• Hindi News
  • National
  • Antibody Did Not Last 150 Days In One Of Four People In The Country, Could Not Provide Protection From Corona For Long Time

रिसर्च में दावा:देश में चार में से एक व्यक्ति में 150 दिन भी नहीं टिकी एंटीबॉडी, लंबे समय तक कोरोना से नहीं दे पा रही सुरक्षा

नई दिल्लीएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
भारतीयों में एंटीबॉडी लंबे समय तक सुरक्षित नहीं रह पा रही है, इससे लोग फिर संक्रमित हो रहे हैं। (सिंबॉलिक फोटो) - Dainik Bhaskar
भारतीयों में एंटीबॉडी लंबे समय तक सुरक्षित नहीं रह पा रही है, इससे लोग फिर संक्रमित हो रहे हैं। (सिंबॉलिक फोटो)
  • देश में संक्रमित होने के 60 दिन बाद लोगों के शरीर में प्लाज्मा भी धीरे-धीरे बेअसर होने लगा है

भारत में कोरोना वायरस का असर बाकी दुनिया से अलग दिख रहा है। क्योंकि वायरस के खिलाफ एंटीबॉडी भारतीयों को लंबे समय तक सुरक्षित नहीं रख पा रही है। इसीलिए लोग दोबारा संक्रमित हो रहे हैं। आईसीएमआर के अनुसार, देश में अब तक 4.5% से अधिक लोगों को एक से अधिक बार संक्रमण हो चुका है। दुनिया में दोबारा संक्रमित होने की दर करीब एक फीसदी है। देश में संक्रमित होने के 60 दिन बाद लोगों के शरीर में प्लाज्मा भी धीरे-धीरे बेअसर होने लगा।

सीएसआईआर के वैज्ञानिकों ने इसे लेकर राष्ट्रीय स्तर पर एक सीरो सर्वे किया है। इसमें पता चला है कि देश के कई हिस्सों में वायरस का स्थानीय प्रसार हुआ है। आईजीआईबी, नई दिल्ली के निदेशक डॉ. अनुराग अग्रवाल के अनुसार वायरस की चपेट में आने वालों में 30% तक ऐसे लोग मिले हैं, जिनके शरीर में 150 से 180 दिन भी एंटीबॉडी टिकी। कुछ ऐसे भी लोग हैं, जिनमें तीन महीने में ही एंटीबॉडी खत्म हो गईं। बिना लक्षण वाले रोगियों में एंटीबॉडी के बेहद कमजोर स्तर का भी पता चला है। वैज्ञानिक मानते हैं कि एंटीबॉडी कम होने से देश में दोबारा संक्रमण के मामलों में तेजी आई है।

हमारा कोरोना टीका कम असरदार: चीन
चीन के रोग नियंत्रण केंद्र के निदेशक गाओ फू ने माना कि चीन के टीकों में बचाव दर बहुत ज्यादा नहीं है। गाओ ने कहा कि समस्या से निपटने का एक विकल्प यह भी है कि अलग-अलग तकनीक वाले टीकों का इस्तेमाल किया जाए। चीन के बाहर भी एक्सपर्ट्स इस विकल्प को लेकर अध्ययन कर रहे हैं।

फ्रांस: 55 से कम उम्र वालों को मिक्स्ड डोज
फ्रांस के स्वास्थ्य मंत्रालय ने अपने देश में 55 साल से कम उम्र के लोगों के लिए टीके की मिक्स डोज का सुझाव दिया है। ये सुझाव उनके लिए है, जिन्हें टीके का दूसरा डोज लगना है। दूसरी ओर, जर्मनी में भी 60 साल से कम उम्र वाले लोगों के लिए टीके की मिक्स्ड डोज लगाने की तैयारी की जा रही है।

दुनिया में कोरोना केस 13.6 करोड़ के पार
दुनिया में कोरोना केस बढ़कर 13.6 करोड़ से अधिक हो गए हैं। मौतों का आंकड़ा 29.4 लाख को पार कर गया है। 31,869,996 मामले और 5,75,595 मौतों के साथ अमेरिका सर्वाधिक कोरोना प्रभावित देश है। वहीं 13,445,006 मामलों और 351,469 मौतों के साथ ब्राजील दूसरे नंबर पर है।

नीदरलैंड्स: जिन्हें टीका लग चुका, वही घूम सकते हैं
नीदरलैंड्स सरकार पर्यटन स्थलों पर लगी पाबंदियों में ढील देकर पता लगा रही है कि लोग घूमने के लिए बाहर जाना चाहते हैं या नहीं। डच सरकार ने शनिवार को थीम पार्क और गार्डन समेत कई पर्यटन स्थल खोले, जहां करीब 2000 से ज्यादा लोग पहुंचे। हालांकि, डच सरकार ने सिर्फ उन्हें ही बाहर निकलने की अनुमति दी जिन्हें वैक्सीन लग चुकी है।

खबरें और भी हैं...