पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • Army Chief Visits Forward Areas In Eastern Ladakh To Review Situation Along LAC

LAC पहुंचे आर्मी चीफ:नरवणे माइनस 40 डिग्री टेम्परेचर में निगरानी कर रहे जवानों से मिले, अफसरों से हालात का अपडेट लिया

लेह6 महीने पहले

चीन के साथ चल रहे तनाव के बीच बुधवार को एक बार फिर इंडियन आर्मी चीफ एमएम नरवणे ईस्टर्न लद्दाख में लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल (LAC) पहुंचे। यहां उन्होंने 14 हजार फीट की ऊंचाई पर रेचिन ला, फायर एंड फ्यूरी कॉर्प्स में तैनात जवानों से मुलाकात की। अफसरों के साथ बैठक करके हालात की जानकारी ली। आर्मी चीफ ने LAC पर तैनात किए गए आर्मी टैंक का भी निरीक्षण किया।

ईस्टर्न लद्दाख की पूरी जिम्मेदारी फायर एंड फ्यूरी कॉर्प्स पर
सेना प्रमुख ने फायर एंड फ्यूरी कॉर्प्स के जिन जवानों से मुलाकात की उन्हीं के कंधों पर ईस्टर्न लद्दाख में LAC को सुरक्षित रखने की जिम्मेदारी है। आर्मी के मुताबिक, नरवणे आर्मी की फॉरवर्ड पोस्ट रेचिन ला भी पहुंचे। ये 14 हजार फीट की ऊंचाई पर है। यहां इन दिनों माइनस 40 डिग्री सेल्सियस तापमान होता है। ऐसी स्थिति में भी यहां जवान मुस्तैदी से तैनात हैं।

  • आर्मी चीफ नरवणे ने फॉरवर्ड बेस तारा का भी विजिट किया। इस दौरान उन्होंने लोकल कमांडर और जवानों से बातचीत की।
  • आर्मी चीफ ने LAC पर तैनात किए गए आर्मी के टैंक का भी जायजा लिया।
  • न्यू ईयर और क्रिसमस को देखते हुए आर्मी चीफ ने यहां तैनात जवानों को मिठाई बांटी।

LAC पर चीन और भारत के 50-50 हजार जवान तैनात हैं
मई में चीन और भारत के जवानों के बीच हुई झड़प के बाद से LAC पर तनाव बरकरार है। अब तक 8 राउंड की बातचीत हो चुकी है। अब 9वीं राउंड की बातचीत होनी है। भारत की ओर से 9वीं राउंड की बातचीत के लिए चीन को मेमो भेजा जा चुका है। चीन की तरफ से अभी जवाब आना बाकी है।

अब तक दोनों ओर से डिस-इंगेजमेंट और इवैंचुअल डी-एस्कलेशन पर किसी तरह की सहमति नहीं बन पाई है। यही कारण है कि ऐसा पहली बार है जब इतनी ठंड के बावजूद दोनों ओर से LAC पर इतनी बड़ी संख्या में जवान तैनात हैं।

ये भी पढ़ें