अनुच्छेद 370 / राहुल गांधी के बयान का इस्तेमाल पाकिस्तान ने यूएन में किया, कांग्रेस को शर्म आनी चाहिए: शाह



सिलवासा में जनसभा को संबोधित करते अमित शाह। सिलवासा में जनसभा को संबोधित करते अमित शाह।
X
सिलवासा में जनसभा को संबोधित करते अमित शाह।सिलवासा में जनसभा को संबोधित करते अमित शाह।

  • अमित शाह ने कहा- ये शर्मनाक है कि कांग्रेस नेताओं के बयान का इस्तेमाल भारत के खिलाफ हुआ
  • शाह ने कहा कि कांग्रेस ने राष्ट्रीय हित के मुद्दे पर सरकार का समर्थन करने की परंपरा तोड़ी
  • उन्होंने कहा- भाजपा और उससे पहले जब जनसंघ विपक्ष में था, तब तत्कालीन सरकार के साथ खड़े रहे

Dainik Bhaskar

Sep 01, 2019, 05:52 PM IST

सिलवासा. केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने रविवार को अनुच्छेद 370 हटाए जाने पर कांग्रेस नेताओं की बयानबाजी की आलोचना की। उन्होंने कहा कि कांग्रेस को शर्म आनी चाहिए कि कश्मीर पर दिए उनके नेता के बयान का इस्तेमाल पाकिस्तान ने संयुक्त राष्ट्र (यूएन) में किया। शाह ने कहा, “कश्मीर पर लिए फैसले पर लोग मोदी सरकार का समर्थन कर रहे हैं, लेकिन राहुल गांधी अभी तक इसके विरोध में हैं।”

 

मीडिया रिपोर्ट्स में कहा गया था कि राहुल ने कश्मीर में हिंसा और लोगों की मौत होने जैसे बयान दिए थे। शाह ने कहा कि अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद कश्मीर में एक भी बुलेट या आंसू गैस का गोला नहीं दागा गया और न ही किसी की मौत हुई।

कांग्रेस ने विपक्ष की परंपरा तोड़ी: शाह

  1. गृह मंत्री ने कहा, “कांग्रेस ने अनुच्छेद 370 को हटाने जैसे कदम का विरोध किया है। राहुल गांधी के बयान पाकिस्तान में काफी जोरशोर से उठाए जा रहे हैं। पाकिस्तान ने अपनी याचिका में उनके बयान को शामिल किया है। कांग्रेस नेताओं को शर्म आनी चाहिए कि इस तरह के बयान का इस्तेमाल भारत के खिलाफ हुआ है।” 

  2. शाह ने कहा, “आज कश्मीर में कानून व्यवस्था को लेकर सवाल उठ रहे हैं। मैं पूरे देश और दुनिया से कहना चाहूंगा कि कश्मीर में शांति कायम है। विशेष दर्जा खत्म होने से राज्य विकास के पथ पर लौटेगा और आतंकवाद का खात्मा होगा। अब जम्मू-कश्मीर का भारत के साथ पूरा विलय हुआ है।”

  3. शाह ने कांग्रेस पर आरोप लगाते हुए कहा कि कांग्रेस ने राष्ट्रीय हित के मामलेे में सरकार का समर्थन करने की परंपरा को तोड़ा है। उन्होंने दावा किया कि भाजपा और उससे पहले जनसंघ जब विपक्ष में थे तब हमने पाकिस्तान और चीन के साथ युद्ध के वक्त राष्ट्रहित के मुद्दे पर तत्कालीन सरकार का साथ दिया था।

  4. उन्होंने कहा, “देश में यह परंपरा रही है। जब राष्ट्रीय हित का मामला आता है तब हमें पार्टी लाइन से ऊपर उठकर देश के बारे में सोचना चाहिए। आपने (कांग्रेस) इस परंपरा को तोड़ा है। आप नहीं जानते कि जब आप वोट बैंक की राजनीति खेलते हैं तब जनता आपका मूल्यांकन कर रही होती है।”

  5. शाह ने कांग्रेस पर आरोप लगाया कि वह दिल्ली में जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय में भारत विरोधी नारेबाजी करने वालों के पक्ष में आवाज उठाती है। उसी प्रकार पाकिस्तान में सर्जिकल स्ट्राइक होने पर मोदी सरकार से सवाल भी करती है। जब जेएनयू में ऐसी नारेबाजी हो रही थी तो कांग्रेस उन लोगों के साथ खड़ी थी।

  6. उन्होंने कहा कि विपक्ष ने सर्जिकल स्ट्राइक का सबूत मांगा। इसी प्रकार पाकिस्तान ने भी हमले के फोटोग्राफ की मांग की थी। अब जब हमने अनुच्छेद 370 हटाया है तो आप इसका विरोध कर रहे हैं। मैं कांग्रेस से पूछना चाहता हूं कि आप राजनीति कहां करना चाहते हैं? आप नहीं जानते, लोग नरेंद्र मोदी के पीछे चट्‌टान की तरह खड़े हैं।

     

    DBApp

     

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना