• Hindi News
  • National
  • India Pakistan | Article 370 Revoked: Pakistan Imran Khan Was Ready Talk With Narendra Modi, Before Modi Govt Article 37

रिपोर्ट / मोदी से बात करना चाहते थे इमरान, यूएन की बैठक के दौरान मुलाकात की तैयारी थी



एक मीडिया रिपोर्ट में दावा किया गया है कि मोदी-इमरान मुलाकात के लिए बैक चैनल डिप्लोमैसी के जरिए तैयारियां की जा रहीं थीं। (फाइल) एक मीडिया रिपोर्ट में दावा किया गया है कि मोदी-इमरान मुलाकात के लिए बैक चैनल डिप्लोमैसी के जरिए तैयारियां की जा रहीं थीं। (फाइल)
X
एक मीडिया रिपोर्ट में दावा किया गया है कि मोदी-इमरान मुलाकात के लिए बैक चैनल डिप्लोमैसी के जरिए तैयारियां की जा रहीं थीं। (फाइल)एक मीडिया रिपोर्ट में दावा किया गया है कि मोदी-इमरान मुलाकात के लिए बैक चैनल डिप्लोमैसी के जरिए तैयारियां की जा रहीं थीं। (फाइल)

  • मोदी ने जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाकर पाकिस्तान को चौंका दिया- रिपोर्ट
  • रिपोर्ट में दावा- बातचीत को लेकर भारतीय उच्चायुक्त अजय बिसारिया और पाक विदेश सचिव सोहेल महमूद संपर्क में थे

Dainik Bhaskar

Aug 19, 2019, 02:16 PM IST

नई दिल्ली/इस्लामाबाद. पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान नरेंद्र मोदी के दोबारा प्रधानमंत्री बनने के बाद लगातार बातचीत की कोशिश कर रहे थे। पाकिस्तान के अखबार "द ट्रिब्यून' ने एक रिपोर्ट में दावा किया कि बातचीत के लिए बैक चैनल डिप्लोमैसी के जरिए माहौल तैैयार किया जा रहा था, लेकिन मोदी ने जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाकर पाकिस्तान को चौंका दिया और पूरा माहौल पलट गया। 

 

न्यूयॉर्क में थी बातचीत की तैयारी
रिपोर्ट के मुताबिक, मीडिया को इन कोशिशों की भनक नहीं लगने दी गई थी। पाकिस्तान नहीं चाहता था कि मुलाकात और तारीखों को लेकर कयास लगने शुरू हो जाएं। न्यूयॉर्क में 17 सितंबर से होने वाली संयुक्त राष्ट्र की सालाना बैठक के इतर दोनों राष्ट्रों के नेताओं की मुलाकात करवाने की कोशिश की जा रही थी। पाकिस्तान में भारत के उच्चायुक्त अजय बिसारिया और पाकिस्तान के विदेश सचिव सोहेल महमूद संपर्क में थे। 

 

बिम्स्टेक में ही रखी गई मुलाकात की बुनियाद
रिपोर्ट में कहा गया- जून में शंघाई में बिम्स्टेक सम्मेलन के दौरान दोनों का हाथ मिलाना और कुशलक्षेम पूछना, संयोग से कुछ ज्यादा था। इसके जरिए भविष्य की मुलाकात के लिए रूपरेखा तैयार की जा रही थी।

 

बातचीत के लिए शर्तेें मानने को भी तैयार था पाकिस्तान
रिपोर्ट में राजनयिक सूत्रों के हवाले से दावा किया गया है कि इमरान मोदी से बातचीत के लिए आतुर नजर आ रहे थे और इसीलिए पाकिस्तान कुछ शर्तें भी मानने तैयार था। उसकी कोशिश ये थी कि किसी भी तरह बातचीत शुरू हो। लेकिन, भारत सरकार बेहद सतर्कता से आगे बढ़ रही थी। मोदी ने देशहित में सख्त कदम उठाया और जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटाकर उसे केंद्र शासित प्रदेश घोषित कर दिया। पाकिस्तान ने इतने सख्त कदम की कल्पना भी नहीं की थी।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना