मासूम FIR का VIDEO:प्राइमरी का स्टूडेंट थाने जाकर बोला- ये लड़का बहुत दिन से पेंसिल चुरा रहा है; अब केस कर दीजिए

हैदराबाद2 महीने पहले

आंध्र प्रदेश में पुलिस कम्प्लेंट का ऐसा मामला सामने आया है, जिसे सुनकर आप मुस्कुरा उठेंगे। यहां प्राइमरी में पढ़ने वाला एक स्टूडेंट अपने साथी की शिकायत करने थाने पहुंच गया। उसने पुलिस से कहा कि ये लड़का कई दिनों से मेरी पेंसिल चुरा रहा है और अब मैंने पुलिस में इसकी शिकायत करने का फैसला किया है।

मासूम शिकायत का VIDEO वायरल
आंध्र प्रदेश पुलिस ने प्राइमरी स्कूल के विवाद का ये VIDEO अपने ट्विटर हैंडल पर शेयर किया है, जो अब वायरल हो गया है। VIDEO में चेक शर्ट पहने लड़का ग्रीन शर्ट पहने एक लड़के की ओर इशारा कर रहा है। वो कह रहा है कि ये लड़का कई दिनों से बिना मेरी इजाजत के पेंसिल निब चुरा रहा है। वह पुलिस को इसका सबूत भी देता है और कहता है कि अब मैंने इसकी शिकायत पुलिस में करने का फैसला किया है। आप इस पर केस दर्ज कीजिए।

पुलिसवालों ने करवाया समझौता
जब लड़के ने साथी पर केस करने की जिद की, तो पुलिस वाले बहुत धीरज से उसकी शिकायत सुनते रहे। लड़का केस पर ही अड़ा रहा तो पुलिस अफसर ने कहा कि तुम इसकी गलती पर एक बार फिर सोच लो। अगर तुमने केस कर दिया तो उसे जेल जाना पड़ेगा और फिर उसकी जिंदगी बेहद मुश्किल हो जाएगी। इसके बाद दोनों लड़कों का समझौता कराया गया और उनसे हाथ मिलाने को कहा गया। इस दौरान थाने में खड़े दूसरे स्कूली लड़के हंस रहे थे।

पुलिस थाने में पहुंचकर साथी की शिकायत करता हुआ छोटा बच्चा। (हरी चेक वाली शर्ट में)
पुलिस थाने में पहुंचकर साथी की शिकायत करता हुआ छोटा बच्चा। (हरी चेक वाली शर्ट में)

पुलिस बोली- अब ये ऐसा नहीं करेगा
समझौते के बाद भी शिकायत करने वाला लड़का केस करने पर अड़ा रहा। इसके बाद पुलिस ने कहा कि हम तुम्हें भरोसा दिलाते हैं कि अब आगे यह ऐसा काम नहीं करेगा। जिस लड़के की शिकायत की जा रही थी, उससे पुलिस ने कहा- हम उम्मीद करते हैं कि अब आगे से तुम पढ़ाई पर ध्यान दोगे और तुम दोनों के बीच दोस्ताना रिश्ते रहेंगे।

आंध्र पुलिस बोली- ये महकमे पर भरोसे का सबूत
इस घटना पर आंध्र पुलिस ने एक और ट्वीट किया। लिखा- ये घटना दिखाती है कि इन बच्चों को पुलिस पर कितना भरोसा है, जो समाज के हर वर्ग की समस्या को बेहद दोस्ताना माहौल में सुलझाती है। ये घटना पुलिस को और जिम्मेदार बनाती है कि वह पारदर्शिता और जिम्मेदारी से काम करे ताकि लोगों के दरवाजे तक जाकर बेहतर सेवा दे सके।