहा- देश को डंपिंग यार्ड नहीं बनाया जा सकता।- फाइल फोटो योगगुरू बाबा रामदेव ने कहा- देश को डंपिंग यार्ड नहीं बनाया जा सकता।- फाइल फोटो
X
योगगुरू बाबा रामदेव ने कहा- देश को डंपिंग यार्ड नहीं बनाया जा सकता।- फाइल फोटोयोगगुरू बाबा रामदेव ने कहा- देश को डंपिंग यार्ड नहीं बनाया जा सकता।- फाइल फोटो

  • योगगुरू बाबा रामदेव ने कहा- दीपिका को पहले सामाजिक, राजनीतिक और सांस्कृतिक मुद्दों के बारे में पढ़ना चाहिए
  • ‘जो लोग सीएए का पूरा नाम तक नहीं जानते वह प्रधानमंत्री मोदी के खिलाफ आपत्तिजनक भाषाओं का प्रयोग कर रहे’

दैनिक भास्कर

Jan 14, 2020, 10:06 AM IST

इंदौर. योगगुरु बाबा रामदेव ने सोमवार को कहा कि दीपिका पादुकोण को देश की सामाजिक-राजनीतिक मुद्दों की समझ रखनी चाहिए। किसी भी बड़े मुद्दे पर फैसला लेने से पहले उन्हें मुझ जैसे सलाहकार को नियुक्त करने की आवश्यकता है, जो उन्हें निष्पक्ष सलाह देने का काम करेगा।” गौरतलब है कि 5 जनवरी को जेएनयू हिंसा के बाद प्रदर्शन कर रहे छात्रों के बीच एकजुटता दिखाने के लिए अभिनेत्री दीपिका पादुकोण कैंपस गईं थी। इसके बाद भाजपा के नेता और समर्थकों द्वारा इसकी खूब आलोचना हो रही है, वहीं दूसरा वर्ग इसे उचित ठहरा रहा है।

योगगुरु ने कहा, “अभिनेत्री के रूप में दीपिका की क्षमता एक अलग प्रकार की है। हालांकि उन्हें अपने देश के बारे में जानने के लिए पहले सामाजिक, राजनीतिक और सांस्कृतिक मुद्दों के बारे में पढ़ना चाहिए और एक समझ विकसित करनी चाहिए। इन सबके बाद ही उन्हें कोई बड़े फैसले लेने चाहिए। मुझे लगता है कि दीपिका को स्वामी रामदेव जैसे लोगों की आवश्यकता है जो उन्हें सही सलाह देने का काम करेगा।”

‘प्रदर्शन से देश और संस्थान की छवि धूमल हो रही है’

नए नागरिकता कानून का समर्थन करते हुए रामदेव ने कहा, “जो लोग सीएए का पूरा नाम तक नहीं जानते वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ आपत्तिजनक भाषाओं का प्रयोग कर रहे हैं। प्रधानमंत्री और गृह मंत्री कह चुके हैं कि यह कानून नागरिकता छीनने का नहीं बल्कि नागरिकता प्रदान करने के लिए है लेकिन लोग तब भी इस पर विरोध कर रहे हैं। कुछ लोग एनआरसी को लेकर भय पैदा कर रहे हैं। कुछ लोग जिन्ना वाली आजादी के नारे लगा रहे हैं। यह नारे कहां से उठ रहे हैं? इस तरह के प्रदर्शन से देश और संस्थानों की छवि को धूमिल किया जा रहा है।”

‘दो करोड़ लोग भारत में अवैध तरीके से रह रहे’

उन्होंने कहा कि करीब दो करोड़ लोग भारत में अवैध तरीके से रह रहे हैं। उन्होंने कहा, “कोई भी देश अपने को डंपिंग यार्ड बनने की अनुमति नहीं दे सकता है। किसी भी अवैध नागरिकों को भारत में रहने की अनुमति नहीं दिया जाएगा। यदि प्रदर्शनकारियों के पास एनआरसी का कोई वैकल्पिक प्रस्ताव है तो वह इसे लेकर सामने आए।” वीर सावरकर की प्रशंसा करते हुए रामदेव ने कहा, “भारत का स्वतंत्रता आंदोलन उनके बिना अधूरा है। किसी एक या दो चीजों के लिए किसी व्यक्ति के पूरे चरित्र को धूमिल करना गलत है।” प्रियंका गांधी के सवाल पर उन्होंने कहा कि यदि कोई अपनी दादी की तरह उभरती हैं तो यह सम्मान योग्य हैं और इसका स्वागत किया जाना चाहिए।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना